Monday, July 26, 2021
Homeराजनीति'गा$ चाटू हो तुम मोदी के': गालीबाज AAP विधायक कादियान के बाद केजरीवाल 'गैंग'...

‘गा$ चाटू हो तुम मोदी के’: गालीबाज AAP विधायक कादियान के बाद केजरीवाल ‘गैंग’ के वायरल हुए कई घटिया ट्वीट

ट्वीट्स को देख कर पता लगता है कि उन्हें मोदी समर्थकों से कितनी घृणा है कि वह 7 साल पहले भी उनके परिजनों को भी माँ-बहन की गाली देने से गुरेज नहीं करते थे।

आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक वीरेंद्र सिंह कादियान के अपमानजनक व नारी विरोधी ट्वीट्स के बाद कई पार्टी सदस्य एक जैसे विवाद में शामिल पाए गए हैं। दरअसल सोमवार (8 मार्च 2021) को AAP के आईटी सेल हेड प्रभाकर पांडे के भी कुछ ट्वीट वायरल हुए। ये ट्वीट 2014 में किए गए थे। 

ट्वीट्स को देख कर पता लगता है कि उन्हें मोदी समर्थकों से कितनी घृणा है कि वह 7 साल पहले भी उनके परिजनों को भी माँ-बहन की गाली देने से गुरेज नहीं करते थे।

प्रभाकर पांडे के ट्वीट के स्क्रीनशॉट

शर्मनाक बात ये है कि प्रभाकर ने सिर्फ़ ट्विटर यूजर को भद्दी-भद्दी गालियाँ नहीं दी बल्कि यूजर की माँ को भी तमाम अभद्र बातें कहीं। हालाँकि जब सोशल मीडिया पर ये सब ट्वीट वायरल होने शुरू हो गए तो AAP सदस्य ने अपना अकॉउंट प्राइवेट कर दिया।

प्रभाकर पांडे के ट्वीट के स्क्रीनशॉट
प्रभाकर पांडे के ट्वीट के स्क्रीनशॉट
प्रभाकर पांडे ने किया अकॉउंट प्राइवेट

AAP समर्थक डॉ सफीन और उनकी अभद्र भाषा

एक अन्य आम आदमी पार्टी समर्थक डॉ सफीन भी इस बीच अपने आपत्तिजनक ट्वीट के कारण चर्चा में आए। एक में उन्हें उन्हें अकॉउंट्स से लिखा देखा जा सकता है, “गा% चाटू हो तुम मोदी के।” इसके अलावा दूसरे ट्वीट में देख सकते हैं कि डॉ सफीन लिखते हैं, “गां% फटना किसे कहते हैं, ये जानना हो तो बीजेपी की फटी हुई देख लो AAP की रैली से। पुलिस उनके हाथ में है और उन्होंने मंजूरी नहीं दी।”

साल 2015 में डॉ सफीन ने भारतीय मीडिया को भी टारगेट किया था। इसमें सफीन ने लिखा था, “मीडिया: हम लोकतंत्र के चौथे स्तंभ हैं। जनता: कम%$ घु$% दो स्तंभ अपनी गा% में, ईमान तो बेच दिया।”

एक महिला ट्विटर यूजर पर निशाना साधते हुए AAP के इसी समर्थक ने कहा, “पूरी बीजेपी और कॉन्ग्रेस को अपनी गा% में डाल दे फिर भी इनकी इतनी औकात नहीं कि AK को हिला भी सके।”

आम आदमी पार्टी के ट्रोल और नारी विरोधी रवैया

इसी तरह एक और AAP ट्रोल कपिल भी बेहूदगी पार करने में अपने नेताओं से अलग नहीं हैं। कपिल ने साल 2014 के अपने ट्वीट में लिखा, “भाजपा का विज्ञापन? अरविंद केजरीवाल, शाजिया इल्मी, तेरी माँ की चू%…किसको चू*&^ बना रहा है।”

दूसरे ट्वीट में कपिल ने लिखा, “अपनी बहन का फोन नंबर समझ रखा है जो वो रेलवे की टॉयलेट में लिख के छोड़ के आती है।”

AAP विधायत वीरेंद्र सिंह कादियान के विवादित ट्वीट

गौरतलब है कि इन आप समर्थकों के ट्वीट वायरल होने से पहले  दिल्ली की कैंट विधानसभा क्षेत्र से आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक के स्क्रीनशॉट वायरल हुए थे। इनमें अपशब्दों की भरमार थी। देवी-देवताओं से लेकर महिलाओं, हिंदुओं, पत्रकारों और राजनीतिक प्रतिद्वंदियों को माँ-बहन तक की गाली दी गई थी।

एक ट्वीट में वीरेंद्र सिंह ने लिखा था, “ये सारे बाबा चू%^* हैं। इनसे बड़े चू%^* हैं वो नमूने जो इनका प्रवचन सुनते हैं। माँ के लाडलो हमारे 33 करोड़ डॉगी देवी देवता कम पड़ गए थे?”

इसके अलावा कुछ ट्वीट्स में देख सकते हैं कि वो सोशल मीडिया पर खुलेआम गालियाँ बक रहे थे। जून 2017 को दी गई रिप्लाइज में उन्होंने कई लोगों को माँ-बहन की गाली दी है। 

बता दें कि ट्वीट पर हुए विवाद के बाद वीरेंद्र सिंह कादियान ने अकाउंट हैक हो जाने का दावा करते हुए अपनी प्रोफ़ाइल डिएक्टिवेट कर ली है। ऐसा करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की भी उन्होंने बात कही है। सोशल मीडिया में यूजर्स पूछ रहे हैं कि उनके 2016-2020 तक के कई ट्वीट्स निकल के सामने आए हैं, क्या इतने वर्षों तक उनका हैंडल हैक ही रहा? बता दें कि कादियान के ट्वीट्स बताकर जो स्क्रीनशॉटस वायरल हो रहे हैं वे हालिया नहीं हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,226FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe