Wednesday, June 19, 2024
Homeराजनीति'बयानबाजी में 12 लाख नौकरियाँ, लेकिन RTI में सिर्फ 3246': CM केजरीवाल के दावे...

‘बयानबाजी में 12 लाख नौकरियाँ, लेकिन RTI में सिर्फ 3246’: CM केजरीवाल के दावे पर कपिल मिश्रा की चुनौती – लिस्ट दिखाओ

कपिल मिश्रा ने कहा, "अरविंद केजरीवाल, कृपया इन 12 लाख लोगों की लिस्ट दिखाओ, सबको निमंत्रण पत्र भेजना हैं। आओगे ना ?"

भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के उस दावे पर सवाल उठाया है जिसमें उन्होंने पिछले 5 वर्षों में दिल्ली में 12 लाख नौकरियाँ देने का दावा किया था। #केजरीवाललिस्टदिखा नाम के हैशटैग के साथ उन्होंने इस बावत एक ट्वीट भी किया है। इस ट्वीट में RTI के माध्यम से माँगी गई एक जानकारी भी अटैच है जिसके आधार पर कपिल मिश्रा ने मनीष सिसोदिया और अरविंद केजरीवाल पर झूठ बोलने का आरोप लगाया है। कपिल मिश्रा ने यह ट्वीट 27 मार्च, 2022 (रविवार) को किया है।

कपिल मिश्रा ने अपने ट्वीट में लिखा, “RTI से मिली जानकारी के अनुसार केजरीवाल सरकार ने पिछले 7 सालों में सिर्फ 3246 नौकरियाँ दी हैं। केजरीवाल और सिसोदिया दोनों झूठ बोल रहे हैं। अरविन्द केजरीवाल को फिर से खुली चुनौती है कि अगर उन्होंने 12 लाख लोगों को नौकरी दी है तो उनकी लिस्ट सार्वजनिक करें।” दोनों RTI जवाबों के मुताबिक कुल 3246 नौकरियाँ शिक्षा, ऑडिट, सोशल वेलफेयर, सामान्य प्रशासन, स्वास्थ्य, शहरी विकास, लीगल जैसे विभागों में दी गई है। यह डाटा साल साल 2015 से माँगा गया है।

कपिल मिश्रा ने एक अन्य ट्वीट करते हुए लिखा, “मैं केजरीवाल और उन सभी 12 लाख लोगों का रामलीला मैदान में सम्मान समारोह आयोजित करूँगा जिनको केजरीवाल ने नौकरी दी है। अरविंद केजरीवाल, कृपया इन 12 लाख लोगों की लिस्ट दिखाओ, सबको निमंत्रण पत्र भेजना हैं। आओगे ना ?”

दरअसल दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने 26 मार्च (शनिवार) को दिल्ली की विधानसभा में बजट पेश किया था। इसी बजट सत्र में बोलते हुए अरविन्द केजरीवाल ने कहा था, “हमने पिछले 5 सालों में राजधानी दिल्ली में 12 लाख नौकरियाँ दी हैं। इसी के साथ 1.8 लाख नौकरियाँ सरकारी क्षेत्र और 10 लाख नौकरियाँ प्राइवेट क्षेत्र में सृजित की गई हैं।” लेकिन RTI द्वारा मिले जवाब में केजरीवाल के दावों का मात्र 2% हिस्सा ही पूरा होना दिखाई दे रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पेट्रोल-डीजल के बाद पानी-बस किराए की बारी, कर्नाटक में जनता पर बोझ खटाखट: कॉन्ग्रेस की ‘रेवड़ी’ से खजाना खाली, अब कमाई के लिए विदेशी...

कर्नाटक की कॉन्ग्रेस सरकार की रेवड़ी योजनाएँ राज्य को महँगी पड़ रही हैं। पेट्रोल-डीजल के बाद अब पानी के दाम और बसों के किराए बढ़ाने की योजना है।

पूरी हुई 832 साल की प्रतीक्षा, राष्ट्र को PM मोदी ने समर्पित की नालंदा की विरासत: कहा- आग की लपटें ज्ञान को नहीं मिटा...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार के राजगीर में नालंदा विश्वविद्यालय के नए परिसर का उद्धघाटन किया। नया परिसर नालंदा विश्वविद्यालय के प्राचीन खंडहरों के पास है

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -