Monday, June 24, 2024
Homeराजनीतिबिना अनुमति लिए DU में BBC की विवादित डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग का ऐलान: विश्वविद्यालय...

बिना अनुमति लिए DU में BBC की विवादित डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग का ऐलान: विश्वविद्यालय प्रशासन ने कहा- पुलिस तैनात, लेंगे कठोर ऐक्शन

दरअसल, इस डॉक्यूमेंट्री में BBC ने गुजरात दंगों का दोष वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर डालने की कोशिश की है। यही नहीं, उनकी छवि इस्लाम विरोधी भी दिखाने की कोशिश की है। दो पार्ट में बनाई गई BBC की इस सीरीज में प्रधानमंत्री मोदी और भारत के मुस्लिमों के बीच तनाव की बात कही गई है।

बीबीसी डॉक्यूमेंट्री (BBC Documentary) का विवाद बढ़ता जा रहा है। देश के कई हिस्सों में बवाल होने के बाद अब दिल्ली विश्वविद्यालय (DU) में प्रोपेगेंडा डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग का ऐलान हुआ है। डीयू की प्रॉक्टर रजनी अब्बी का कहना है कि इसके लिए विश्वविद्यालय प्रबंधन से अनुमति नहीं ली गई है। स्क्रीनिंग की सूचना पुलिस को दे दी गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, कॉन्ग्रेस (Congress) के छात्र संगठन नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (NSUI) और भीम आर्मी स्टूडेंट्स फेडरेशन (BASF) ने स्क्रीनिंग का ऐलान किया है। यह स्क्रीनिंग शुक्रवार (27 जनवरी 2023) को शाम 5 बजे विश्वविद्यालय के नॉर्थ कैंपस में बने आर्ट्स डिपार्टमेंट के बाहर होनी है।

विवादित डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग को लेकर दिल्ली विश्वविद्यालय की प्रॉक्टर रजनी अब्बी ने कहा, “स्क्रीनिंग होने की जानकारी मिलने के बाद हमने दिल्ली पुलिस को सूचना दे दी है। पुलिस कार्रवाई करेगी। सुरक्षा बलों की उचित तैनाती की जाएगी। हम इस तरह की स्क्रीनिंग की अनुमति नहीं दे सकते।”

उन्होंने यह भी कहा, “हमें जानकारी मिली है कि एनएसयूआई आर्ट्स डिपार्टमेंट में इस डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग की प्लानिंग कर रहा है। इसके लिए कोई अनुमति नहीं ली गई है। हम इस तरह के व्यवहार की अनुमति नहीं देंगे।”

बता दें कि इससे पहले दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) और जामिया मिल्लिया इस्लामिया (JMI) में बुधवार (25 जनवरी 2023) को डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग करने की तैयारी की गई थी। हालाँकि, जामिया में स्क्रीनिंग से पहले ही पुलिस ने कार्रवाई करते हुए स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (SFI) के कई सदस्यों को हिरासत में ले लिया था।

वहीं, हैदराबाद यूनिवर्सिटी में गुरुवार (26 दिसंबर 2023) को SFI ने विश्वविद्यालय परिसर में बिना अनुमति के डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग की। इसके विरोध में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) ने कश्मीर फाइल्स (The Kashmir Files) की स्क्रीनिंग की। स्क्रीनिंग को लेकर विश्वविद्यालय ने कहा कि कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। वहीं, ABVP के छात्रों ने विश्वविद्यालय के गार्ड्स पर मारपीट का आरोप लगाया है।

पश्चिम बंगाल के कोलकाता में स्थित जादवपुर यूनिवर्सिटी में भी गुरुवार (26 जनवरी 2023) को डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग हुई। पुदुच्चेरी विश्वविद्यालय में स्क्रीनिंग के दौरान SFI और ABVP के बीच हिंसक झड़प हो गई। इस झड़प में 5 छात्रों के घायल होने की खबर है। 

प्रोग्रेसिव स्टूडेंट्स फोरम (PSF) ने मुंबई के टाटा इंस्टीट्यूट और सोशल साइंसेज (TISS) में भी डॉक्यूमेंट्री दिखाने का ऐलान किया है। PSF ने कहा है कि वह शनिवार (28 जनवरी 2023) को इसकी स्क्रीनिंग करेगा। हालाँकि, TISS मैनेजमेंट ने अब तक इसके लिए अनुमति नहीं दी है।

दरअसल, इस डॉक्यूमेंट्री में BBC ने गुजरात दंगों का दोष वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर डालने की कोशिश की है। यही नहीं, उनकी छवि इस्लाम विरोधी भी दिखाने की कोशिश की है। दो पार्ट में बनाई गई BBC की इस सीरीज में प्रधानमंत्री मोदी और भारत के मुस्लिमों के बीच तनाव की बात कही गई है।

बीबीसी ने मोदी सरकार के देश के मुस्लिमों के प्रति रवैए, कथित विवादित नीतियाँ, कश्मीर के विशेष दर्जे को खत्म करने और नागरिकता कानून को लेकर भी सवाल उठाए हैं। BBC की इस पक्षपातपूर्ण डॉक्यूमेंट्री पर सरकार ने सख्त रुख अपनाया है। सरकार के आदेश के बाद ट्विटर और यूट्यूब से डॉक्यूमेंट्री से संबंधित लिंक हटाए जा रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार में EOU ने राख से खोजे NEET के सवाल, परीक्षा से पहले ही मोबाइल पर आ गया था उत्तर: पटना के एक स्कूल...

पटना के रामकृष्ण नगर थाना क्षेत्र स्थित नंदलाल छपरा स्थित लर्न बॉयज हॉस्टल एन्ड प्ले स्कूल में आंशिक रूप से जले हुए कागज़ात भी मिले हैं।

14 साल की लड़की से 9 घुसपैठियों ने रेप किया, लेकिन सजा 20 साल की उस लड़की को मिली जिसने बलात्कारियों को ‘सुअर’ बताया:...

जर्मनी में 14 साल की लड़की का रेप करने वाले बलात्कारी सजा से बच गए जबकि उनकी आलोचना करने वाले एक लड़की को जेल भेज दिया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -