Tuesday, June 18, 2024
Homeदेश-समाजचाकू, एसिड, यूज किए हुए कंडोम, बोतलें और बिखरे कपड़े... बंगाल में मिली महिला...

चाकू, एसिड, यूज किए हुए कंडोम, बोतलें और बिखरे कपड़े… बंगाल में मिली महिला की जली हुई लाश, शरीर पर वार के निशान: पहचानना भी मुश्किल

पुलिस से जुड़े सूत्रों की मानें तो शरीर पर कई जगहों पर चाकू से वार के निशान हैं। पुलिस ने यह भी कहा कि अपराध स्थल के आसपास चाकू, एसिड, इस्तेमाल किए गए कंडोम और जले हुए कपड़े बिखरे हुए थे।

पश्चिम बंगाल में महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले तेजी से बढ़े हैं। बामुश्किल 20 दिन पहले 24 परगना में एक बांग्लादेशी महिला की हत्या कर दी गई थी और पहचान छिपाने के लिए उसके चेहरे को जला दिया गया था। ठीक वैसा ही मामला मालदा जिले में सामने आया है, जहाँ धान के खेत में एक अज्ञात महिला का शव बरामद हुआ। महिला के शव पर कई निशान मिले हैं और उसकी पहचान छिपाने के लिए उसका चेहरा जला दिया गया है।

गैंगरेप की आशंका, चेहरे के तेजाब से जलाया

स्थानीय लोगों का कहना है कि महिला के कपड़े फटे हैं, ऐसे में उसके साथ गैंगरेप की आशंका भी जताई जा रही है। ये वारदात हरिश्चंद्रपुर ब्लॉक नंबर 1 के कुशीदा ग्राम पंचायत के चोचपारा बंधबन इलाके की है। स्थानीय लोगों की मानें तो महिला का चेहरा तेजाब से जलाया गया है, और शायद उसका शव कहीं से लाकर यहाँ फेंका गया है। महिला के शव के पास से एसिड की बोतलें, चाकू और अन्य सामान भी बरामद किया गया है।

वहीं, पुलिस से जुड़े सूत्रों की मानें तो शरीर पर कई जगहों पर चाकू से वार के निशान हैं। पुलिस ने यह भी कहा कि अपराध स्थल के आसपास चाकू, एसिड, इस्तेमाल किए गए कंडोम और जले हुए कपड़े बिखरे हुए थे। हरिश्चंद्रपुर थाने के प्रबारी देवदूत गजनिरे ने कहा कि यह कहना संभव नहीं है कि महिला के साथ दुष्कर्म हुआ है या नहीं। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

मालदा के पुलिस अधीक्षक प्रदीप कुमार यादव ने बताया है कि महिला की पहचान अभी तक नहीं हो पाई है। शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। घटना की जाँच शुरू हो गई है।

24 परगना में हुआ था ऐसा ही कांड

बता दें कि पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में 26 सितंबर 2023 को एक महिला का शव मिला था। ये शव स्वर्णपुर के गोबिंदपुर इलाके के फील्ड में पड़ा मिला था। महिला की गर्दन को चाकू से कर मौत के घाट उतारा गया था। अपराधियों ने उसकी पहचान को छिपाने के लिए चेहरे को भी जला दिया था।

इस मामले में पुलिस ने उसने प्रेमी नासेर मिल्स को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। उस महिला का नाम सोमैया अख्तर था और वो बांग्लादेश की रहने वाली थी। महिला के शव मिलने का वीडियो वायरल हो गया था, जिसमें उसके दोनों हाथों के घुटने से नीचे से एक लकड़ी के सहारे बाँध कर, चेहरे पर कपड़े डालकर आग लगा दी गई थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बेल्ट से पीटते, सिगरेट से दागते, वीडियो बनाते… 10वीं-12वीं की लड़कियों को निशाना बनाता था मुजफ्फरपुर का गिरोह, पुलिस ने भी मानी FIR में...

कुछ लड़कियों को तो जबरन शादी के लिए मजबूर किया गया। कई युवतियों का जबरन गर्भपात कराया गया। पुलिस ने मामला दर्ज करने में आनाकानी की।

NEET-UG में 0.001% की भी लापरवाही हुई तो… : सुप्रीम कोर्ट ने NTA और केंद्र सरकार को नोटिस जारी कर माँगा जवाब

सुप्रीम कोर्ट ने अहम टिप्पणी करते हुए कहा कि अगर 0.001 प्रतिशत भी किसी की खामी पाई गई तो हम उससे सख्ती से निपटेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -