लोकनाथ मंदिर में जन्माष्टमी के अवसर पर दीवार गिरने से भगदड़, 6 की मौत, 27 घायल

लोकनाथ मंदिर में जन्माष्टमी के मौक़े पर श्रद्धालु एकत्रित हुए थे, लेकिन इसी दौरान वहाँ एक जर्जर दीवार ढह गई। जिसे देखकर वहाँ भगदड़ मच गई। कई श्रद्धालु इसकी चपेट में आकर घायल हो गए। हालाँकि, किसी तरह पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित करने की कोशिश की और अब तक मलबे में दबे कई लोगों को बाहर निकाल लिया गया है।

पश्चिम बंगाल में जन्माष्टमी के उत्सव के दौरान एक मंदिर में दीवार गिरने से 6 लोगों की मौत हो गई। इस हादसे में 27 लोग घायल हुए। घटना शुक्रवार सुबह नॉर्थ 24 परगना के कचुआ इलाके में स्थित लोकनाथ मंदिर में घटी। मृतकों के परिजन को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 5 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की।

जानकारी के मुताबिक लोकनाथ मंदिर में जन्माष्टमी के मौक़े पर श्रद्धालु एकत्रित हुए थे, लेकिन इसी दौरान वहाँ एक जर्जर दीवार ढह गई। जिसे देखकर वहाँ भगदड़ मच गई। कई श्रद्धालु इसकी चपेट में आए। पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित किया और मलबे में दबे लोगों को बाहर निकाला। बाद में 6 लोगों को मृत घोषित कर दिया गया, जबकि बाकी घायलों को एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती करवाया गया।

बंगाल मुख्यमंत्री ने इस हादसे में मरने वालों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा कि उनके लिए फिलहाल वर्तमान परिस्थियों में बचाव कार्य सबसे बड़ी प्राथमिकता हैं। वो इस मामले पर निजी स्तर पर निगरानी कर रही हैं साथ ही मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख देने की घोषणा भी की। उन्होंने गंभीर रूप से घायलों को 1-1 लाख और घायल लोगों को 50-50 हजार रुपए देने की बात की।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

ममता बनर्जी ने बताया, “इस बार कछुआ लोकनाथ मंदिर में भारी भीड़ जमा थी। तभी सुबह-सुबह बारिश होने लगी, जिसके कारण लोग बाँस के अस्थायी स्टॉलों में छुपने की कोशिश करने लगे। भारी बारिश के कारण बाँस के स्टॉल टूट गए। वहाँ जगह बहुत ही संकरी है, जिस कारण हड़बड़ी में बहुत लोग मंदिर के पास के तालाब में गिर गए। इससे वहाँ भगदड़ की स्थिति पैदा हो गई।

गौरतलब है कि हर साल लोकनाथ ब्रह्मचारी का जन्मदिन मनाने के लिए कछुआ मंदिर में बड़ी संख्या में लोग जमा होते हैं । इस साल भी वहाँ इसी उद्देश्य से भीड़ लगी थी।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

अमानतुल्लाह ख़ान, जामिया इस्लामिया
प्रदर्शन के दौरान जहाँ हिंसक घटना हुई, वहाँ AAP विधायक अमानतुल्लाह ख़ान भी मौजूद थे। एक तरफ केजरीवाल ऐसी घटना को अस्वीकार्य बता रहे हैं, दूसरी तरफ उनके MLA पर हिंसक भीड़ की अगुवाई करने के आरोप लग रहे हैं।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

118,919फैंसलाइक करें
26,833फॉलोवर्सफॉलो करें
127,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: