Monday, June 24, 2024
Homeदेश-समाजवाराणसी के पावरलूम सेंटर में चोरी करने घुसा जावेद, किवाड़ों के बीच ऐसे फँसी...

वाराणसी के पावरलूम सेंटर में चोरी करने घुसा जावेद, किवाड़ों के बीच ऐसे फँसी गर्दन कि मर गया: जिसने भी देखी लाश रह गया भौंचक

बताया जा रहा है कि जावेद ने किवाड़ों को अलग कर पावरलूम सेंटर में घुसने की कोशिश की होगी। इसी क्रम में वह पहले गर्दन किवाड़ के बीच लेकर गया। लेकिन गर्दन ऐसे फँस गया कि वह न तो बाहर आ पाया और न ही अंदर जा पाया।

उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले में एक चोर की मौत दरवाजों के बीच गर्दन फँसने से हो गई। जावेद चोरी करने के इरादे से एक पावरलूम सेंटर में घुसने की कोशिश कर रहा था। लेकिन उसका गर्दन दरवाजे के बीच फँस गया। लाख जतन के बाद भी वह बाहर नहीं निकल पाया और दम घुटने से उसकी मौत हो गई।

रविवार (27 नवंबर 2022) की सुबह जब लोगों ने दरवाजे के बीच सिर फँसा शव देखा तो आश्चर्यचिकत रह गए। शव दरवाजे के बीच ऐसे फँसा था कि जैसे किसी ने टांग दिया हो। दनियालपुर निवासी जावेद शनिवार की रात चोरी के इरादे से वाराणसी के सारनाथ स्थित पावरलूम सेंटर के एक कमरे में घुसने का प्रयास कर रहा था। उसी दौरान वह बंद दरवाजे के बीच बुरी तरह फँस गया।

बताया जा रहा है कि पावरलूम सेंटर का दरवाजा बंद था। जावेद ने दोनों किवाड़ को अलग कर अंदर घुसने की कोशिश की। इस क्रम में वह पहले अपना गर्दन किवाड़ के बीच लेकर गया। लेकिन उसका गर्दन वहाँ ऐसे फँस गया कि वह न तो बाहर आ पाया और न ही अंदर जा पाया, जिसके बाद दम घुटने से उसकी मौत हो गई

यह पावरलूम सेंटर निजाम अजीज रहमान के मकान में किराए पर चलता है। सेंटर दो दिनों से बंद था। रविवार सुबह जब संचालक ने पावरलूम खोलने के लिए पहले बाउंड्री का गेट खोल कर अंदर गया तो देखा एक युवक का गर्दन दरवाजे में फँसा हुआ है। शव को दरवाजे के बीच फँसा देखकर स्थानीय पुलिस को सूचना दी गई। इस दौरान मौके पर पहुँचे पुराना पुल चौकी प्रभारी उपेंद्र यादव ने दरवाजा तोड़ कर शव को निकाला और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

स्‍थानीय लोगों के अनुसार जावेद को नशे की आदत थी। क्षेत्र में अकसर चोरी करता था। वहीं मृतक के बड़े भाई गुलजार का कहना है कि जावेद की शादी एक वर्ष पूर्व हुई थी। उसकी आदतों से तंग आकर पत्नी तरन्नुम भी अपने मायके चली गई थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसानों के आंदोलन से तंग आ गए स्थानीय लोग: शंभू बॉर्डर खुलवाने पहुँची भीड़, अब गीदड़-भभकी दे रहे प्रदर्शनकारी

किसान नेताओं ने अंबाला शहर अनाज मंडी में मीडिया बुलाई, जिसमें साफ शब्दों में कहा कि आंदोलन खराब नहीं होना चाहिए। आंदोलन खराब करने वाला खुद भुगतेगा।

‘PM मोदी ने किया जी अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का उद्घाटन, गिर गई उसकी दीवार’: News24 ने फेक न्यूज़ परोस कर डिलीट की ट्वीट,...

अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन से जुड़े जिस दीवार के दिसंबर 2023 में बने होने का दावा किया जा रहा है, वो दावा पूरी तरह से गलत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -