पंचतत्व में विलीन हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली, कई नेताओं की उपस्थिति में बेटे रोहन ने दी मुखाग्नि

निगमबोध घाट पर उपस्थित अन्य नेताओं में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी शामिल थे। इससे पहले जेटली का पार्थिव शरीर भाजपा मुख्यालय में दर्शनार्थ रखा गया था। स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा कि अपने अंतिम दिनों में भी जेटली उनसे मुस्कुरा कर ही मिले थे।

पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली पंचतत्व में विलीन हो गए। उनके बेटे रोहन जेटली ने अपने पिता के पार्थिव शरीर को मुखाग्नि दी। भाजपा के संकटमोचक रहे जेटली का अंतिम संस्कार रिंग रोड में यमुना किनारे स्थित निगमबोध घाट पर किया गया। इस अवसर पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू और केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी उपस्थित रहे।

दिल्ली पुलिस ने दिवंगत नेता के सम्मान में गार्ड ऑफ ऑनर दिया। भाजपा के पूर्व अध्यक्ष व वयोवृद्ध नेता लालकृष्ण अडवाणी भी अरुण जेटली की अंतिम क्रिया के दौरान उपस्थित रहे।

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ के अध्यक्ष के रूप में अपना राजनीतिक करियर शुरू करने वाले अरुण जेटली उन गिने-चुने नेताओं में से थे, जिन्होंने मोदी और वाजपेयी- दोनों दिग्गज प्रधानमंत्रियों के कार्यकाल में कैबिनेट मंत्री की भूमिका निभाई। निगमबोध घाट पर उपस्थित अन्य नेताओं में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी शामिल थे। इससे पहले जेटली का पार्थिव शरीर भाजपा मुख्यालय में दर्शनार्थ रखा गया था। स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा कि अपने अंतिम दिनों में भी जेटली उनसे मुस्कुरा कर ही मिले थे।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

बाबा रामदेव सहित अन्य हस्तियों ने भाजपा मुख्यालय पहुँच कर अरुण जेटली के पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन किए।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

राफ़ेल
सुप्रीम कोर्ट ने राफ़ेल विमान सौदे को लेकर उछल-कूद मचा रहे विपक्ष और स्वघोषित डिफेंस-एक्सपर्ट लोगों को करारा झटका दिया है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई वाली बेंच ने राफेल मामले में दायर की गईं सभी पुनर्विचार याचिकाओं को ख़ारिज कर दिया है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

112,640फैंसलाइक करें
22,443फॉलोवर्सफॉलो करें
117,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: