Tuesday, February 27, 2024
HomeराजनीतिAAP ने अलका लाम्बा को किया व्हाट्सएप्प ग्रुप से पदच्युत, जोड़ने-निकालने पर अलका ने...

AAP ने अलका लाम्बा को किया व्हाट्सएप्प ग्रुप से पदच्युत, जोड़ने-निकालने पर अलका ने किए मार्मिक ट्वीट

आत्ममुग्ध बौने के नाम से ट्विटर पर प्रसिद्द अरविन्द केजरीवाल को फिरसे 'ट्रिगर' करते हुए अलका लाम्बा ने लिखा है कि कुछ अंदरूनी सूत्र उन्हें बता रहे हैं कि अरविन्द केजरीवाल को नवीन पटनायक की तारीफ पसंद नहीं आई इसलिए उन्हें व्हाट्सएप्प ग्रुप से निकाल दिया गया है।

आम आदमी पार्टी के सबसे ख़ास बात ये है कि दुनिया में चाहे कुछ भी चल रहा हो, ये पार्टी लोगों के मनोरंजन में कमी नहीं होने देती है। इस पार्टी नेताओं की हरकतों से ऐसा महसूस होता है मानो इस पार्टी का जन्म व्हाट्सएप्प ग्रुप में जोड़ने और निकालने को राष्ट्रीय चर्चा बनाने के लिए ही हुआ था।

ताजा प्रकरण दिल्ली, चाँदनी चौक से AAP विधायक अलका लाम्बा को लेकर है। अलका लाम्बा से पार्टी की नाराजगियाँ सास-बहू धारावाहिक की तरह ही हर दूसरे दिन ट्विटर पर देखने को मिलती हैं। इस बार दिल्ली में लोकसभा चुनाव में एक भी सीट जीत पाने में नाकाम रही अरविन्द केजरीवाल की यह पार्टी अंदरूनी उठापटक झेल रही है।

अलका लाम्बा ने चुनाव नतीजे आने के बाद ट्विटर पर अरविन्द केजरीवाल को कुछ नसीहत दे डाली थी, जिसका परिणाम ये हुआ कि आम आदमी पार्टी ने अपनी विधायक को व्हाट्सएप्प ग्रुप से ही निकाल दिया। इस दुखद और बेहद मार्मिक घटना ने अलका लाम्बा के मन को गहरी ठेस लगाईं और उन्होंने ट्विटर पर अपना दुःख व्यक्त कर फिरसे व्हाट्सएप्प ग्रुप की चर्चा छेड़ दी है।

24 मई को अलका लाम्बा ने ट्वीट करते हुए लिखा था, “काश किसी की कुछ तो सुनी होती, जीतते ना सही, कम से कम जमानत तो जप्त ना होती। 2015 में 70 में से 67 जीतने वाले 2019 आते-आते 7 में से 3 पर जमानत ही जब्त करवा बैठे। अभी भी देर नही हुई, जनता को हमेशा एक अच्छे विकल्प की तलाश रहती है, बस जरूरत है फ़ालतू के घमंड को छोड़कर, हार से सबक लेने की।”

शायद इस घमंड वाली बात से ही अरविन्द केजरीवाल ‘ट्रिगर’ हो गए और उनके हारे हुए प्रत्याशियों ने उनके इशारे पर अलका लाम्बा को ग्रुप से बाहर कर दिया। इसके बाद आज अलका लाम्बा ने कुछ और बेहद करुणामय और मार्मिक ट्वीट के माध्यम से अपनी बात सामने रखते हुए लिखा है कि बार-बार व्हाट्सएप्प ग्रुप में जोड़ने-निकालने से बेहतर होता, इससे ऊपर उठकर कुछ सोचते, बुलाते, बात करते, गलतियों और कमियों पर चर्चा करते, सुधार करके आगे बढ़ते। बता दें कि विगत मार्च के महीने ही उन्हें आम आदमी पार्टी के MLA वाले ग्रुप से निकाल दिया गया था। लेकिन, उस समय उन्हें फिरसे जोड़ लिया गया था।

इसके बाद अलका लाम्बा ने शक जाहिर करते हुए कल का ही एक ट्वीट रीट्वीट किया, जिसमें उन्होंने ओडिशा मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के नेतृत्व की तारीफ़ की थी। इसमें अलका लाम्बा ने लिखा है कि महागठबंधन के लिए इधर-उधर भागने से बढ़िया था कि नवीन पटनायक की तरह एक राज्य पर फोकस करते।

आत्ममुग्ध बौने के नाम से ट्विटर पर प्रसिद्द अरविन्द केजरीवाल को फिरसे ‘ट्रिगर’ करते हुए अलका लाम्बा ने लिखा है कि कुछ अंदरूनी सूत्र उन्हें बता रहे हैं कि अरविन्द केजरीवाल को नवीन पटनायक की तारीफ पसंद नहीं आई इसलिए उन्हें व्हाट्सएप्प ग्रुप से निकाल दिया गया है। हालाँकि, अलका लाम्बा ने यह स्पष्ट नहीं किया है कि यह अंदरूनी सूत्र उस व्हाट्सएप्प ग्रुप में अभी तक मौजूद हैं या फिर उनको भी निकाल दिया गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आर्टिकल 370 ने बॉक्स ऑफिस पर गाड़ा झंडा, लेकिन खाड़ी के मुस्लिम देशों में लग गया बैन, जानिए क्या है पूरा मामला

आर्टिकल फिल्म ने शुरुआती तीन दिनों में ही करीब 26 करोड़ का बिजनेस कर लिया। इस बीच, खबर सामने आ रही है कि खाड़ी देशों के 6 देशों में से 5 देशों ने आर्टिकल 370 फिल्म पर बैन लगा दिया है।

‘हालेलुइया… मैं गरीब थी अब MLA बन गई हूँ’: जो पादरी रेप के आरोप में हुआ था गिरफ्तार, उसके पैरों में झुकी कॉन्ग्रेस की...

छत्तीसगढ़ की कॉन्ग्रेस विधायक कविता प्राण लहरे का रेप के आरोपित पादरी बजिंदर सिंह को 'पप्पा जी' कहने और पैर छूने का वीडियो वायरल

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
418,000SubscribersSubscribe