Friday, April 23, 2021
Home देश-समाज 40+ मस्जिदों को प्लास्टिक से ढक दिया UP पुलिस-प्रशासन ने, 'जूता मार होली' के...

40+ मस्जिदों को प्लास्टिक से ढक दिया UP पुलिस-प्रशासन ने, ‘जूता मार होली’ के लिए स्पेशल व्यवस्था

UP पुलिस और प्रशासन पूरी मुस्तैदी से जुट गया है। जूता मार होली में 'लाट साहब' इस बार दिल्ली से आएँगे। उन्हें पूरे शहर में घुमाया जाएगा। जूता फेंक कर मारने में मस्जिद आदि पर गलती से न चला जाए जूता, इसको देखते हुए...

जिस तरह उत्तर प्रदेश के मथुरा के बरसाना और नंदगाँव की ‘लट्ठमार होली’ (लाठी के साथ होली का जश्न) दुनिया भर में प्रसिद्ध है, उसी तरह शाहजहाँपुर जिले में हर वर्ष होली के दिन खेली जाने वाली ‘जूता मार होली’ की भी एक अलग पहचान है। शाहजहाँपुर की इस होली के लिए इस बार जश्न की खास तैयारी की जा रही है।

रिपोर्ट के मुताबिक यहाँ प्रशासन ने इलाके में करीब 43 मस्जिदों को प्लास्टिक की शीट से ढक दिया है, ताकि होली के दिन यहाँ कोई अप्रिय घटना ना हो पाए। पुलिस प्रशासन पूरी मुस्तैदी से जुट गया है। आयोजकों के मुताबिक, इस बार ‘लाट साहब’ दिल्ली से आएँगे, जबकि पिछली बार ‘लाट साहब’ रामपुर से लाए गए थे। होली के दिन भैंसा गाड़ी पर निकलने वाले जुलूस में ‘लाट साहब’ मुख्‍य आकर्षण होते हैं।

दरअसल यहाँ शहर में लाट साहब के 2 जुलूस निकलते हैं। जहाँ बड़े लाट साहब और छोटे लाट साहब का जुलूस निकाला जाता है। जिसमें एक शख्स को लाट साहब बनाकर भैंसा गाड़ी पर बैठाया जाता है और फिर उसे जूते और झाड़ू मार कर पूरे शहर में घुमाया जाता है। इस दौरान आम लोग लाट साहब को जूते भी फेंक कर मारते हैं।

क्या होता है जूता मार होली में?

आपको बता दें कि अंग्रेजों के प्रति अपना आक्रोश प्रकट करने के लिए यहाँ एक व्यक्ति को अंग्रेज का प्रतीक लाट साहब बनाकर उसे भैंसा गाड़ी पर बिठाया जाता है और फिर जूतों और झाड़ू से पीटा जाता है। सांप्रदायिक सौहार्द ना खराब हो इसके लिए पुलिस और प्रशासन हर थाना स्तर पर पीस मीटिंग का आयोजन करता है और आपसी सहमति के बाद मस्जिदों को पूरी तरीके से ढक दिया जाता है। 

फिलहाल यहाँ जूते मार होली खेलने की परंपरा दशकों पुरानी है। पुलिस अधीक्षक आनंद का कहना है कि शहर में सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए भारी संख्या में पैरा मिलिट्री फोर्से, पीएसी और कई जिलों की पुलिस फोर्स बुलाई गई है, जो मस्जिदों और पूरे शहर की सुरक्षा करेगी। साथ ही ड्रोन के जरिए भी जुलूस पर नजर रखी जाएगी।

दशकों पुरानी है परंपरा

शाहजहांपुर शहर की स्थापना करने वाले नवाब बहादुर खान के वंश के आखिरी शासक नवाब अब्दुल्ला खान पारिवारिक लड़ाई के चलते फर्रुखाबाद चले गए और 1729 में 21 वर्ष की आयु में वापस शाहजहाँपुर आए। वह हिंदू-मुसलमानों के बड़े प्रिय थे और इसी बीच होली का त्यौहार आ गया और तब दोनों समुदाय के लोग उनसे मिलने के लिए घर के बाहर खड़े हो गए। जब नवाब साहब बाहर आए तो लोगों ने होली खेली। बाद में उन्हें ऊँट पर बैठाकर शहर का एक चक्कर लगाया गया, इसके बाद से यह परंपरा बन गई।

1857 तक हिंदू और मुस्लिम दोनों मिलकर यहाँ होली का पर्व बड़े ही धूमधाम से मनाते थे तथा नवाब साहब को हाथी या फिर घोड़े पर बैठा कर शहर में घुमाया जाता था परंतु हिंदू और मुस्लिमों का यह सौहार्द प्यार अंग्रेजों को रास नहीं आया। इसके बाद 1858 में बरेली के सैन्य शासक खान बहादुर खान के सैन्य कमांडर मरदान अली खान ने एक टुकड़ी के साथ शाहजहाँपुर में हिंदुओं पर हमला कर दिया, जिसमें तमाम हिंदू और मुसलमान मारे गए थे। तब शहर में सांप्रदायिक तनाव हो गया।

1947 के बाद नवाब साहब के जुलूस का नाम बदल कर प्रशासन ने ‘लाट साहब’ कर दिया और तब से यह लाट साहब के नाम से जाना जाने लगा। इसी दौरान अंग्रेज यहाँ से चले गए और फिर अंग्रेजों के प्रति लोगों में जो आक्रोश था, उससे ही इस नवाब के जुलूस का रूप विकृत हो गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

थरूर और पवार ने पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन की ‘मौत की खबर’ फैलाई, बाद में डिलीट किए ट्वीट्स

थरूर ने लिखा, "पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन के गुजर जाने से मैं बेहद दुःखी हूँ।" महाजन के परिजनों ने फेक न्यूज़ पर आपत्ति जताई।

13 कोरोना मरीजों की ICU में जल कर मौत: महाराष्ट्र के विजय वल्लभ अस्पताल में लगी भीषण आग

कोरोना संकट के बीच महाराष्ट्र के अस्पतालों में आग लगने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा। मुंबई के विरार में विजय वल्लभ अस्पताल में...

Remdesivir के नाम पर अकाउंट में पैसे मँगवा गायब हो रहे धोखेबाज, सिप्ला ने चेतायाः जानें ठगी से कैसे बचें

सिप्ला ने 'रेमडेसिविर' के नाम पर लोगों के साथ की जा रही धोखाधड़ी को लेकर सावधान किया है।

बंगाल में रैली नहीं, कोरोना पर हाई लेवल मीटिंग करेंगे PM मोदी; पर क्या आप जानते हैं रिव्यू मीटिंग में कितनी बार शामिल हुईं...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 23 अप्रैल की बंगाल की रैली कैंसिल कर दी है, जबकि इसी दिन ममता बनर्जी चार रैलियों को संबोधित करेंगी।

बॉर्डर पर इफ्तार पार्टी और किसान संक्रमित हुए तो केंद्र जिम्मेदार: वैक्सीन ले दोहरा ‘खेला’ कर रहे राकेश टिकैत

कोरोना की भयानक आपदा के बीच BKU के प्रवक्ता और स्वयंभू किसान नेता राकेश टिकैत का इफ्तार पार्टी करते वीडियो सामने आया है।

आप मरिए-जिन्दा रहे प्रोपेगेंडा: NDTV की गार्गी अंसारी ऑक्सीजन उत्पादन के लिए प्लांट खोलने की बात से क्यों बिलबिलाई

वामपंथियों को देखकर लगता है कि उनके लिए प्रोपेगेंडा मानव जीवन से ज्यादा ऊपर है। तभी NGT की क्लीयरेंस पाने वाले प्लांट के खुलने का विरोध कर रहे।

प्रचलित ख़बरें

सीताराम येचुरी के बेटे का कोरोना से निधन, प्रियंका ने सीताराम केसरी के लिए जता दिया दुःख… 3 बार में दी श्रद्धांजलि

प्रियंका गाँधी ने इस घटना पर श्रद्धांजलि जताने हेतु ट्वीट किया। ट्वीट को डिलीट किया। दूसरे ट्वीट को भी डिलीट किया। 3 बार में श्रद्धांजलि दी।

‘प्लाज्मा के लिए नंबर डाला, बदले में भेजी गुप्तांग की तस्वीरें; हर मिनट 3-4 फोन कॉल्स’: मुंबई की महिला ने बयाँ किया दर्द

कुछ ने कॉल कर पूछा क्या तुम सिंगल हो, तो किसी ने फोन पर किस करते हुए आवाजें निकाली। जानिए किस प्रताड़ना से गुजरी शास्वती सिवा।

पाकिस्तान के जिस होटल में थे चीनी राजदूत उसे उड़ाया, बीजिंग के ‘बेल्ट एंड रोड’ प्रोजेक्ट से ऑस्ट्रेलिया ने किया किनारा

पाकिस्तान के क्वेटा में उस होटल को उड़ा दिया, जिसमें चीन के राजदूत ठहरे थे। ऑस्ट्रेलिया ने बीआरआई से संबंधित समझौतों को रद्द कर दिया है।

रेप में नाकाम रहने पर शकील ने बेटी को कर दिया गंजा, जैसे ही बीवी पढ़ने लगती नमाज शुरू कर देता था गंदी हरकतें

मेरठ पुलिस ने शकील को गिरफ्तार किया है। उस पर अपनी ही बेटी ने रेप करने की कोशिश का आरोप लगाया है।

मधुबनी: धरोहर नाथ मंदिर में सोए दो साधुओं का गला कुदाल से काटा, ‘लव जिहाद’ का विरोध करने वाले महंत के आश्रम पर हमला

बिहार के मधुबनी जिला स्थित खिरहर गाँव में 2 साधुओं की गला काट हत्या कर दी गई है। इससे पहले पास के ही बिसौली कुटी के महंत के आश्रम पर रात के वक्त हमला हुआ था।

जयपुर में जामा मस्जिद पर जमा थी भीड़, समझाने गई पुलिस पर किया गया पथराव: पुलिस की गाड़ी के टूटे शीशे

कर्फ्यू के बाद भी जयपुर की जामा मस्जिद में लोगों की आवाजाही रुक नहीं रही थी। इस पर सांगानेर पुलिस मस्जिद प्रशासन से बात करने पहुँची। इसी दौरान मस्जिद में उपस्थित भीड़ ने पुलिसकर्मियों पर पथराव कर दिया।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

293,837FansLike
83,338FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe