Friday, June 21, 2024
Homeराजनीति'अब बाहुबली नहीं, बजरंग बली हैं': यूपी में अमित शाह ने सपा-बसपा पर बोला...

‘अब बाहुबली नहीं, बजरंग बली हैं’: यूपी में अमित शाह ने सपा-बसपा पर बोला हमला, कहा – योगी की सरकार में चलता है कानून का सिक्का

"सपा-बसपा के शासन में उत्तर प्रदेश माफियाओं का सेंटर बन गया था। यूपी में आए दिन दंगे होते थें, बहन-बेटियों का सम्मान नहीं था, भूमाफिया गरीबों की भूमि हड़पते थे।"

समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) पर अपराधी तत्वों को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि उत्तर प्रदेश की मौजूदा योगी आदित्यनाथ सरकार में कानून का सिक्का चलता है। विपक्ष के शासन में हर जिले में एक बाहुबली, एक माफिया होता था और अब राज्य में बाहुबली नहीं बल्कि बजरंगबली दिखाई देते हैं। योगी ने बाहुबलियों के कब्जे से करीब 2,000 करोड़ की भूमि को छुड़ाकर गरीबों के आवास बनाए हैं।

उत्तर प्रदेश के बदायूँ के सहसवान के इस्लाम नगर में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रत्याशी डीके भारद्वाज के समर्थन में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि बुआ (मायावती)-बबुआ (अखिलेश यादव) की सरकारो में गुंडाराज था। जो जितना बड़ा दंगाई था, उसे उतना बड़ा सपाई समझा जाता था। गरीबों को कोई पूछने वाला नहीं था। 

उन्होंने कहा कि 2017 में राज्य की सत्ता में आई योगी सरकार ने माफिया और अपराधी तत्वों पर नकेल कसी। जिसका परिणाम है कि आज माफिया तीन जगह दिखाई देते हैं। वे या तो जेल में है या प्रदेश से बाहर है और या तो सपा का प्रत्याशी है।

गृहमंत्री ने कहा कि लोगों का कहना है कि अखिलेश जी का शासन आएगा तो यूपी में रेड लाइट और ग्रीन लाइट का शासन आ जाएगा। विकास के नाम पर वो रेड लाइट दिखा देंगे और बाहुबलियों व माफियाओं को ग्रीन लाइट दिखाकर वापस बुला लेंगे।

उन्होंने कहा, “अखिलेश जी, मुलायम जी मुख्यमंत्री थे तो इनके साथ आजम खान, अतीक अहमद, मुख्तार अंसारी दिखते थे। लेकिन आप लोगों ने तीन साल से इन्हें देखा है क्या? भाजपा सरकार ने कानून का राज स्थापित किया है। सपा की सरकार में किसी एक जाति-धर्म का विकास होता था। बहनजी की सरकार आती थी तो किसी दूसरी जाति-धर्म का ही विकास होता था। आप प्रधानमंत्री मोदी जी को लाए हैं। उनका मंत्र है, सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास-सबका प्रयास।”

गृह मंत्री ने कहा, “सपा-बसपा के शासन में उत्तर प्रदेश माफियाओं का सेंटर बन गया था। यूपी में आए दिन दंगे होते थे, बहन-बेटियों का सम्मान नहीं था, भूमाफिया गरीबों की भूमि हड़पते थे। बहनजी की और अखिलेश जी की सरकार में गुंडे उत्तर प्रदेश के लोगों को परेशान करते थे। यूपी में माफियाओं से पुलिस डरती थी। योगी आदित्यनाथ जी की सरकार में माफिया उत्तर प्रदेश से पलायन कर गए हैं।”

केंद्रीय मंत्री ने बुधवार (2 फरवरी 2022) को यूपी के अतरौली में भी रैली को संबोधित किया। उन्होंने कहा, “अखिलेश जी कोरोना टीके को लेकर देश और उत्तर प्रदेश को गुमराह किया, लेकिन बाद में खुद भी टीका लगवाया। अगर लोग उनके कहने पर टीका न लगाते तो क्या लोगों की जान बच पाती?”

गृह मंत्री ने कहा कि 2014, 2017, 2019 के चुनाव उत्तर प्रदेश की किस्मत बदलने वाले चुनाव रहे हैं। बुआ-भतीजा की सरकारें, जातिवादी सरकारें यूपी का भला नहीं कर सकती थीं। यूपी बीमारू राज्य की श्रेणी में आ गया था। भाजपा की सरकार ने बदलाव लाने का काम किया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हलाल प्रोडक्ट का विरोध करने के कारण हम निशाने पर’: जिस चोर औरंगजेब की मौत को ‘मॉब लिंचिंग’ बता बवाली हुए मुस्लिम, उसकी सच्चाई...

औरंगजेब केस में अलीगढ़ के व्यापारियों ने भाजपा सांसद को ज्ञापन देकर कहा है कि हलाल प्रोडक्ट का बहिष्कार करने के बाद से वो लोग निशाने पर हैं।

लगातार तीसरी बार नरेंद्र मोदी बने हैं PM, पर ‘पत्रकार’ बिल मेर लोकसभा चुनावों में ‘बड़ी हार’ बता अमेरिकी दर्शकों को बना रहा पोपट

बिल मेर ने दावा किया कि भारत में लोगों ने 'दक्षिणपंथी राजनीति' को अस्वीकार कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -