Sunday, August 1, 2021
Homeराजनीतितृणमूल कॉन्ग्रेस बांग्लादेश में कर रही है चुनाव प्रचार, फेसबुक पर जारी है वोटों...

तृणमूल कॉन्ग्रेस बांग्लादेश में कर रही है चुनाव प्रचार, फेसबुक पर जारी है वोटों की अपील

ममता बनर्जी फेसबुक के ज़रिए बांग्लादेश में वोट की अपील क्यों कर रही हैं, इसके पीछे क्या कारण है यह कोई नहीं जानता। जबकि यह सर्वविदित है कि भारतीय चुनावों में केवल भारतीय नागरिक ही वोट कर सकते हैं।

ममता सरकार का विवादों से गहरा नाता है, जिसे निभाने में वो कोई कोर-कसर नहीं छोड़ती। ऐसा ही एक और विवाद वीडियो के रूप में सामने आया है।


इस वीडियो में ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली TMC (तृणमूल कॉन्ग्रेस) के आधिकारिक फेसबुक पेज पर सूचना और विज्ञापनों पर जब क्लिक किया जाता है, तो आप उन देशों को देख सकते हैं जहाँ TMC लोकसभा चुनाव में वोट देने की अपील कर रही है। ड्रॉप-डाउन वाले विकल्प पर क्लिक करने पर जब एक देश के रूप में ‘बांग्लादेश’ का चयन किया जाता है तो वहाँ TMC अपने पक्ष में वोट माँगने की अपील करती नज़र आ रही है। इससे साफ़ पता चलता है कि TMC अपने देश के अलावा दूसरे देश में भी प्रचार कर रही है। भारत में प्रचार करना तो समझ में आता है, लेकिन पड़ोसी देश बांग्लादेश में प्रचार करने का भला क्या मतलब हो सकता है?

जानकारी के मुताबिक, ममता की TMC फेसबुक पर ऐसे 13 विज्ञापन चला रही है, जिसमें एक विज्ञापन ऐसा भी शामिल है जिसमें ममता, कृष्णानगर लोकसभा क्षेत्र में लोगों से अपील कर रहीं हैं कि वे चुनावों में TMC को वोट दें। ममता फेसबुक के ज़रिए बांग्लादेश में वोट की अपील क्यों कर रही हैं, इसके पीछे क्या कारण है यह कोई नहीं जानता। यह सर्वविदित है कि भारतीय चुनावों में केवल भारतीय नागरिक ही वोट कर सकते हैं।

बांग्लादेश में वोट की अपील करने वाली पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री को सोशल मीडिया पर यूज़र्स ने आईना दिखाने का काम किया।

बांग्लादेश में वोट की अपील करने वाली पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री को सोशल मीडिया पर यूज़र्स ने आईना दिखाने का काम किया। इस बात की पुष्टि करने के लिए ऑपइंडिया ने जब उनसे सम्पर्क साधा, तो जवाब मिला कि तृणमूल बांग्लादेश में ऐसा कोई विज्ञापन नहीं कर रही है।

यह पहली बार नहीं है कि ममता ने पड़ोसी देश बांग्लादेश में वोट की अपील की हो। इस महीने की शुरुआत में, दो बांग्लादेशी अभिनेताओं को पश्चिम बंगाल में ममता की TMC के लिए प्रचार करते हुए पाया गया था। बांग्लादेशी अभिनेता फिरदौस अहमद और गाज़ी अदबुन नूर बांग्लादेश के कुछ हिस्सों में TMC के लिए प्रचार कर रहे थे। जबकि फिरदौस के वीज़ा को विदेश मंत्रालय द्वारा ब्लैकलिस्ट किया गया था। बाद में पता चला था कि अदबुन नूर के वीज़ा की अवधि भी समाप्त हो चुकी थी।

पश्चिम बंगाल, बांग्लादेश के साथ एक ऐसी अंतरराष्ट्रीय सीमा शेयर करता है जिसके ज़रिए बांग्लादेश से अवैध घुसपैठ होती है, जो भारत की सुरक्षा के लिए चिंता का विषय है। ममता बनर्जी के पास क्या अपने देश में वोट की अपील करने के लिए कोई मुद्दा ही नहीं है, जो बांग्लादेश में वोट की अपील कर वह अपनी राजनीति के गिरते स्तर की नुमाइश कर रहीं हैं?


  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मानसिक-शारीरिक शोषण से धर्म परिवर्तन और निकाह गैर-कानूनी: हिन्दू युवती के अपहरण-निकाह मामले में इलाहाबाद HC

आरोपित जावेद अंसारी ने उत्तर प्रदेश में 'लव जिहाद' के खिलाफ बने कानून के तहत हो रही कार्रवाई को रोकने के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट का रुख किया था।

गोविंद देव मंदिर: हिंदू घृणा के कारण औरंगजेब ने जिसे आधा ढाह दिया… और उसके ऊपर इस्लामिक गुंबद बना नमाज पढ़ी

भगवान गोविंद देव अर्थात श्रीकृष्ण का यह मंदिर वृंदावन के सबसे पुराने मंदिरों में से एक। मंदिर के विशालकाय दीपक की चमक इसकी शत्रु साबित हुई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,352FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe