Saturday, November 27, 2021
Homeराजनीतिगर्व का रंग है भगवा: कॉन्ग्रेस सांसद ने अपनी ही पार्टी को दिखाया आइना

गर्व का रंग है भगवा: कॉन्ग्रेस सांसद ने अपनी ही पार्टी को दिखाया आइना

"ये सरकार हर चीज को अलग नजर से देखने और दिखाने की कोशिश पूरे देश में पिछले पाँच वर्षों से कर रही है। ये सरकार भगवाकरण की तरफ इस देश को ले जाने का काम कर रही है।"

कॉन्ग्रेस नेता शशि थरूर ने टीम इंडिया की भगवा जर्सी का बचाव किया है। तिरुअनंतपुरम सांसद ने कहा कि भगवा गर्व का रंग है। उन्होंने अपनी पार्टी के रुख के विपरीत जाते हुए कहा कि इंग्लैंड के ख़िलाफ़ हुए मैच में टीम इंडिया के खिलाड़ियों द्वारा भगवा जर्सी पहनना आईसीसी के नियमों के अनुरूप है और इसमें कुछ भी ग़लत नहीं है। बता दें कि आईसीसी ने यह नियम बनाया है कि जब मैदान पर भिड़ रहीं दो टीमों की जर्सी का रंग समान हो तो मेहमान टीम को अपनी जर्सी में बदलाव करना होगा।

मैच के दिन भगवा जैकेट पहनने पर थरूर ने कहा कि ऐसा उन्होंने टीम इंडिया के समर्थन में किया है। बता दें कि कॉन्ग्रेस और समाजवादी पार्टी ने भाजपा पर आरोप लगाया था कि वो खेल का भगवाकरण कर रही है। कॉन्ग्रेस के कई नेताओं ने इसके ख़िलाफ़ आवाज़ उठाई थी। कॉन्ग्रेस नेता नसीम ख़ान ने इसका विरोध करते हुए कहा था, “मोदी सरकार जब से आई है तब से भगवा राजनीति शुरू हो गई है। तिरंगे का सम्मान होना चाहिए लेकिन यह सरकार हर चीज के भगवाकरण की तरफ बढ़ रही है।

महाराष्ट्र से कॉन्ग्रेस विधायक एमए खान ने कहा “ये सरकार हर चीज को अलग नजर से देखने और दिखाने की कोशिश पूरे देश में पिछले पाँच वर्षों से कर रही है। ये सरकार भगवाकरण की तरफ इस देश को ले जाने का काम कर रही है।” कॉन्ग्रेस नेताओं की इस बयानबाज़ी के बाद शशि थरूर का यह बयान अहम है क्योंकि उन्होंने पार्टी के रुख के बिपरीत बयान दिया है और अपनी ही पार्टी के नेताओं को आइना दिखाया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बढ़ता आरक्षण हो, समान नागरिक संहिता या… कुछ और: संविधान दिवस बनेगा विमर्शों का कारण, पिछले 7 सालों में PM मोदी ने दी है...

विमर्शों का कोई अंतिम या लिखित निष्कर्ष निकले यह आवश्यक नहीं पर विमर्श हो यह आवश्यक है क्योंकि वर्तमान काल भारतीय संवैधानिक लोकतंत्र की यात्रा के मूल्यांकन का काल है।

कश्मीर में सुरक्षाबलों ने आतंकियों के कमांडर हाजी आरिफ को मार गिराया, 2018 के बैट हमले में इस पूर्व पाक सैनिक की थी अहम...

जम्मू-कश्मीर में एलओसी के निकट सुरक्षाबलों ने आतंकियों के मददगार हाजी आरिफ को मार गिराया। पहले पाकिस्तानी सेना में था यह आतंकी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
139,817FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe