मध्य प्रदेश में विश्व हिन्दू परिषद के नेता को दिनदहाड़े गोलियों से भूना, हत्यारों का सुराग नहीं

युवराज विहिप के विभाग सहमंत्री थे। बाइक सवार हमलावरों ने चाय की दुकान पर उन्हें गोली मारी। गोलीबारी के बाद मौके पर भगदड़ मच गई जिसका फायदा उठा हमलावर भाग निकले।

मध्य प्रदेश के मंदसौर में विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) के एक नेता की गोली मार कर हत्या कर दी गई। मृतक युवराज सिंह केबल नेटवर्क का भी संचालन करते थे। घटना बुधवार (अक्टूबर 9, 2019) को सुबह 11 बजे हुई, जब वह गीता भवन अंडरब्रिज के पास स्थित एक चाय की दुकान पर थे। उसी वक़्त बाइक सवार बदमाशों ने उन्हें गोली मार दी। उन्हें गोली लगते ही आसपास भगदड़ मच गई, जिसका फायदा उठा बदमाश भागने में सफल रहे।
युवराज सिंह को कुल तीन गोली मारी गई

मौके पर मौजूद लोगों ने घटना की सूचना एम्बुलेंस और पुलिस को दी, जिसके बाद युवराज को अस्पताल ले जाया गया। वहाँ डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। युवराज विश्व हिन्दू परिषद में विभाग सहमंत्री के रूप में कार्यरत थे। अभी तक पुलिस को उनकी हत्या का कारण नहीं पता चला है। पुलिस इस बात की तहकीकात में जुटी है कि हमलवार उनकी हत्या करने के बाद किस दिशा में भागे?

युवराज को गोली लगने के बाद अस्पताल में भारी भीड़ जमा हो गई। पुलिस ने इलाक़े में सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी कर दी है। जिले के वरिष्ठ अधिकारी भी घटनास्थल पर पहुँच कर लोगों से संवाद कर रहे हैं। पुलिस ने जिले की सीमा को चारों तरफ़ से सील करते हुए हत्यारों की तलाश तेज़ कर दी है। जिला अस्पताल में आरएसएस और विहिप के कार्यकर्ताओं ने पहुँच कर इस घटना की निंदा की।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

लोगों ने मृत विहिप नेता की शव रख कर सड़क जाम कर दिया और एसपी को बुलाने की माँग की। कुछ अन्य अधिकारियों ने वहाँ पहुँच कर लोगों को मनाया, तब जाकर लोग शव का पोस्टमॉर्टम कराने के लिए माने। पोस्टमॉर्टम रूम में एसपी भी मौजूद थे। दिनदहाड़े हुए इस हमले से मध्य प्रदेश में क़ानून-व्यवस्था पर सवालिया निशान लग गया है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

पीएम मोदी
"कॉन्ग्रेस के एक नेता ने कहा कि यह फैसला देश को बर्बाद कर देगा। 3 महीने हो गए हैं, क्या देश बर्बाद हो गया? एक और कॉन्ग्रेस नेता ने कहा कि 370 हटाकर हमने कश्मीर को खो दिया है। क्या हमने कश्मीर खो दिया है?"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

97,842फैंसलाइक करें
18,519फॉलोवर्सफॉलो करें
103,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: