Tuesday, June 18, 2024
Homeदेश-समाजजहाँगीरपुरी के दंगाई अंसार का आपराधिक है इतिहास: सरकारी कर्मचारी पर कर चुका है...

जहाँगीरपुरी के दंगाई अंसार का आपराधिक है इतिहास: सरकारी कर्मचारी पर कर चुका है हमला, शाहीन बाग़ में महिलाओं को लेकर जाता था

दिल्ली पुलिस ने अंसार को फरवरी 2009 में पहली बार चाकू के साथ गिरफ्तार किया था। इसके बाद जुलाई 2018 में इसने एक सरकारी कर्मचारी पर हमला कर दिया था। इसको लेकर अंसार पर हमला करने और सरकारी काम में बाधा डालने का मामला दर्ज किया गया था।

हनुमान जयंती के अवसर पर शनिवार (16 अप्रैल 2022) को निकाली गई शोभा यात्रा में बवाल खड़ा कर दिल्ली के जहाँगीरपुरी को सुलगाने का काम मोहम्मद अंसार ने किया था। अंसार ही वो शख्स है, जिसने शोभा यात्रा ले जा रहे लोगों के साथ झगड़़ा शुरू किया था। इसके बाद पथराव और फायरिंग की घटनाएँ हुई थीं। अंसार का आपराधिक इतिहास रहा है। इसके अलावा, दिल्ली के शाहीन बाग में CAA-NRC विरोधी आंदोलनों के दौरान भी उसकी भूमिका सामने आई थी।

35 वर्षीय मोहम्मद अंसार के अब्बू का नाम अलाउद्दीन है और वह जहाँगीरपुरी के B ब्लॉक में रहता है। ये पहली बार नहीं है, जब उसने इस तरह की घटना को अंजाम दिया है। उस पर पहले से ही हमला करने के दो मामले चल रहे हैं। इनमें उसकी गिरफ्तारी हो चुकी थी। वह अवैध हथियारों और जुआ जैसी अवैध गतिविधियों में भी लिप्त रहा है। इसको लेकर उस पर आर्म्स एक्ट और जुआ अधिनियम के तहत 5 बार केस दर्ज हो चुका है। 

जहाँगीरपुरी की झुग्गी बस्ती पैदा हुआ और पला-बढ़ा अंसार चौथी कक्षा तक पढ़ा है और कबाड़ी का काम करता है। उसकी पत्नी का नाम सकीना है और सोहेल नाम का एक बेटा भी है। उसका एक भाई और एक बहन भी है। भाई का नाम अल्फा है, जबकि बहन और जीजा हरियाणा के नूंह में रहते हैं।

दिल्ली पुलिस ने इसे फरवरी 2009 में पहली बार चाकू के साथ गिरफ्तार किया था। दूसरा मामला जुलाई 2018 का है। उस वक्त इसने एक सरकारी कर्मचारी पर हमला कर दिया था। इसके लिए उस पर सरकारी कर्मचारी पर हमला करने और सरकारी काम में बाधा डालने की धारा लगाई गई थी।

वहीं, भाजपा नेता कपि मिश्रा का आरोप है कि मोहम्मद अंसार के शाहीन बाग के गुनाहगारों के साथ भी गहरे संबंध हैं। वह शाहीन बाग में धरने के लिए जहाँगीरपुरी से महिलाओं को लेकर जाता था। इस संबंध में कपिल मिश्रा ने एक ट्वीट कर जानकारी दी।

कपिल मिश्रा ने कहा, “जहाँगीरपुरी से जितने दंगाई पकड़े जा रहे हैं ये सब लोग दिल्ली दंगों और शाहीन बाग में शामिल थे। मुख्य अपराधी अंसार, यहाँ से औरतों को सड़कें बंद करवाने के लिए लेकर सीलमपुर, जफराबाद, शाहीन बाग़ जाता था। इसके कनेक्शन ताहिर हुसैन, खालिद सैफी, उमर खालिद सबसे रहे हैं।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस जगन्नाथ मंदिर में फेंका गया था गाय का सिर, वहाँ हजारों की भीड़ ने जुट कर की महा-आरती: पूछा – खुलेआम कैसे घूम...

रतलाम के जिस मंदिर में 4 मुस्लिमों ने गाय का सिर काट कर फेंका था वहाँ हजारों हिन्दुओं ने महाआरती कर के असल साजिशकर्ता को पकड़ने की माँग उठाई।

केरल की वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी, पहली बार लोकसभा लड़ेंगी प्रियंका: रायबरेली रख कर यूपी की राजनीति पर कॉन्ग्रेस का सारा जोर

राहुल गाँधी ने फैसला लिया है कि वो वायनाड सीट छोड़ देंगे और रायबरेली अपने पास रखेंगे। वहीं वायनाड की रिक्त सीट पर प्रियंका गाँधी लड़ेंगी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -