Saturday, April 17, 2021
Home देश-समाज 'मेरे पिता का मर्डर हुआ है': बुजुर्ग की मौत से फिर सवालों के...

‘मेरे पिता का मर्डर हुआ है’: बुजुर्ग की मौत से फिर सवालों के घेरे में बंगाल का एमआर बंगुर अस्पताल

प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगते हुए राज ने कुछ वीडियो साझा किए हैं। इनमें उनके पिता भी नजर आ रहे हैं। वीडियोज में राज बताते हैं कि कैसे उनके पिता के साथ एमआर बंगुर अस्पताल में खिलवाड़ हुआ।

पश्चिम बंगाल में कोरोना संक्रमण को लेकर स्थिति लगातार संदिग्ध बनी हुई है। राज्य सरकार कुछ भी स्पष्ट कहने से बच रही है। इस बीच एक बुजुर्ग की मौत ने कोलकाता के एमआर बंगुर अस्पताल को फिर से सवालों के घेरे में ला दिया है।

कोलकाता वार्ड नंबर 36 के निवासी राज गुप्ता ने राज्य सरकार और स्वास्थ्य विभाग पर अपने पिता की हत्या का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि उनके पिता अच्छे-भले कोलकाता के एमआर बंगुर अस्पताल में कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद भर्ती हुए थे। उन्हें आश्वासन दिया गया कि उनका इलाज सही से होगा। मगर, अगले ही दिन अस्पताल से खबर आई कि उनके पिता का देहांत हो गया है।

राज का कहना है कि जब उसके पिता एक रात पहले अच्छे-भले अपने पैरों से चलकर अस्पताल में भर्ती होने गए, तो उनकी मौत अगले कैसे हुई? अस्पताल प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग इसका जवाब दे।

बता दें, इस मामले में राज के बयान के कई वीडियोज सोशल मीडिया पर आए हैं। इनमें से एक को बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने भी शेयर किया है। इन वीडियोज में राज बताते हैं कि कैसे उनके पिता के साथ एमआर बंगुर अस्पताल में खिलवाड़ हुआ। पहले उनके पिता को कोविड पॉजिटिव बताया गया और कहा गया कि वे सब होम क्वारंटाइन हो जाएँ।

जब पिता के संक्रमित होने की सूचना मिलने पर सब लोगों ने खुद को घर में पृथक कर लिया, तो उनके पास फोन आया और कहा गया कि उनके पिता नेगेटिव हैं और उन्हें अस्पताल से ले जाएँ। इसके बाद 26 तारीख को उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया। मगर, फिर जब उनके पिता घर आ गए और परिवार के साथ रहने लगे तो अगले दिन फोन आया कि अस्पताल से गलती हो गई और उनके पिता संक्रमित ही हैं। 

https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=1170643599940291&id=100009839851052

प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगते हुए राज ने कुछ वीडियो साझा किए हैं। इनमें उनके पिता भी नजर आ रहे हैं। वीडियो में उन्होंने अस्पताल द्वारा जारी डिस्चार्ज पेपर दिखाया। साथ ही सारी बात बताई। वीडियो में उनके पिता ने ये भी कहा कि वे बिलकुल ठीक हैं। उन्हें बस खाँसी-जुखाम हैं। इसलिए अगर अस्पताल के कारण कुछ होता है, तो वह उनका और उनके घरवालों का इलाज करेंगे।

पहली वीडियो में हम देख सकते हैं कि राज गुप्ता के पिता एकदम ठीक नजर आ रहे हैं। हल्के जुखाम की शिकायत कर रहे हैं। इसके बाद एक वीडियो में उन्हें अस्पताल जाते दिखाया जा रहा है और उनका परिवार उन्हें हिम्मत देता दिख रहा है। इस वीडियो में वे खुद चलकर अस्पताल जा रहे हैं और उनका परिवार लोगों को अस्पताल की लापरवाही बता रहा है। मगर, इसी क्रम की आखिरी वीडियो में राज उन्हें मृत बता रहा है और कह रहा है कि अस्पताल ने उन्हें ये जानकारी दी कि उनके पिता की मौत हो गई है।

उनका पूछना है कि अब जब उनके पिता एक रात पहले अच्छे-भले गए तो फिर उनकी मौत कैसे हुई? वे कहते हैं कि उन्हें अपने सवालों का जवाब चाहिए। क्योंकि ये सब लापरवाही है और उनके पिता का मर्डर हुआ है। राज का कहना है कि उन्हें इस संबंध में अस्पताल प्रशासन और स्वास्थ्य मंत्रालय व उसके सर्वेसर्वा से जवाब चाहिए। वे कहते हैं कि अगर उन्हें यहाँ अपने सवालों का जवाब नहीं मिला तो वे इस बात को आगे तक ले जाएँगे।

वे बताते हैं कि उनके परिवार में 6 महीने का बच्चा समेत 5 लोग हैं। अब प्रशासन की गलती से वो भी संक्रमित हो सकते हैं। इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा? अगर राज्य सरकार उनका ख्याल रखने को तैयार है तो वो आकर उनसे बात करे और बताए कि उनके लिए कैसे क्या किया जाएगा? इसके अलावा उन्हें उनके पिता की रिपोर्ट भी दी जाए, जिसमें वे कोरोना पॉजिटिव आए। नहीं तो वे मान चुके हैं कि प्रशासन ने उनका मर्डर किया। वे कहते हैं कि उनके पिता ने आखिरी वक़्त तक कहा कि वे अस्पताल नहीं जाएँगे। लेकिन उनके परिवार वालों ने कहा कि आप जाइए, अगर सरकार का साथ देंगे तो सरकार हमारा साथ देगी।

गौरतलब है कि इससे पहले एमआर बंगूर अस्पताल का एक वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया था। इसमें दिखाया गया था कि वहाँ किस प्रकार आइसोलेशन वार्ड में कोरोना संदिग्धों को बदइंतजामी के बीच रखा जा रहा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शेखर गुप्ता के द प्रिंट का नया कारनामा: कोरोना संक्रमण के लिए ठहराया केंद्र को जिम्मेदार, जानें क्या है सच

कोरोना महामारी की शुरुआत में भले ही भारत सरकार ने पूरे देश में एक साथ हर राज्य में लॉकडाउन लगाया, मगर कुछ ही समय में सरकार ने हर राज्य को अपने हिसाब से फैसले लेने का अधिकार भी दे दिया।

ब्रायन के वो तीन बयान जो बताते हैं TMC बंगाल में हार रही है: प्रशांत के बाद डेरेक ओ’ब्रायन की क्लब हाउस में एंट्री

पश्चिम बंगाल में बढ़ती हिन्दुत्व की लहर, जो कि भाजपा की ही सहायता करने वाली है, के बाद भी डेरेक ओ’ब्रायन यही कहेंगे कि भाजपा से पहले पीएम मोदी और अमित शाह को हटाने की जरूरत है।

ऑडियो- ‘लाशों पर राजनीति, CRPF को धमकी, डिटेंशन कैंप का डर’: ममता बनर्जी का एक और ‘खौफनाक’ चेहरा

कथित ऑडियो क्लिप में ममता बनर्जी को यह कहते सुना जा सकता है कि वो (भाजपा) एनपीआर लागू करने और डिटेन्शन कैंप बनाने के लिए ऐसा कर रहे हैं।

चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में चुनाव प्रचार और रैलियों के लिए तय की गाइडलाइंस, उल्लंघन पर होगी सख्त कार्रवाई

चुनाव आयोग ने यह भी कहा है कि बंगाल चुनाव में रैलियों में कोविड गाइडलाइंस का उल्लंघन होने पर अपराधिक कार्रवाई की जाएगी।

CPI(M) ने TMC के लोगों को मारा पर वो BJP से अच्छे: डैमेज कंट्रोल करने आए डेरेक ने किया बेड़ा गर्क

प्रशांत किशोर ने जब से क्लब हाउस में TMC को डैमेज किया है, उसे कंट्रोल करने की कोशिशें लगातार हो रहीं। यशवंत सिन्हा से लेकर...

ईसाई मिशनरियों ने बोया घृणा का बीज, 500+ की भीड़ ने 2 साधुओं की ली जान: 181 आरोपितों को मिल चुकी है जमानत

एक 70 साल के बूढ़े साधु का हँसता हुआ चेहरा आपको याद होगा? पालघर में हिन्दूघृणा में 2 साधुओं और एक ड्राइवर की मॉब लिंचिंग के मुद्दे पर मीडिया चुप रहा। लिबरल गिरोह ने सवाल नहीं पूछे।

प्रचलित ख़बरें

सोशल मीडिया पर नागा साधुओं का मजाक उड़ाने पर फँसी सिमी ग्रेवाल, यूजर्स ने उनकी बिकनी फोटो शेयर कर दिया जवाब

सिमी ग्रेवाल नागा साधुओं की फोटो शेयर करने के बाद से यूजर्स के निशाने पर आ गई हैं। उन्होंने कुंभ मेले में स्नान करने गए नागा साधुओं का...

बेटी के साथ रेप का बदला? पीड़ित पिता ने एक ही परिवार के 6 लोगों की लाश बिछा दी, 6 महीने के बच्चे को...

मृतकों के परिवार के जिस व्यक्ति पर रेप का आरोप है वह फरार है। पुलिस ने हत्या के आरोपित को हिरासत में ले लिया है।

‘अब या तो गुस्ताख रहेंगे या हम, क्योंकि ये गर्दन नबी की अजमत के लिए है’: तहरीक फरोग-ए-इस्लाम की लिस्ट, नरसिंहानंद को बताया ‘वहशी’

मौलवियों ने कहा कि 'जेल भरो आंदोलन' के दौरान लाठी-गोलियाँ चलेंगी, लेकिन हिंदुस्तान की जेलें भर जाएंगी, क्योंकि सवाल नबी की अजमत का है।

जहाँ इस्लाम का जन्म हुआ, उस सऊदी अरब में पढ़ाया जा रहा है रामायण-महाभारत

इस्लामिक राष्ट्र सऊदी अरब ने बदलते वैश्विक परिदृश्य के बीच खुद को उसमें ढालना शुरू कर दिया है। मुस्लिम देश ने शैक्षणिक क्षेत्र में...

‘वाइन की बोतल, पाजामा और मेरा शौहर सैफ’: करीना कपूर खान ने बताया बिस्तर पर उन्हें क्या-क्या चाहिए

करीना कपूर ने कहा है कि वे जब भी बिस्तर पर जाती हैं तो उन्हें 3 चीजें चाहिए होती हैं- पाजामा, वाइन की एक बोतल और शौहर सैफ अली खान।

कोरोना का इस्तेमाल कर के राम मंदिर पर साधा निशाना: AAP की IT सेल वाली ने करवा ली अपने ही नेता केजरीवाल की बेइज्जती

जनवरी 2019 में दिल्ली के मस्ज़िदों के इमामों के वेतन को ₹10,000 से बढ़ा कर ₹18,000 करने का ऐलान किया गया था। मस्जिदों में अज़ान पढ़ने वाले मुअज़्ज़िनों के वेतन में भी बढ़ोतरी कर इसे ₹9,000 से ₹16,000 कर दिया गया था।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,985FansLike
82,244FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe