Tuesday, September 21, 2021
Homeराजनीति15.65 करोड़ रुपए का घर, ₹73 लाख की खिड़कियाँ... बीवी और 2 बेटियों के...

15.65 करोड़ रुपए का घर, ₹73 लाख की खिड़कियाँ… बीवी और 2 बेटियों के साथ इसमें रहता है यहाँ का CM

"एक तरफ तो वो वेतन में सिर्फ़ एक रुपया लेने का ढोंग करते हैं और दूसरी तरफ शान-ओ-शौकत पर इतना ख़र्च करते हैं। गाँव के अपने घर तक के लिए भी उन्होंने 5 करोड़ रुपए की लागत से सड़क बनवाई।"

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी के बंगले पर 73 लाख रुपए की खिड़कियाँ-दरवाज़े लगने की ख़बर चर्चा का विषय बनी हुई है। बंगले में लगने जा रहे महँगे और हाईटेक सिक्योरिटी खिड़कियाँ-दरवाज़े के ख़र्च के लिए राज्य सरकार से मंज़ूरी भी मिल गई है। इस मंज़ूरी पर पूर्व मुख्यमंत्री और तेलुगू देशम पार्टी (TDP) के एन चंद्रबाबू नायडू ने सवाल खड़े किए हैं। 

इस मामले पर उन्होंने ट्वीट किया, “YSR जगन की सरकार ने अपने घर की खिड़कियों के लिए 73 लाख रुपए के ख़र्चे को मंज़ूरी दी है! यह सरकारी खजाने की क़ीमत पर किया जा रहा है। यह ऐसे समय पर किया जा रहा है जब पिछले पाँच महीनों से आंध्र प्रदेश की जनता कुप्रबंधन के कारण राजकोषीय गड़बड़ी से जूझ रही है।”

ख़बर के अनुसार, आंध्र प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी के कैंप कार्यालय और आवास पर 15.65 करोड़ रुपए ख़र्च कर दिए हैं। 30 मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले जगन मोहन रेड्डी ने 73 लाख रुपए केवल खिड़कियों-दरवाज़ों पर ही ख़र्च कर डाले। बता दें कि जगन सरकार ने 9 जुलाई को बिजली आपूर्ति के रख-रखाव के लिए 8.85 लाख रुपए जारी करने का आदेश दिया। इसके बाद 22 जुलाई को हैदराबाद में मुख्यमंत्री आवास के सुरक्षा इंतज़ामों के लिए 24.5 लाख रुपए आवंटित किए गए। इसके अलावा, जन शिक़ायतें सुनने के लिए प्रजा वेदिका के नाम से 20 अगस्त को एक हॉल बनाने के लिए 2.5 लाख रुपए मंज़ूर किए गए।

वहीं, आंध्र प्रदेश के आदेश पर TDP प्रमुख चंद्रबाबू नायडू द्वारा बनवाए गए कॉन्फ्रेन्स हॉल को जून, 2019 में यह कहकर गिरा दिया था कि वो अवैध था। इस कॉन्फ्रेन्स हॉल को बनवाने में 8 करोड़ रुपए का ख़र्चा आया था। चंद्रबाबू नायडू के बेटे नारा लोकेश ने जगन मोहन रेड्डी पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि एक तरफ तो वो वेतन में सिर्फ़ एक रुपया लेने का ढोंग करते हैं और दूसरी तरफ शान-ओ-शौकत पर इतना ख़र्च करते हैं। 

जानकारी के मुताबिक़, जगन मोहन के मई में चुनाव जीतने और फिर सत्ता में आने के बाद उनके गुंटूर के टाडेपल्ली गाँव में घर तक के लिए क़रीब 5 करोड़ रुपए की लागत से सड़क बनवाई गई थी। ये भी राज्य सरकार के आदेश से हुआ था। साथ ही आलीशान घर में बिजली के काम में करीब 3.6 करोड़ रुपए का ख़र्च आया था। इसके अलावा, घर के परिसर में एक हेलीपैड भी बनवाया गया। घर में हेलीपैड और दूसरे सुरक्षा संबंधी व्यवस्थाओं में 1.89 करोड़ रुपए ख़र्च हुए।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अमित शाह के मंत्रालय ने कहा- हिंदू धर्म को खतरा काल्पनिक’: कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता को RTI एक्टिविस्ट बता TOI ने किया गुमराह

TOI ने एक खबर चलाई, जिसका शीर्षक था - 'RTI: हिन्दू धर्म को खतरा 'काल्पनिक' है - केंद्रीय गृह मंत्रालय' ने कहा'। जानिए इसकी सच्चाई क्या है।

NDTV से रवीश कुमार का इस्तीफा, जहाँ जा रहे… वहाँ चलेगा फॉर्च्यून कड़ुआ तेल का विज्ञापन

रवीश कुमार NDTV से इस्तीफा दे चुके हैं। सोर्स बता रहे हैं कि देने वाले हैं। मैं मीडिया में हूँ, मुझे सोर्स से भी ज्यादा भीतर तक की खबर है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,490FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe