Monday, December 6, 2021
Homeदेश-समाजVideo: उत्तराखंड में नदियाँ उफान पर, अलकनंदा में डूबे गढ़वाल के निचले इलाके; अलर्ट...

Video: उत्तराखंड में नदियाँ उफान पर, अलकनंदा में डूबे गढ़वाल के निचले इलाके; अलर्ट जारी

वीडियो में आप देख सकते है कि श्रीनगर में निचले इलाकों में जगह-जगह पानी भरा हुआ है। बताया जा रहा है कि ऋषिकेश में भी गंगा नदी का जलस्तर खतरे के निशान तक पहुँच जाने से हड़कंप मच गया है।

उत्तराखंड के कई हिस्‍सों में बीते कुछ दिनों से जबरदस्‍त बारिश हो रही है। भारी वर्षा के कारण नदियों का जलस्‍तर बढ़ गया है, जगह-जगह भूस्‍खलन का खतरा भी पैदा हो गया है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, शनिवार (19 जून 2021) को अलकनंदा नदी का प्रवाह बढ़ जाने से निचले इलाके चपेट में आ गए हैं और बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। भारी बारिश की वजह से उत्‍तराखंड के पौड़ी-गढ़वाल में कई इलाके पानी में डूब गए हैं।

वीडियो में आप देख सकते है कि श्रीनगर में निचले इलाकों में जगह-जगह पानी भरा हुआ है। बताया जा रहा है कि ऋषिकेश में भी गंगा नदी का जलस्तर खतरे के निशान तक पहुँच जाने से हड़कंप मच गया है। स्थानीय प्रशासन और आपदा प्रबंधन विभाग ने यहाँ अलर्ट जारी कर दिया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इससे पहले अलकनंदा के जलस्तर को लेकर स्टेट कंट्रोल रूम द्वारा अलर्ट जारी किया गया था। ऋषिकेश के साथ ही पिथौरागढ़, अल्मोड़ा, पौड़ी गढ़वाल और चमोली में नदियों के रौद्र रूप धारण करने की खबरें आ रही हैं। वहीं, उत्‍तराखंड में भारी वर्षा के बीच टिहरी गढ़वाल में ब्यासी के पास जबरदस्‍त भूस्‍खलन हुआ है, जिसके कारण राष्‍ट्रीय राजमार्ग संख्‍या 58 बंद हो गया है। यह राजमार्ग ऋषिकेश-श्रीनगर हाईवे के तौर पर मशहूर है। वीडियो में भूस्‍खलन के बाद भारी मात्रा में मलबे को नीचे सड़क पर गिरते देखा जा सकता है।

इसके अलावा बागेश्‍वर जिले के कपकोट क्षेत्र में एक जेसीबी भूस्‍खलन की चपेट में आ गया। बताया जा रहा है कि पिंडरघाटी के बधियाकोट-किलपारा मोटर मार्ग में सड़क निर्माण कार्य चल रहा था, लेकिन तभी वहाँ जमीन धँसने और भूस्‍खलन के कारण जेसीबी गहरी खाई में गिर गई। इस हादसे में जेसीबी चालक की जान चली गई।

बता दें कि राज्य के पहाड़ी जिलों में कई जगह भू-कटाव और भूस्खलन की खबरें आ रही हैं। ऐसे में लगातार यात्रियों और लोगों से बेहद सतर्क रहने की अपील की जा रही है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पिता को 15 टुकड़ों में काटा, बैग में भरकर झेलम किनारे फेंका’: USA में पल्लवी जोशी ने दुनिया को बताया कश्मीरी पंडितों का दर्द

अभिनेत्री पल्लवी जोशी ने बताया कि 'द कश्मीर फाइल्स' के निर्माण के दौरान उन्होंने कई कश्मीरी पंडितों के इंटरव्यूज लिए, जो अपने-आप में एक दर्द भरा अनुभव था।

UAE में खुले में नमाज पर ₹20000 जुर्माना: ‘द गार्डियन’ के लिए मुस्लिम पीड़ित और हिन्दू गुंडे, सड़कों को बता रहा ‘नमाज साइट्स’

90% सुन्नी मुस्लिम जनसंख्या वाले UAE में सड़क किनारे नमाज पढ़ने पर Dh 1000 (20,484 रुपए) के जुर्माने का प्रावधान है। गुरुग्राम पर हंगामा क्यों?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,816FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe