Saturday, April 13, 2024
Homeविचारराजनैतिक मुद्दे'चीन, पाक, इस्लामिक जिहादी ताकतें हो या नक्सली कम्युनिस्ट गैंग, सबको एहसास है भारत...

‘चीन, पाक, इस्लामिक जिहादी ताकतें हो या नक्सली कम्युनिस्ट गैंग, सबको एहसास है भारत को अभी न रोक पाए, तो नहीं रोक पाएँगे’

दुश्मनों में झुँझलाहट हैं। चीन हो या पाकिस्तान, इस्लामिक जेहादी ताकतें हो या नक्सली कम्युनिस्ट गैंग, सबको अहसास है कि भारत को अभी नहीं रोक पाए तो कभी नहीं रोक पाएँगे। झूठ, छल कपट, युद्ध, आंतरिक अस्थिरता सब हथियार चलाए जा रहे हैं।

आज सुबह-सुबह एक खबर आई कि अयोध्या में रामलला का भव्य मंदिर निर्माण शुरू हो गया। आज (26 मई, 2020) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा हुआ है। मोदी 2.0 का प्रथम वर्ष पूरा हुआ। क्या शानदार एक साल, शायद स्वतंत्र भारत के इतिहास का सबसे ज्यादा अदभुत और ऐतिहासिक साल।

कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म हुई। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण शुरू हुए। देश के कृषि और आर्थिक क्षेत्र के सबसे बड़े इकोनॉमिक रिफार्म शुरू किए जा रहे हैं। भारत ने पाक अधिकृत जम्मू कश्मीर को पुनः वापस लेने की तरफ निश्चयात्मक कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। आतंकी और देश विरोधी शक्तियों का पूरा नेटवर्क ध्वस्त किया जा रहा है। पूरी दुनिया मे प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में एक ‘नई इंडिया ब्रांड’ स्थापित होना शुरू हुआ है। मोदी इस ब्रांड इंडिया के विजिनरी भी हैं और प्रतीक भी।

कोरोना की खबरों के बीच एक ऐतिहासिक फैसला हुआ। किसान को APMC और एसेंशियल कमोडिटी की जंजीरों से आजाद करने का फैसला। 70 साल से अन्नदाता के हाथ पैर बाँध कर खेती करवाई जा रही थी। भारतीय किसानों की असली ताकत अब दुनिया को देखने को मिलेगी। भारतीय सेना आधुनिकतम हथियारों को खरीद रही है। जिसके लिए 15-20 सालों से सेना को इंतजार करवाया जा रहा था। लघु और कुटीर उद्योगों को भारत की आर्थिक प्रगति की रीढ़ के रूप में बनाने के लिए नींव डाली जा रही है।

भारत की संस्कृति और आध्यात्मिक शक्ति को अब सम्मान के साथ दुनिया देख रही है। ब्राजील के राष्ट्रपति जब भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हैं तो हनुमान जी का उदाहरण देते हैं। भारत अब याचक नहीं दाता की भूमिका में आ रहा है। अंतरराष्ट्रीय मंचों पर बराबरी से खड़ा राष्ट्र जिसको खुद पर भरोसा है।

कोरोना से लड़ने के लिए सार्क का नेतृत्व हो या G 20 देशों की रणनीति का संचालन, म्यांमार से आतंकवादियों का सौंपा जाना हो या अमेरिका द्वारा अलकायदा के आतंवादी को भारत को दिया जाना, रशिया से S 400 की डील हो या राफेल पर चमकता ‘ॐ’ का निशान- ये नया भारत है और गर्व से खड़ा है।

भारत एक राष्ट्र के रूप में उस मोड़ पर खड़ा है, जहाँ दुनिया का हर महान राष्ट्र और हर महान सभ्यता कभी ना कभी जरूर पहुँचती है। जब एक राष्ट्र के पास सक्षम दूरदर्शी और साहसी नेता होता हैं, बड़े सपने और उन सपनों को पूरा करने को तैयार करोड़ों देशभक्त नागरिक एक साथ एक यात्रा शुरू करते हैं।

अगले 15 से 20 साल भारत के लिए निर्णायक होंगे। आर्थिक, सामरिक, आध्यात्मिक सुपर पावर की ओर बढ़ता हुआ भारत।पिछले लगभग 1000 साल की जंजीरों को झटक कर पुनः अपने पूरे तेज के साथ मुस्कराती हुई भारत माता, मोदी 2.0 का पहला साल ये बताने के लिए काफी है कि भारत के दुश्मन भारत की इस यात्रा को असफल करने के लिए किसी भी हद्द तक जाने को तैयार हैं।

दुश्मनों में झुँझलाहट हैं। चीन हो या पाकिस्तान, इस्लामिक जेहादी ताकतें हो या नक्सली कम्युनिस्ट गैंग, सबको अहसास है कि भारत को अभी नहीं रोक पाए तो कभी नहीं रोक पाएँगे। झूठ, छल कपट, युद्ध, आंतरिक अस्थिरता सब हथियार चलाए जा रहे हैं।

परन्तु, पीएम मोदी के तेजस्वी नेतृत्व और भारत के करोड़ों नागरिकों के संकल्प के आगे इन सब षड्यंत्रों का ध्वस्त होना सुनिश्चित है। आत्मनिर्भर भारत का जो संकल्प पीएम मोदी ने देश को दिया है, ये उसी प्रकार का ऐतिहासिक संकल्प है, जैसा महात्मा गाँधी ने दिया था। जब उन्होंने “करो या मरो” का आह्वान किया था, या जब मार्टिन लूथर किंग ने “आई हैव ए ड्रीम” का भाषण दिया था या जब चर्चिल ने द्वितीय विश्वयुद्ध में “वी शेल फाइट ऑन द बीचेस” का आह्वान किया था।

एक करिश्माई नेतृत्व का सपनों से भरा, संकल्प शक्ति से पूर्ण आह्वान और पूरा राष्ट्र, पूरा समाज एक साथ एक अद्भुत यात्रा पर चल पड़ता है। इस शानदार एक वर्ष की बधाई, अगले चार साल अद्भुत होंगे। आइए इस यात्रा में उत्साह और संकल्प के साथ बढ़ते रहें।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Kapil Mishra
Kapil Mishra
Kapil Mishra is a BJP leader and a former member of Delhi Legislative Assembly.

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसानों को MSP की कानूनी गारंटी देने का कॉन्ग्रेसी वादा हवा-हवाई! वायर के इंटरव्यू में खुली पार्टी की पोल: घोषणा पत्र में जगह मिली,...

कॉन्ग्रेस के पास एमएसपी की गारंटी को लेकर न कोई योजना है और न ही उसके पास कोई आँकड़ा है, जबकि राहुल गाँधी गारंटी देकर बैठे हैं।

जज की टिप्पणी ही नहीं, IMA की मंशा पर भी उठ रहे सवाल: पतंजलि पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, ईसाई बनाने वाले पादरियों के ‘इलाज’...

यूजर्स पूछ रहे हैं कि जैसी सख्ती पतंजलि पर दिखाई जा रही है, वैसी उन ईसाई पादरियों पर क्यों नहीं, जो दावा करते हैं कि तमाम बीमारी ठीक करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe