Tuesday, September 21, 2021
Homeदेश-समाजUP में मिशन शक्ति: महिलाओं को सम्मानित कर बोले CM योगी- स्वावलंबी और सशक्त...

UP में मिशन शक्ति: महिलाओं को सम्मानित कर बोले CM योगी- स्वावलंबी और सशक्त नारी ही नए उत्तर प्रदेश की नींव

मुख्यमंत्री योगी ने पूर्व की सरकारों पर इशारों इशारों में तंज कसते हुए कहा, ''महिला सुरक्षा को लेकर इससे पहले के वातावरण से हर व्यक्ति परिचित है। महिलाओं में असुरक्षा के इसी भाव को दूर करने के लिए मिशन शक्ति को सरकार ने आगे बढ़ाया है।''

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने ‘मिशन शक्ति’ के तीसरे चरण का शुभारम्भ किया, जिसे सोशल मीडिया पर काफी सराहना मिली है। यह चरण 31 दिसंबर 2021 तक चलेगा। इस दौरान यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण भी मौजूद रहीं। कार्यक्रम में मिशन शक्ति के पहले व दूसरे चरण में बेहतर प्रदर्शन करने वाली एवं कोरोना संक्रमण के दौरान अलग-अलग क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली 75 महिलाओं को सम्मानित भी किया गया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलंबन के लिए प्रतिबद्ध ‘मिशन शक्ति‘ के तीसरे चरण के शुभारंभ के दौरान कहा कि स्वावलंबी, सुरक्षित तथा सशक्त नारी ही नए उत्तर प्रदेश की नींव है। हम इस नींव को मजबूत करने के लिए मिशन शक्ति का तीसरा चरण शुरू कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश की आधी आबादी को नजरअंदाज कर कोई भी समाज, प्रदेश व देश तरक्की नहीं कर सकता है। इस चरण में महिलाओं को रोजगार की मुख्यधारा से जोड़ते हुए उनकी सुरक्षा के लिए काम होगा।

मिशन शक्ति कार्यक्रम में महिलाओं, महिला पुलिसकर्मियों आदि को उनके सराहनीय कार्य व महत्त्वपूर्ण योगदान के लिए DM व SSP द्वारा वरिष्ठ जनप्रतिनिधिगण, पुलिस/प्रशासनिक अधिकारीगण की उपस्थिति में सम्मानित किया गया।

इस दौरान मुख्यमंत्री योगी ने पूर्व की सरकारों पर इशारों इशारों में तंज कसते हुए कहा, ”महिला सुरक्षा को लेकर इससे पहले के वातावरण से हर व्यक्ति परिचित है। महिलाओं में असुरक्षा के इसी भाव को दूर करने के लिए मिशन शक्ति को सरकार ने आगे बढ़ाया है। जिन महिलाओं को आज सम्मान मिला है वह दूसरों के लिए प्रेरणा बन सकती हैं।”

उन्होंने कहा पिछली सरकारों में @Uppolice में बालिकाएँ भर्ती तो होती थीं, लेकिन उन्हें फील्ड-ड्यूटी नहीं दी जाती थी। इससे बालिकाओं के मन में ‘पुरुषों से कम होने का’ भाव रहता था। हम लोगों ने प्रदेश की बेटियों को प्रोत्साहित करते हुए 10,000 से अधिक महिला बीट पुलिस अधिकारियों की तैनाती की है।

उन्होंने कहा कि मिशन शक्ति के तीसरे चरण को हम सभी सकारात्मक सहभागिता से सफल बनाने में सहयोग करें और एक समतामूलक समाज के निर्माण में सहभागी बनें। 

बता दें कि मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के तहत 1.55 लाख बेटियों के खातों में 30.12 करोड़ रुपए भेजे गए हैं। 10 हजार से अधिक महिला आरक्षियों की बीट अधिकारी पद पर तैनाती की गई है। वहीं, महिला बटालियनों के लिए 2982 पदों के लिए विशेष भर्ती होगी। इस दौरान 84.79 करोड़ की लागत से 1286 थानों में पिंक टॉयलेट के निर्माण का शिलान्यास किया गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज योगेश है, कल हरीश था: अलवर में 2 साल पहले भी हुई थी दलित की मॉब लिंचिंग, अंधे पिता ने कर ली थी...

आज जब राजस्थान के अलवर में योगेश जाटव नाम के दलित युवक की मॉब लिंचिंग की खबर सुर्ख़ियों में है, मुस्लिम भीड़ द्वारा 2 साल पहले हरीश जाटव की हत्या को भी याद कीजिए।

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालत में मौत: पंखे से लटकता मिला शव, बरामद हुआ सुसाइड नोट

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालात में मौत हो गई है। महंत का शव बाघमबरी मठ में सोमवार को फाँसी के फंदे से लटकता मिला।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,474FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe