Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजपश्चिम बंगाल में सर सैयद अहमद रोड के एक निर्माणाधीन इमारत से STF ने...

पश्चिम बंगाल में सर सैयद अहमद रोड के एक निर्माणाधीन इमारत से STF ने बरामद किए 22 क्रूड बम: जाँच जारी

STF के साथ पुलिस ने सर सैयद अहमद रोड 2/1 बी में एक निर्माणाधीन इमारत पर छापा मारते हुए बमों को बरामद किया। 22 क्रूड टाइप के बम दो बक्सों में मिले है। जो एक कमरे के प्रवेश द्वार के ठीक ऊपर एक मचान पर रखे हुए थे।

कोलकाता की स्पेशल टॉस्क फोर्स (एसटीएफ) और स्थानीय पुलिस की संयुक्त टीम ने एक खुफिया जानकारी पर कार्रवाई करते हुए शनिवार (2 जनवरी, 2021) को एंटली पुलिस थाना क्षेत्र से कई बम बरामद किए है। बीडीएस, डीडी के सख्त मार्गदर्शन में बमों को जब्त कर सुरक्षित स्थान पर रखा गया है।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक, “स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने कोलकाता पुलिस के साथ मिलकर एक संयुक्त अभियान के तहत एंटली पुलिस थाने क्षेत्र से कई बम बरामद किए। मामले में जाँच जारी है।” मिली जानकारी के अनुसार, मिलिट्री इंटेलिजेंस की कोलकाता यूनिट ने कोलकाता पुलिस के साथ इस मामले की जानकारी साझा की थी।

फोर्ट विलियम से सैन्य खुफिया विभाग के दो अधिकारियों ने शनिवार को लगभग 1.45 बजे पुलिस स्टेशन पहुँच कर स्थानीय पुलिस अधिकारियों से जानकारी साझा करते हुए मामले में उनकी सहायता माँगी थी। जिसके तहत आगे की कार्रवाई को अंजाम दिया गया।

STF के साथ पुलिस ने सर सैयद अहमद रोड 2/1 बी में एक निर्माणाधीन इमारत पर छापा मारते हुए बमों को बरामद किया। 22 क्रूड टाइप के बम दो बक्सों में मिले है। जो एक कमरे के प्रवेश द्वार के ठीक ऊपर एक मचान पर रखे हुए थे। बता दें यह बिल्डिंग पहले से ही खुफिया एजेंसियों की रडार पर था। संयुक्त ऑपरेशन के तहत पुलिस मामले की तफ्तीश में जुटी है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘द प्रिंट’ ने डाला वामपंथी सरकार की नाकामी पर पर्दा: यूपी-बिहार की तुलना में केरल-महाराष्ट्र को साबित किया कोविड प्रबंधन का ‘सुपर हीरो’

जॉन का दावा है कि केरल और महाराष्ट्र पर इसलिए सवाल उठाए जाते हैं, क्योंकि वे कोविड-19 मामलों का बेहतर तरीके से पता लगा रहे हैं।

शिवाजी से सीखा, 60 साल तक मुगलों को हराते रहे: यमुना से नर्मदा, चंबल से टोंस तक औरंगज़ेब से आज़ादी दिलाने वाले बुंदेले की...

उनके बारे में कहते हैं, "यमुना से नर्मदा तक और चम्बल नदी से टोंस तक महाराजा छत्रसाल का राज्य है। उनसे लड़ने का हौसला अब किसी में नहीं बचा।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,242FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe