Wednesday, July 28, 2021
Homeदेश-समाजबेटी फरहीन से हुई अनबन तो दामाद इंतजार को घर बुलाकर जिंदा जलाया

बेटी फरहीन से हुई अनबन तो दामाद इंतजार को घर बुलाकर जिंदा जलाया

घटना के बाद से ससुराल वाले घर से फरार हैं। मृतक के परिजनों का आरोप है कि इंतजार की पत्नी को वापस ले जाने के मामले में कुछ कहासुनी हुई। इसके बाद ससुरालियों ने इंतजार पर मिट्टी का तेल छिड़क आग लगा दी।

उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर में बेटी के सामने ही परिवारवालों ने दामाद को जलाकर मार डाला। घटना मेरठ के थाना लिसाड़ी गेट की है। फरहीन नाम की युवती के शौहर इंतजार को ससुरालवालों ने कथित तौर पर मिट्टी का तेल छिड़क आग लगा दी। इंतजार की चीख-पुकार सुनकर इलाके के लोग मौके पर पहुँचे और आग बुझा उसे अस्पताल में भर्ती कराया, जहाँ इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस वारदात को अंजाम देने के बाद से इंतजार के ससुराल वाले घर से फरार हैं। उन्होंने बताया कि इंतजार इंडियन गैस एजेंसी में गाड़ी चलाने का काम करता था। नगर पुलिस अधीक्षक एएन सिंह ने शुक्रवार (अक्टूबर 4, 2019) को इस घटना के बारे में जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि मेरठ के थाना इचौली क्षेत्र निवासी युवक इंतजार का निकाह तकरीबन 3 साल पहले लिसाड़ी गेट निवासी फरहीन नाम की युवती से हुआ था। इनके बीच आपस में कुछ ठीक नही चल रहा था। 3 अक्टूबर को फरहीन के परिजन इंतजार के घर पहुँचे और उसे अपने साथ ले आए। फरहीन के पीछे-पीछे इंतजार भी ससुराल पहुँच गया और फिर 4 अक्टूबर को संदिग्ध परिस्थितियों में जलने के कारण उसकी मौत हो गई।

इंतजार के परिजनों ने फरहीन के परिजनों पर आरोप लगाया है कि बीबी को घर वापस ले जाने को लेकर इंतजार की कहासुनी हो गई। इसके बाद फरहीन के सामने ही ससुरालवालों ने इंतजार पर मिट्टी का तेल छिड़क उसे आग लगा दी। आग लगने से चिल्लाता हुआ इंतजार गली में आ गिरा, मोहल्ले के लोगों ने उसकी आग बुझाई और पुलिस को भी मामले की सूचना दी। मामले में परिजनों ने थाना लिसाड़ी गेट में पत्नी और साले के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। नगर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पुलिस मामले की जाँच कर रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बद्रीनाथ नहीं, वो बदरुद्दीन शाह हैं…मुस्लिमों का तीर्थ स्थल’: देवबंदी मौलाना पर उत्तराखंड में FIR, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

मौलाना के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 153ए, 505, और आईटी एक्ट की धारा 66F के तहत केस किया गया है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि उसके बयान से हिंदू भावनाएँ आहत हुईं।

बसवराज बोम्मई होंगे कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री: पिता भी थे CM, राजीव गाँधी के जमाने में गवर्नर ने छीन ली थी कुर्सी

बसवराज बोम्मई के पिता एस आर बोम्मई भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, जबकि बसवराज ने भाजपा 2008 में ज्वाइन की थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,573FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe