Wednesday, September 28, 2022
Homeराजनीतिबिहार में चूड़ा चट कर गए MY: जिसने नीतीश कुमार के लिए कहा था...

बिहार में चूड़ा चट कर गए MY: जिसने नीतीश कुमार के लिए कहा था ‘%ड़े की सरकार’, उस बाहुबली के करीबी भी बने मंत्री

राजद कोटे से एक केवल एक भूमिहार एमएलसी कार्तिक सिंह को मंत्री बनाया गया है। यह चौंकाने वाला है, क्योंकि 'भूरा बाल साफ करो' वाली पार्टी पिछले कुछ समय से 'भूमिहार का चूड़ा, यादव जी का दही' का नारा दे रही थी। खुद तेजस्वी यादव राजद के ए टू जेड पार्टी होने का दावा कर रहे थे।

जब भी बिहार की राजनीति की बात होती है, उसे जातीय समीकरणों के लिहाज से तौला जाता है। जंगलराज के पूर्व के अनुभवों की वजह से हर राजनीतिक फैसले की क्राइम फाइल खँगाली जाती है। नीतीश कुमार ने मंगलवार (16 अगस्त 2022) को अपने मंत्रिमंडल का विस्तार किया है। इन दोनों मापदंडों पर उनकी उनकी नई कैबिनेट का भी विश्लेषण किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सहित बिहार में कैबिनेट सदस्यों की कुल संख्या 33 है। इनमें लालू प्रसाद यादव के दोनों बेटों (तेजस्वी और तेज प्रताप) के अलावा चार यादव मंत्री राजद कोटे से हैं। जदयू ने इसी बिरादरी से बिजेंद्र यादव को मौका दिया है। जेडीयू, राजद और कॉन्ग्रेस के कोटे से चार मुस्लिम भी मंत्री बने हैं। राजद कोटे से बने दो मुस्लिम मंत्री विधान परिषद के सदस्य हैं। यानी, मंत्रिमंडल गठन में राजद ने ‘माई (मुस्लिम+यादव)’ के उस समीकरण का पूरा ध्यान रखा है जो लालू यादव का बनाया हुआ है।

राजद ने किसी ब्राह्मण को मंत्री नहीं बनाया है। न भूमिहारों को वैसा भाव दिया है, जैसा विपक्ष में रहते हुए हाल-फिलहाल में तेजस्वी यादव संदेश दे रहे थे। राजद कोटे से एक केवल एक भूमिहार एमएलसी कार्तिक सिंह को मंत्री बनाया गया है। यह चौंकाने वाला है, क्योंकि ‘भूरा बाल साफ करो’ वाली पार्टी पिछले कुछ समय से ‘भूमिहार का चूड़ा, यादव जी का दही’ का नारा दे रही थी। खुद तेजस्वी यादव राजद के ए टू जेड पार्टी होने का दावा कर रहे थे।

भूमिहार जाति से आने वाले जिस कार्तिक सिंह को मंत्री बनाया गया है, उनकी सबसे बड़ी ताकत बाहुबली अनंत सिंह का करीबी होना है। बताया जाता है कि नीतीश कुमार के पाला बदलने के बाद से ही अनंत सिंह अपने इस विश्वस्त के लिए जेल से लॉबिंग कर रहे थे। कार्तिक सिंह का मंत्री बनना इस सरकार में अनंत सिंह की अहमियत बताता है। हाल ही में अपनी विधायकी गँवाने वाले अनंत सिंह पिछले कुछ सालों से नीतीश सरकार के खिलाफ लगातार हमलावर थे। कई मौकों पर उन्हें इस सरकार के लिए अमर्यादित शब्द का प्रयोग करते हुए भी सुना गया। ऐसे ही एक मौके पर उन्होंने नीतीश कुमार की पुरानी सरकार को ‘%ड़े की सरकार’ बता दिया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बंगाल का एक दुर्गा पूजा पंडाल ऐसा भी: याद उनकी जो चुनाव बाद मार डाले गए, सुनाई देगी माँ की रुदन

दुर्गा पूजा में अलग-अलग थीम के पंडाल के तैयार किए जाते हैं। पश्चिम बंगाल में इस बार एक पूजा पंडाल उन लोगों की याद में तैयार किया गया है जो विधानसभा चुनाव के बाद राजनीतिक हिंसा में मार डाले गए थे।

मूर्तिपूजकों को जहाँ देखो, वहीं लड़ो-काटो… ऐसे बनाओ IED बम: PFI पर 5 साल का बैन क्यों लगा, पढ़िए इसके कुकर्मों की पूरी लिस्ट

भारत सरकार ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया (PFI) और उससे जुड़ी 8 संस्थाओं पर बैन लगा दिया है। PFI की देश विरोधी गतिविधियों के कारण...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
224,749FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe