Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजअरशद, दानिश, परवेज ने किया सरेंडर... UP पुलिस (एनकाउंटर) का खौफ, गिड़गिड़ा कर कहा-...

अरशद, दानिश, परवेज ने किया सरेंडर… UP पुलिस (एनकाउंटर) का खौफ, गिड़गिड़ा कर कहा- ‘साहब गिरफ्तार कर लो’

अरशद, दानिश उर्फ काला और परवेज... तीनों गिड़गिड़ाते हुए थाने पहुँचे और आत्मसमर्पण कर दिया। इन्होंने दोबारा से भविष्य में क्राइम नहीं करने का वादा भी किया है।

उत्तर प्रदेश की पुलिस का खौफ अपराधियों पर ऐसा छाया हुआ है कि वो खुद थाने में आकर आत्मसमर्पण कर रहे हैं। उन्हें डर है कि कहीं किसी एनकाउंटर में उनका नंबर न लग जाए। ताजा मामला शामली के कैराना का है, जहाँ गैंगस्टर एक्ट में वान्छित तीन आरोपितों ने कैरान पुलिस स्टेशन में आकर सरेंडर किया। उन्होंने पुलिस से गिरफ्तार करने की गुहार लगाते हुए कहा कि वो आगे किसी भी तरह का अपराध नहीं करेंगे।

रिपोर्ट के मुताबिक, शामली के रामडा गाँव के रहने वाले अरशद, दानिश उर्फ काला और परवेज के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। खबर के अनुसार इसी साल फरवरी, 2021 में कैराना में विधायक नाहिद हुसैन और उनकी माँ पूर्व सांसद तबस्सुम हसन समेत 40 लोगों के खिलाफ शामली पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट के तहत केस दर्ज किया था।

कैराना कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक प्रेमवीर सिंह राणा के मुताबिक, तीनों पर बलवा, हत्या की कोशिश समेत कई केस दर्ज हैं। गुरुवार (1 जुलाई 2021) को तीनों आरोपित गिड़गिड़ाते हुए थाने पहुँचे और आत्मसमर्पण कर दिया। इन्होंने दोबारा से भविष्य में क्राइम नहीं करने का वादा भी किया है।

फिलहाल, पुलिस ने आरोपितों को गिरफ्तार कर चालान कर दिया है। पूछताछ में तीनों ने बताया है कि वो कई अपराधों में शामिल रहे हैं। अपराधियों ने कहा है कि वो आगे का जीवन शांति से जीना चाहते हैं।

इस मामले में कैराना के सीओ जितेंद्र कुमार के मुताबिक, जिले में वॉन्टेड अपराधियों के खिलाफ लगातार पुलिस अभियान चलाया जा रहा है और उनकी गिरफ्तारी के लिए छापे मारे जा रहे हैं। इसी दबाव के कारण तीनों आरोपितों ने खुद से आकर आत्मसमर्पण कर दिया है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जिले की शांति व्यवस्था को बरकरार रखने के लिए करीब एक सप्ताह पहले ही शामली पुलिस ने टॉप-10 अपराधियों में शामिल नीरज समेत दो गैंगस्टर इश्तिकार और इंतजार को गिरफ्तार किया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

राणा अयूब बनीं ट्रोलिंग टूल, कश्मीर पर प्रोपेगेंडा चलाने के लिए आ रहीं पाकिस्तान के काम: जानें क्या है मामला

पाकिस्तान के सूचना मंत्रालय से जुड़े लोग ऑन टीवी राणा अयूब की तारीफ करते हैं। वह उन्हें मोदी सरकार का पर्दाफाश करने वाली ;मुस्लिम पत्रकार' के तौर पर जानते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,975FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe