Tuesday, January 18, 2022
Homeदेश-समाजवाराणसी के लल्लापुरा में 6 साल की मासूम बच्ची से रेप, 27 साल के...

वाराणसी के लल्लापुरा में 6 साल की मासूम बच्ची से रेप, 27 साल के आरोपित निसार को खोज रही यूपी पुलिस

घटना सिगरा के लल्लापुरा की है। मुहल्ले के ही एक सरकारी स्कूल में शादी थी। इसी शादी में 6 साल की बच्ची भी अपनी दादी के साथ गई थी। निसार ने बच्ची को घुमाने की बात कर के अपने साथ ले लिया। बाद में उसने एकांत में जा कर बच्ची के साथ दुष्कर्म किया।

उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले में 6 साल की एक नाबालिग बच्ची के साथ रेप का मामला प्रकाश में आया है। आरोपित का नाम निसार है जिसकी उम्र लगभग 27 साल है। पुलिस ने निसार पर पॉक्सो एक्ट व अन्य धाराओं में FIR दर्ज कर लिया है। घटना के बाद से आरोपित फरार है जिसकी तलाश की जा रही है। यह घटना रविवार (28 नवम्बर 2021) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना सिगरा के लल्लापुरा की है। मुहल्ले के ही एक सरकारी स्कूल में शादी थी। इसी शादी में 6 साल की बच्ची भी अपनी दादी के साथ गई थी। निसार ने बच्ची को घुमाने की बात कर के अपने साथ ले लिया। बाद में उसने एकांत में जा कर बच्ची के साथ दुष्कर्म किया। यह घटना दोपहर की है। बच्ची की तबियत काफी खराब हो गई थी तो उसने निसार द्वारा किए गए अमानवीय कृत्य की जानकारी परिवार वालों को दी। शाम को ही पीड़िता के परिजनों ने पुलिस में शिकायत की।

ADCP प्रबल प्रताप के साथ मौके पर पहुँचे पुलिस बल ने बच्ची के बयान दर्ज किए। आस-पास की CCTV फुटेज को खँगाला गया। शादी में मौजूद लोगों से पूछताछ के साथ अन्य फॉरेंसिक जाँच आदि करवाई जा रही है। एक स्थानीय पोर्टल की रिपोर्ट के अनुसार आरोपित निसार अपने घर पर ही बुनकर का काम करता है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘टेलीप्रॉम्पटर में खराबी आते ही PM मोदी बोलना भूल गए’ – कॉन्ग्रेस फैला रही थी झूठ, वीडियो सामने आते ही कौवे ने काटा

वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के दावोस एजेंडा समिट में पीएम मोदी द्वारा दिए गए संबोधन की एक क्लिप को शेयर करते हुए कॉन्ग्रेस ने झूठ बोलते हुए...

हिमालय पर मिलने वाला फूल बन सकता है कोराना की ‘बूटी’, IIT में रिसर्च: हरे बंदर की किडनी पर हुआ शोध

बुरांश से निकलने वाले अर्क को रिसर्च में कोविड रोकने में कारगर पाया गया है। इसका इस्तेमाल स्थानीय लोग अच्छे स्वास्थ्य के लिए लंबे समय से करते रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
151,943FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe