Saturday, June 15, 2024
Homeदेश-समाजचाय के ₹4 माँगने पर बरेली में ढाबा मालिक की चाकुओं से गोदकर हत्या:...

चाय के ₹4 माँगने पर बरेली में ढाबा मालिक की चाकुओं से गोदकर हत्या: मुनव्वर, मोजिम और मुशर्रफ गिरफ्तार

हत्या करने के बाद आरोपितों ने सेवाराम का शव एक खेत में फेंक दिया था। पुलिस ने घटना में इस्तेमाल की गई चाकू और वाहन बरामद कर लिया है।

उत्तर प्रदेश के बरेली में ढाबा मालिक सेवाराम गंगवार की हत्या मामले में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान मुनव्वर खान (42 वर्ष), मोजिम खान (30 वर्ष) और मुशर्रफ खान (31वर्ष) के रूप में हुई है। पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल किए गए चाकू और वाहन को भी बरामद कर लिया है। पूछताछ में पता चला कि चाय के लिए 4 रुपए अधिक माँगने को लेकर हत्या की गई।

जानकारी के मुताबिक सेवाराम गंगवार फतेहपुर पश्चिम का रहने वाला था। वह दिल्ली-लखनऊ नेशनल हाईवे के पास ढाबा चलाता था। 11 मार्च को मुनव्वर, मोजिम और मुशर्रफ चाय पीने के लिए ढाबे पर आए थे। चाय पीने के बाद उन्होंने 16 रुपए दिए, लेकिन गंगवार ने उनसे नई रेट लिस्ट के हिसाब से 4 रुपए और, यानी 20 रुपए देने के लिए कहा। इसी बात को लेकर उनके बीच बहस हो गई जिसके बाद सेवाराम ने उन्हें वहाँ से जाने के लिए कहा।

उस वक्त तीनों वहाँ से चले गए, लेकिन अगले दिन फिर से ढाबे पर आए। इस दौरान उन्होंने इस तरह का दिखावा किया कि उन्हें अपने किए पर काफी पछतावा है और वे माफी माँगने आए हैं। सेवाराम भी बातों में आ गए। इसके बाद तीनों शराब पीने के लिए सेवाराम को साथ ले गए। इसी दौरान मौका पाकर मुनव्वर, मोजिम और मुशर्रफ ने चाकू से गोदकर सेवाराम की हत्या कर दी और शव को फतेहगंज पश्चिमी थाना क्षेत्र के पास एक खेत में फेंक दिया।

एसएसपी बरेली रोहित सिंह सजवान ने बताया, “हत्या में इस्तेमाल किया गया हथियार और शव को फेंकने के लिए इस्तेमाल किए गए वाहन को बरामद कर लिया है। आरोपितों ने कबूल किया है कि अपराध शराब के नशे में किया गया था।” वहीं मुनव्वर ने पुलिस को बताया, “जब हमने बढ़ी हुई कीमत का भुगतान करने से इनकार कर दिया, तो उसने दुर्व्यवहार किया और हमें धमकी दी। हमें अपमान महसूस हुआ। अगले दिन हमने बदला लेने और उसे मारने का फैसला किया।” पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कर्नाटक में बढ़ाए गए पेट्रोल-डीजल के दाम: लोकसभा चुनाव खत्म होते ही कॉन्ग्रेस ने शुरू की ‘वसूली’, जनता पर टैक्स का भार बढ़ा कर...

अभी तक बेंगलुरु में पेट्रोल 99.84 रुपये प्रति लीटर और डीजल 85.93 रुपये प्रति लीटर बिक रहा था, लेकिन नए आदेश के बाद बढ़ी हुई कीमतें तत्काल प्रभाव से लागू हो गई हैं।

दिल्ली-NCR में इस साल आग का कहर, नोएडा-गाजियाबाद में भी तबाही: अकेले राजधानी में हर दिन 200 कॉल, कैसे बदलेंगे हालात?

दिल्ली-एनसीआर में आगजनी की घटनाओं में तेजी आई है। कई मामलों में भारी नुकसान उठाना पड़ा है। बड़ी संख्या में लोगों की जान भी जा चुकी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -