Friday, July 30, 2021
Homeदेश-समाज'मुझे गोली तो नहीं मारोगे बाबू जी' - गुंडा नईम UP पुलिस के पैरों...

‘मुझे गोली तो नहीं मारोगे बाबू जी’ – गुंडा नईम UP पुलिस के पैरों में गिर कर रोया, गले में एक तख्ती लटका किया आत्मसमर्पण

"मैंने गलत काम किया है। मुझे सम्भल पुलिस से डर लगता है। मैं अपनी गलती स्वीकार करता हूँ। मैं अपराधी हूँ और आत्मसमर्पण कर रहा हूँ। मुझे गोली मत मारो।"

उत्तर प्रदेश पुलिस के एनकाउंटर अभियान के कारण कई अपराधियों के भीतर डर भर गया है। यही कारण है कि वह पकड़े जाने के भय से खुद ही सरेंडर कर रहे हैं। रविवार (सितंबर 27, 2020) को प्रदेश के संभल जिले में कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला। वहाँ एक इनामी बदमाश ने गिड़गिड़ाते हुए पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। इस दौरान उसके गले में एक तख्ती भी थी।

इस तख्ती पर लिखा था, “मैंने गलत काम किया है। मुझे सम्भल पुलिस से डर लगता है। मैं अपनी गलती स्वीकार करता हूँ। मैं अपराधी हूँ और आत्मसमर्पण कर रहा हूँ। मुझे गोली मत मारो।”

मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी बताया जा रहा है कि नईम नाम का यह अपराधी तख्ती लटकाए-लटकाए जब थाने पहुँचा तो एसएचओ के पैरों में गिरकर माफी माँगने लगा और कहने लगा, “मुझे गिरफ्तार कर लो, घर में मेरे छोटे-छोटे बच्चे हैं।”

इस घटना की एक वीडियो भी सामने आई है। वीडियो में नईम को पुलिस अधिकारी के पाँव में गिर कर माफी माँगते देखा जा सकता है। वह बार बार हाथ जोड़ कर रोते हुए पूछता है, “मुझे गोली तो नहीं मारोगे बाबू जी।”

मौजूदा जानकारी के अनुसार, यह पूरा वाकया संभल थाना क्षेत्र नखासा का है। नईम पर गोकशी से लेकर गैंगस्टर एक्ट में कई मामले दर्ज हैं। काफी समय से फरार होने के कारण पुलिस को इसकी तलाश थी। पुलिस ने इस पर 15 हजार का इनाम भी रखा हुआ था।

इसे पकड़ने के लिए इसके घर और रिश्तेदारों के यहाँ लगातार दबिश दी जा रही थी। हालाँकि, उस बीच यह बदमाश बार-बार बच कर निकल रहा था। मगर, कल अचानक यह तख्ती लटकाए-लटकाए नखासा में सरेंडर करने पहुँच गया।

बाद में थाना प्रभारी के कहने पर पुलिसकर्मियों ने उसे सहारा देकर उठाया और अंदर ले गए। पुलिसकर्मियों ने यह सब देखकर कहा कि बदमाशों पर बढ़ी सख्ती का ही नतीजा है कि अपराधी अब खुद सरेंडर करने आ रहे हैं।

बता दें कि संभल पुलिस ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकॉउंट से इस आत्मसमर्पण की पुष्टि करते हुए वीडियो जारी की है। इस वीडियो में अधिकारी बता रहे हैं कि संभल में काफी समय से गैंगस्टर एक्ट के अपराधियों के खिलाफ़ कार्रवाई चल रही थी। इसी के डर से नईम ने आत्मसमर्पण किया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

Tokyo Olympics: 3 में से 2 राउंड जीतकर भी हार गईं मैरीकॉम, क्या उनके साथ हुई बेईमानी? भड़के फैंस

मैरीकॉम का कहना है कि उन्हें पता ही नहीं था कि वह हार गई हैं। मैच होने के दो घंटे बाद जब उन्होंने सोशल मीडिया देखा तो पता चला कि वह हार गईं।

मीडिया पर फूटा शिल्पा शेट्टी का गुस्सा, फेसबुक-गूगल समेत 29 पर मानहानि केस: शर्लिन चोपड़ा को अग्रिम जमानत नहीं, माँ ने भी की शिकायत

शिल्पा शेट्टी ने छवि धूमिल करने का आरोप लगाते हुए 29 पत्रकारों और मीडिया संस्थानों के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट में मानहानि का केस किया है। सुनवाई शुक्रवार को।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,934FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe