Monday, August 15, 2022
Homeदेश-समाजवृन्दावन के निधिवन में जूते पहन कर रात में घुसा यूट्यूबर, वीडियो देखकर भड़के...

वृन्दावन के निधिवन में जूते पहन कर रात में घुसा यूट्यूबर, वीडियो देखकर भड़के श्रद्धालु: यूपी पुलिस ने किया दिल्ली से गिरफ्तार

गौरव शर्मा द्वारा यह वीडियो 10 नवम्बर को बनाया गया था। गौरव ने निधिवनराज की दीवार अवैध रूप से फाँदी थी। आरोपित ने ये वीडियो वायरल भी कर दिया था। इस कृत्य को सैकड़ों वर्ष पुरानी परंपरा का टूटना बता कर मथुरा - वृन्दावन के संतों और श्रद्धालुओं में आक्रोश फ़ैल गया था।

उतर प्रदेश की मथुरा पुलिस ने वृंदावन स्थित निधिवनराज की बिना अनुमति रात में वीडियो बनाने वाले यू-ट्यूबर गौरव शर्मा गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है। यह गिरफ्तारी दिल्ली से की गई है। इस मामले की शिकायत मंदिर के सेवायत रोहित कृष्ण पुत्र भीक चंद्र गोस्वामी ने की थी। पुलिस ने आरोपित गौरव शर्मा पर आईपीसी की धारा 295 (ए) एवं आईटी एक्ट की धारा 66 के तहत कार्रवाई की है। मथुरा पुलिस के एसपी सिटी ने इस गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार गौरव शर्मा द्वारा यह वीडियो 10 नवम्बर 2021 (बुधवार) को बनाया गया था। आरोपित गौरव शर्मा ने निधिवनराज की दीवार अवैध रूप से फाँदी थी। आरोपित ने ये वीडियो वायरल भी कर दिया था। इस कृत्य को सैकड़ों वर्ष पुरानी परंपरा का टूटना बता कर मथुरा – वृन्दावन के संतों और श्रद्धालुओं में आक्रोश फ़ैल गया था।

मथुरा पुलिस ने 13 नवम्बर 2021 (शनिवार) को अज्ञात व्यक्तियों के विरुद्ध FIR संख्या 1015 / 2021 के तहत मुकदमा दर्ज किया था। जाँच के दौरान आरोपित की पहचान गौरव शर्मा के रूप में हुई। पुलिस ने गौरव शर्मा को दिल्ली के पंचशील पार्क से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने गौरव को केस में मुख्य अभियुक्त बनाया है। गौरव पर अपने आधे दर्जन साथियों के साथ निधिवन की परम्परा को तोड़ने का आरोप है। गौरव ने निधिवन में जूते पहन कर प्रवेश किया था। जबकि उसके सहयोगी ने जूते बाहर उतार दिए थे। पुलिस इस मामले में गौरव के बाकी साथियों की भी तलाश कर रही है। अन्य आरोपितों के नाम प्रशांत और मोहित हैं। पुलिस की जाँच में अभिषेक और एक अन्य अज्ञात युवक भी है।

पुलिस के अनुसार गिरफ्तार गौरव उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ के इगलास थाना क्षेत्र का स्थाई निवासी है। फ़िलहाल वह दिल्ली के मालवीय नगर में रहता है। गौरव पिछले 5 वर्षों से गौरव ज़ोन नाम से यूट्यूब चैनल चलाता है। पिछले 6 नवम्बर को वह मथुरा के महोली में रहने वाले अपने चाचा राजकुमार के घर आया था। गौरव के चचेरे भाई प्रशांत ने उसे निधिवन के बारे में बताया था। उसने सुना कि निधिवन में कोई भी रात में नहीं रुक सकता क्योकि रुकने वाला या तो मर जाता है या पागल हो जाता है। इसके बाद गौरव ने निधिवन में अवैध रूप से घुस कर वहाँ की परम्परा तो तोड़ते हुए वीडियो शूटिंग की थी।

पुलिस के अनुसार निधिवन तक पहुँचने के लिए आरोपित गौरव ने बलेनो कार UP 85 BK 0468 का इस्तेमाल किया था। गौरव ने पुलिस को बताया था कि वो अपने यूट्यूब चैनल से हर महीने 50 – 60 हजार रुपए कमा लेता था। वह निधिवन के अंदर लगभग 20 मिनट तक रहा था। खुद पर FIR दर्ज होने की बात सुन कर गौरव ने अपने यूट्यूब से उस वीडियो को डिलीट कर दिया था। इसी के साथ गौरव ने अपने मोबाईल से भी उस वीडियो को हटा दिया था। आरोपित गौरव की गिरफ्तारी के लिए थाना वृन्दावन पुलिस, साइबर क्राइम सेल, क्राइम ब्रान्च ने साझा अभियान चलाया था। मथुरा पुलिस ने गौरव को धार्मिक सौहार्द बिगाड़ने का प्रयास करने वाला आरोपित भी बताया है।

गौरतलब है कि यू ट्यूबर गौरव शर्मा इससे पहले भी जेल जा चुका है। मई 2021 में 32 वर्षीय गौरव शर्मा सोशल मीडिया पर कुत्ते को हीलियम गुब्बारे के साथ बाँधकर हवा में उड़ाने के मामले में गिरफ्तार किया गया था। आरोपित और उसकी माँ के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम की धारा 188, 269, 34 के तहत कार्रवाई की गई थी। दोनों के खिलाफ पशु कल्याण संगठन पीपल फॉर एनिमल्स (पीएफए) ने शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद दिल्ली की मालवीय नगर थाना पुलिस ने एक्शन लेते हुए गौरव और उसकी माँ के खिलाफ कार्रवाई की थी। यूट्यूबर गौरव ने इस घटना का भी वीडियो अपने YouTube चैनल ‘गौरवज़ोन’ पर अपलोड किया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्वतंत्रता के हुए 75 साल, फिर भी बाँटी जा रही मुफ्त की रेवड़ी: स्वावलंबन और स्वदेशी से ही आएगी आर्थिक आत्मनिर्भरता

जब हम यह मानते हैं कि सत्य की ही जय होती है तब ईमानदार सत्यवादी देशभक्त नेताओं और उनके समर्थकों को ईडी आदि से भयभीत नहीं होना चाहिए।

जालौर में इंद्र मेघवाल की मौत: मृतक की जाति वाले टीचर ने नकारा भेदभाव, स्कूल में 8 में से 5 स्टाफ SC/ST

जालौर में इंद्र मेघवाल की मौत पर दावा कि आरोपित हेडमास्टर ने मटकी से पानी पीने पर मारा, जबकि अन्य लोगों का कहना है कि वहाँ कोई मटकी नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,900FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe