Tuesday, May 28, 2024
Homeदेश-समाजलंदन भाग रही थीं 'यस बैंक' के संस्थापक राणा कपूर की बेटी रौशनी, मुंबई...

लंदन भाग रही थीं ‘यस बैंक’ के संस्थापक राणा कपूर की बेटी रौशनी, मुंबई एयरपोर्ट पर रोकी गईं

राणा कपूर और उनके परिवार, जिसमें पत्नी बिंदु कपूर, बेटियाँ- राखी कपूर टंडन, राधा कपूर और रोशनी कपूर के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया जा चुका है।

‘यस बैंक’ के संस्थापक राणा कपूर फ़िलहाल ईडी की कस्टडी में हैं लेकिन उनके परिवार पर जैसे ही जाँच की आँच पहुँची, उनकी बेटी रौशनी कपूर लंदन भागने लगीं। रौशनी को मुंबई एयरपोर्ट पर शिकंजे में लिया गया है, जहाँ से वो ब्रिटिश एयरवेज़ से लंदन जाने की फ़िराक़ में थीं। बता दें कि नीरव मोदी और विजय माल्या जैसे भगोड़े भी अभी लंदन में ही हैं और उनके प्रत्यर्पण के लिए भारत सरकार लगी हुई है। राणा कपूर और उनके परिवार, जिसमें पत्नी बिंदु कपूर, बेटियाँ- राखी कपूर टंडन, राधा कपूर और रोशनी कपूर के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया जा चुका है।

राणा कपूर की बेटी रौशनी को मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर लंदन जाने से रोका गया। ईडी ने खुलासा किया है कि कपूर, उनकी पत्नी और तीनों बेटियों ने मिल कर 20 फ़र्ज़ी कम्पनियाँ खोल रखी थीं और उन कंपनियों के द्वारा रुपयों की गड़बड़ी की जाती थी। ‘यस बैंक’ से लोन दिलाने के एवज में भारी रक़म वसूली जाती थी। ‘लुक आउट नोटिस’ को नज़रअंदाज़ कर लंदन भागने की कोशिश करने वाली रौशनी ने ईडी और सीबीआई का शक और गहरा कर दिया कि दाल में ज़रूर कुछ काला है।

ईडी ने राणा कपूर की पत्नी बिंदु और उनकी तीनों बेटियों के कई ठिकानों की तलाशी भी ली है। दिल्ली और मुंबई में चले इस तलाशी अभियान के दौरान राखी कपूर टंडन, राधा कपूर और रोशनी कपूर से पूछताछ भी की गई, जो कई घंटों तक चली। 

ईडी ने मुंबई कोर्ट को बताया है कि ‘यस बैंक’ ने डीएचएफएल के 3700 करोड़ मूल्य से भी अधिक के डिबेंचर ख़रीदे। डीबीएचएल ने डोलीट अर्बन वेंचर्स प्राइवेट लिमिटेड को 600 करोड़ का लोन दिया। इस कम्पनी में राणा कपूर की बेटियाँ बतौर डायरेक्टर कार्यरत हैं।

राणा कपूर की तीनों बेटियों की 20 फर्जी कम्पनियाँ, ₹13000 करोड़ का गबन: CBI ने दर्ज किया मामला

ऐसे ही नहीं डूब गया यस बैंक, प्रियंका गाँधी की पेंटिंग खरीदने पर राणा कपूर ने खर्चे करोड़ों

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पंजाब में Zee मीडिया के सभी चैनल ‘बैन’! मीडिया संस्थान ने बताया प्रेस की आज़ादी पर हमला, नेताओं ने याद किया आपातकाल

जदयू के प्रवक्ता KC त्यागी ने इसकी निंदा करते हुए कहा कि AAP का जन्म मीडिया की फेवरिट संस्था के रूप में हुआ था, रामलीला मैदान में संघर्ष के दौरान मीडिया उन्हें खूब कवर करता था।

हिंदुओं का अपमान, हमास का समर्थन, अश्लील शब्द का प्रयोग: सोमैया ट्रस्ट के प्रमुख ने अभिभावकों को लिखा पत्र, बताया- क्यों प्रिंसिपल पद से...

सोमैया स्कूल की प्रिंसिपल परवीन शेख को पद से हटाए जाने के बाद सोमैया ट्रस्ट ने छात्रों के अभिभावकों को पत्र लिखा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -