Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाजसरकारी कॉलेज के क्लासरूम में मुस्लिम छात्रों ने पढ़ी नमाज, शिकायत के बाद भी...

सरकारी कॉलेज के क्लासरूम में मुस्लिम छात्रों ने पढ़ी नमाज, शिकायत के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई: सोलापुर का Video वायरल

महाराष्ट्र के सोलापुर जिले का एक वीडियो रविवार (24 मार्च 2024) को वायरल हुआ, जिसमें कई मुस्लिम छात्रों को एक सरकारी कॉलेज की कक्षा के अंदर नमाज पढ़ते देखा जा सकता है। इसकी शिकायत अन्य छात्रों ने की, लेकिन कॉलेज प्रशासन ने कोई कदम नहीं उठाया।

महाराष्ट्र के सोलापुर जिले का एक वीडियो रविवार (24 मार्च 2024) को वायरल हुआ, जिसमें कई मुस्लिम छात्रों को एक सरकारी कॉलेज की कक्षा के अंदर नमाज पढ़ते देखा जा सकता है। बताया जाता है कि छात्रों ने रमजान के दौरान 21 और 22 मार्च को सोलापुर के पॉलिटेक्निक गवर्नमेंट कॉलेज में नमाज अदा की थी। ऑपइंडिया द्वारा प्राप्त वीडियो में मुस्लिम छात्रों का एक ग्रुप क्लासरूम में नमाज पढ़ते दिख रहा है। इसकी शिकायत अन्य छात्रों ने की, लेकिन नमाज पढ़ने वाले छात्रों के खिलाफ कॉलेज प्रशासन ने कोई कदम नहीं उठाया।

सूत्रों के मुताबिक, मुस्लिम छात्रों ने शुरुआत में कॉलेज अधिकारियों से रमज़ान की नमाज़ में शामिल होने के लिए कॉलेज परिसर से जल्दी निकलने की अनुमति माँगी थी। हालाँकि, कॉलेज ने नियमों का हवाला देते हुए उन्हें बाहर नहीं जाने दिया। वैसे, ये नियम सभी छात्रों पर लागू होते हैं। इसके बाद इन छात्रों ने क्लासरूम में ही नमाज पढ़ी।

कॉलेज के अन्य छात्रों के साथ-साथ विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के कार्यकर्ताओं ने इस घटना के खिलाफ आवाज उठाई। कार्यकर्ताओं ने संकेत दिया कि अगर नमाज प्रथा बंद नहीं की गई तो वे भी कक्षाओं में हिंदुओं के धार्मिक काम करना शुरू कर देंगे। हालाँकि, अधिकारियों द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई।

ऑपइंडिया ने इस घटना के संबंध में एबीवीपी के एक कार्यकर्ता से बात की, जिन्होंने कहा कि आमतौर पर कॉलेज में सांप्रदायिक शांति रहती है, हालाँकि, अब उन्होंने कॉलेज परिसर में नमाज शुरू कर दी है, वह भी बिना अनुमति के, जोकि गंभीर मामला है। कॉलेज फैकल्टी ने भी ऑपइंडिया से घटनाक्रम की पुष्टि की। साथ ही बताया कि अभी तक आरोपितों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

एक शिक्षक ने नाम न छापने की शर्त पर बताया, “छात्रों ने रमज़ान की नमाज़ में शामिल होने के लिए कॉलेज से जल्दी निकलने की मौखिक अनुमति माँगी थी। कॉलेज का समय आमतौर पर शाम 6 बजे समाप्त होता है। उन्होंने 2 घंटे पहले निकलने की इजाजत माँगी थी। लेकिन, कॉलेज के नियम-कायदों का हवाला देकर अनुमति नहीं दी गई। इसके बाद छात्रों ने बिना अनुमति के कक्षा में नमाज पढ़ी। ऐसा सिर्फ दो दिन के लिए हुआ। बाद में छुट्टियाँ शुरू हो गईं, लेकिन कई शिकायतों के बावजूद कॉलेज अधिकारियों द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई।” हालाँकि उन्होंने कहा कि छात्र छुट्टी पर चले गए हैं।

इस मामले में प्रिंसिपल से भी संपर्क करने की कोशिश की गई, लेकिन अभी तक उनका बयान नहीं मिल पाया है। उनके बयान को हम बाद में इस खबर में अपडेट करेंगे। यह समाचार मूल रूप से अंग्रेजी भाषा में लिखा गया है। मूल खबर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -