Thursday, June 20, 2024
Homeराजनीति'भक्क साला, भागो, पिस्टल दिखाएँ': नीतीश कुमार के MLA ने पत्रकारों को गरियाया, कहा-...

‘भक्क साला, भागो, पिस्टल दिखाएँ’: नीतीश कुमार के MLA ने पत्रकारों को गरियाया, कहा- तुम लोग हमारे बाप हो; ‘चड्डी-गंजी’ वाले गोपाल मंडल ने अब दिखाए तेवर

पिछले साल गोपाल मंडल का एक वीडियो भी सामने आया था, जिसमें वे डांसर के साथ 'दिलबर-दिलबर और बुलेट पर जीजा' गाने पर नाच करते हुए दिखे थे। भोजपुरी गाने पर डांसर को नाच करते देख वे अपने आपको रोक नहीं सके और कुर्ता उठाकर नाचने लगे थे। इस दौरान स्टेज पर वे बार-बालाओं का हाथ पकड़कर और उन्हें फ्लाइंग किस देकर डांस करते रहे। 

ट्रेन की बोगी में चड्ढी-बनियान पहनकर घूमने वाले बिहार की सत्ताधारी जदयू के विधायक गोपाल मंडल ने अब पत्रकारों के साथ गाली गलौच की है। अस्पताल में रिवॉल्वर लेकर घूमने को लेकर पटना में जब पत्रकारों को सवाल किया तो वो भड़क गए। उन्होंने कहा, “तुम लोग हमारा बाप हो? भाग साला।”

पटना में पत्रकारों ने गोपाल मंडल से पूछा, “विधायक जी आप पिस्टल क्यों रखते हैं अपने पास?” इस पर मंडल ने कहा, “अरे पिस्तौल तो अभियो है मेरे पास। दिखावे। दिखावे पिस्टल… क्या कहना चाहते हो… रखते हैं पिस्टल… तुम लोग हमारे बाप हो?… भक्क साला, भागो।”

जब पत्रकारों ने गाली देने का विरोध किया और पूछा कि JDU में गाली देने की ही ट्रेनिंग दी जाती है क्या। इस पर गलती मानने के बजाय गोपाल मंडल के मुँह से गालियों की बौछार शुरू हो गई। उन्होंने बेहद गंदी भाषा का इस्तेमाल करते हुए कहा, ‘भाग बु@#$@!!$$’।

दरअसल, कुछ दिन पहले गोपाल मंडल का एक वीडियो वायरल हुआ था। इस वीडियो में मंडल हाथ में पिस्टल लेकर भागलपुर के अस्पताल में भर्ती अपने परिजन से मिलने के लिए गए थे। इस वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ और लोगों ने तरह-तरह की टिप्पणी की।

गोपाल मंडल का पूरा नाम नरेंद्र कुमार नीरज है और वह गोपालपुर विधानसभा क्षेत्र से जदयू के विधायक हैं। इसके पहले साल 2021 में उनका एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वह अंडरवियर और बनियान में ट्रेन की बोगी में घूमते हुए नजर आए थे। इसको एफआईआर भी दर्ज की गई थी। शिकायतकर्ता ने उन पर नशे में होने का आरोप लगाया था।

दरअसल, जेडीयू विधायक गोपाल मंडल ट्रेन से दिल्‍ली जा रहे थे। दिल्ली जाने के लिए वे पटना स्‍टेशन से तेजस पर सवार हुए थे। ट्रेन में सवार होते ही उन्‍होंने अपने कपड़े उतार दिए। इसके बाद वे केवल अंडरवियर और बनियान पहने शौचालय जाने लगे। आरोप है कि चलती ट्रेन में उनकी इस हरकत पर आपत्ति जताने वाले एक यात्री से उन्‍होंने गाली-गलौज तक कर डाली। हालात बिगड़ने पर RPF को हस्‍तक्षेप करना पड़ा था।

यात्रियों के अनुसार विधायक ने उनके साथ इस दौरान धक्‍का-मुक्‍की भी की थी। बाद में विधायक ने इस मामले में सफाई देते हुए कहा कि उनका पेट खराब था और जल्‍दबाजी में शौचालय जाने के दौरान वे तौलिया नहीं लपेट सके। अंडरवियर और बनियान वाली तस्वीर देखते ही देखते सोशल मीडिया पर वायरल हो गई।

इतना ही नहीं, पिछले साल उनका एक वीडियो भी सामने आया था, जिसमें वे डांसर के साथ ‘दिलबर-दिलबर और बुलेट पर जीजा’ गाने पर नाच करते हुए दिखे थे। भोजपुरी गाने पर डांसर को नाच करते देख वे अपने आपको रोक नहीं सके और कुर्ता उठाकर नाचने लगे थे। इस दौरान स्टेज पर वे बार-बालाओं का हाथ पकड़कर और उन्हें फ्लाइंग किस देकर डांस करते रहे। 

साल 2022 में जहरीली शराब पीने से बिहार में हुई मौैत पर गोपाल मंडल ने कहा था, “जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बोल रहे हैं, मना कर रहे हैं तो फिर आप दारू क्यों पीते हैं? नीतीश कुमार ने पहले ही कहा है कि पीयोगे तो मरोगे। लोग पीते क्यों हैं, मरने ही के लिए, जगह भी तो खाली होनी चाहिए।”

शराब पीने से होने वाली मौत के फायदे गिनाते हुए मंडल ने कहा था, “अगर ऐसे ही मरते रहेंगे तो जनसंख्या घटेगी। बॉर्डर सील कर दिए गए हैं इसलिए कम शराब आ रही है। खेत के रास्ते शराब लाई जाती है। गरीब आदमी के लिए ही शराब बंद की गई, ऐसे में बनाई हुई शराब पीएगा कोई तो मरेगा ही।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -