Thursday, May 6, 2021
Home राजनीति 'दल-बदलू नहीं समझेंगे' - Axis बैंक मामले पर अमृता फडणवीस ने प्रियंका चतुर्वेदी को...

‘दल-बदलू नहीं समझेंगे’ – Axis बैंक मामले पर अमृता फडणवीस ने प्रियंका चतुर्वेदी को लगाई लताड़

"एक्सिस बैंक मेरे परिवार का बैंक नहीं है। लेकिन एक दल-बदलू कैसे किसी की इमानदारी और कड़ी मेहनत को समझेगा! यह सिर्फ देवेंद्र और मुझे निशाना बनाने की कोशिश कर रहे हैं।"

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर आज (अक्टूबर 23, 2020) महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस (Amruta Fadnavis) और शिवसेना नेत्री प्रियंका चतुर्वेदी के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई। ये जंग 50,000 पुलिसकर्मियों के सैलरी अकॉउंट दूसरे बैंक मे ट्रांसफर करने के मुद्दे पर शुरू हुई।

कॉन्ग्रेस की पूर्व प्रवक्ता व वर्तमान में शिवसेना नेत्री ने सैलरी अकॉउंट स्थानांतरित करने को लेकर कहा कि यह कदम बेहद जरूरी था क्योंकि एक्सिस बैंक को बेहद मनमाने ढंग से चुना गया था और राज्य कर्मचारियों के सैलरी अकॉउंट उसमें ट्रांसफर हुए थे।

प्रियंका चतुर्वेदी के इसी ट्वीट का जवाब अमृता फडणवीस ने दिया। पूर्व मुख्यमंत्री की पत्नी होने के साथ एक्सिस बैंक की सीनियर एग्जीक्यूटिव होने के नाते अमृता ने शिवसेना नेता के ट्वीट की जमकर आलोचना की। अपने ट्वीट में प्रियंका चतुर्वेदी को ‘दल बदलू’ लिखते हुए उन्होंने कहा कि वह नहीं समझेंगी कि कड़ी मेहनत और इमानदारी क्या होती है।

उन्होंने बताया कि साल 2005 की तकनीक और सेवाओं में खातों का अधिग्रहण किया गया था। उन्होंने यह भी याद दिलाया कि एक्सिस बैंक उनके घर का बैंक नहीं है और वह प्राइवेट सेक्टर बैंक की सूची में तीसरा सबसे बड़ा बैंक है।

उन्होंने लिखा,

“एक्सिस बैंक मेरे परिवार का बैंक नहीं है। ये प्राइवेट सेक्टर का तीसरा सबसे बड़ा सूचिबद्ध बैंक है और मैं इसकी एक ऐसी कर्मचारी हूँ, जो पिछले 18 सालों से यहाँ काम कर रही हूँ। लेकिन एक दल बदलू कैसे किसी की इमानदारी और कड़ी मेहनत को समझेगा! ये सारे अकॉउंट का 2005 में तकनीक व बेहतर सेवाओं के लिए अधिग्रहण हुआ था।”

इस ट्वीट पर जवाब देते हुए प्रियंका ने लिखा कि अगर यह उनका पारिवारिक बैंक नहीं है तो आखिर क्यों मुंबई पुलिस के अकॉउंट ट्रांसफर की बात से वह इतना आहत हुई हैं। इसके बाद दल बदलू शब्द पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रियंका ने लिखा कि इसका जवाब एकनाथ खडसे अच्छे से दे पाएँगे, जिन्होंने हाल में भाजपा से निकल कर एनसीपी का हाथ थामा है।

गौरतलब है कि मुंबई पुलिस ने बुधवार को HDFC बैंक के साथ एक ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए थे, जिसमें 50,000 मुंबई पुलिसकर्मियों के खाते एक्सिस बैंक से एचडीएफसी में ट्रांसफर होने की बात थी। इस खबर के आने के बाद सोशल मीडिया पर लोग सवाल उठा रहे थे कि आखिर एक PSU बैंक की जगह सैलरी अकॉउंट प्राइवेट बैंक में ट्रांसफर क्यों किए जा रहे हैं।

एक ओर पुलिस जहाँ इस अकॉउंट ट्रांसफर के मुद्दे पर दावा कर रही है कि अच्छी सुविधाओं के लिए यह फैसला लिया गया है, वहीं महाविकास आघाड़ी सरकार ने हिंट दे दी है कि यह कदम अमृता फडणवीस की आलोचनाओं के बाद लिया गया है। अमृता ने यह आरोप भी लगाया है कि महाराष्ट्र सरकार ने बैंक अकाउंट ट्रांसफर करके सिर्फ़ उन्हें और उनके पति को निशाना बनाया है।

याद दिला दें कि पिछले साल से ही अमृता शिवसेना-एनसीपी-कॉन्ग्रेस के गठबंधन की कई मुद्दों पर धुर विरोधी रही हैं। उनका दावा यह भी कि 2005 में कॉन्ग्रेस एनसीपी के शासनकाल में राज्य के कर्मचारियों के खाते एक्सिस बैंक में खोले गए थे। सरकार ने यह निर्णय बेहतर तकनीक को देखते हुए व बैंक द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओं को देखकर लिया था।

इससे पहले अपने एक बयान में अमृता फडणवीस ने बताया था कि एक्सिस बैंक में कर्मचारियों के खाते साल 2005 में उनकी और देवेंद्र फडणवीस की शादी होने से पहले खोले गए थे। उन्होंने कहा था, “निजी बैंक भी भारतीय बैंक हैं और बेहतर तकनीकी सेवाएँ प्रदान करते हैं। सरकार को तर्कसंगत रूप से सोचना चाहिए। ऐसा करने से (खातों को स्थानांतरित करने), वे (सरकार) देवेंद्र और मुझे निशाना बनाने की कोशिश कर रहे हैं।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

असम में भाजपा के 8 मुस्लिम उम्मीदवारों में सभी की हार: पार्टी ने अल्पसंख्यक मोर्चे की तीनों इकाइयों को किया भंग

भाजपा से सेक्युलर दलों की वर्षों पुरानी शिकायत रही है कि पार्टी मुस्लिम सदस्यों को टिकट नहीं देती पर जब उसके पंजीकृत अल्पसंख्यक सदस्य ही उसे वोट न करें तो पार्टी क्या करेगी?

शोभा मंडल के परिजनों से मिले नड्डा, कहा- ‘ममता को नहीं करने देंगे बंगाल को रक्तरंजित, गुंडागर्दी को करेंगे खत्म’

नड्डा ने कहा, ''शोभा मंडल के बेटों, बहू, बेटी और बच्चों को (टीएमसी के गुंडों ने) मारा और इस तरह की घटनाएँ निंदनीय है। उन्होंने कहा कि बीजेपी और उसके करोड़ों कार्यकर्ता शोभा जी के परिवार के साथ खड़े हैं।

‘द वायर’ हो या ‘स्क्रॉल’, बंगाल में TMC की हिंसा पर ममता की निंदा की जगह इसे जायज ठहराने में व्यस्त है लिबरल मीडिया

'द वायर' ने बंगाल में हो रही हिंसा की न तो निंदा की है और न ही उसे गलत बताया है। इसका सारा जोर भाजपा द्वारा इसे सांप्रदायिक बताए जाने के आरोपों पर है।

TMC के हिंसा से पीड़ित असम पहुँचे सैकड़ों BJP कार्यकर्ताओं को हेमंत बिस्वा सरमा ने दो शिविरों में रखा, दी सभी आवश्यक सुविधाएँ

हेमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट करके जानकारी दी कि पश्चिम बंगाल में हिंसा के भय के कारण जारी पलायन के बीच असम पहुँचे सभी लोगों को धुबरी में दो राहत शिविरों में रखा गया है और उन्हें आवश्यक सुविधाएँ मुहैया कराई जा रही हैं।

5 राज्य, 111 मुस्लिम MLA: बंगाल में TMC के 42 मुस्लिम उम्मीदवारों में से 41 जीते, केरल-असम में भी बोलबाला

तृणमूल कॉन्ग्रेस ने 42 मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिया था, जिसमें से मात्र एक की ही हार हुई है। साथ ही ISF को भी 1 सीट मिली।

हिंसा की गर्मी में चुप्पी की चादर ही पत्रकारों के लिए है एयर कूलर

ऐसी चुप्पी के परिणाम स्वरूप आइडिया ऑफ इंडिया की रक्षा तय है। यह इकोसिस्टम कल्याण की भी बात है। चुप्पी के एवज में किसी कमिटी या...

प्रचलित ख़बरें

बंगाल में हिंसा के जिम्मेदारों पर कंगना रनौत ने माँगा एक्शन तो ट्विटर ने अकाउंट किया सस्पेंड

“मैं गलत थी, वह रावण नहीं है... वह तो खून की प्यासी राक्षसी ताड़का है। जिन लोगों ने उसके लिए वोट किया खून से उनके हाथ भी सने हैं।”

बेशुमार दौलत, रहस्यमयी सेक्सुअल लाइफ, तानाशाही और हिंसा: मार्क्स और उसके चेलों के स्थापित किए आदर्श

कार्ल मार्क्स ने अपनी नौकरानी को कभी एक फूटी कौड़ी भी नहीं दी। उससे हुए बेटे को भी नकार दिया। चेले कास्त्रो और माओ इसी राह पर चले।

बंगाल हिंसा के कारण सैकड़ों BJP वर्कर घर छोड़ भागे असम, हिमंता बिस्वा सरमा ने कहा- हम कर रहे इंतजाम

बंगाल में विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद उपजी राजनीतिक हिंसा के बाद सैकड़ों भाजपा कार्यकर्ताओं ने बंगाल छोड़ दिया है। असम के मंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने खुद इसकी जानकारी दी है।

सुप्रीम कोर्ट से बंगाल सरकार को झटका, कानून रद्द कर कहा- समानांतर शासन स्थापित करने का प्रयास स्वीकार्य नहीं

ममता बनर्जी ने बुधवार को लगातार तीसरी पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली। उससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने बंगाल सरकार को बड़ा झटका दिया।

‘द वायर’ हो या ‘स्क्रॉल’, बंगाल में TMC की हिंसा पर ममता की निंदा की जगह इसे जायज ठहराने में व्यस्त है लिबरल मीडिया

'द वायर' ने बंगाल में हो रही हिंसा की न तो निंदा की है और न ही उसे गलत बताया है। इसका सारा जोर भाजपा द्वारा इसे सांप्रदायिक बताए जाने के आरोपों पर है।

भारत में मिला कोरोना का नया AP स्ट्रेन, 15 गुना ज्यादा ‘घातक’: 3-4 दिन में सीरियस हो रहे मरीज

दक्षिण भारत में वैज्ञानिकों को कोरोना का नया एपी स्ट्रेन मिला है, जो पहले के वैरिएंट्स से 15 गुना अधिक संक्रामक हो सकता है।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,361FansLike
89,322FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe