Saturday, June 15, 2024
Homeराजनीतिरामविलास का पूरा कुनबा BJP के साथः पशुपति पारस बोले- हम नहीं नीतीश के...

रामविलास का पूरा कुनबा BJP के साथः पशुपति पारस बोले- हम नहीं नीतीश के साथ, चिराग ने कहा- बिहार में लगे राष्ट्रपति शासन

लोजपा नेता चिराग पासवान ने कहा, "नीतीश कुमार की विश्वसनीयत शून्य है। हम चाहते हैं कि बिहार में राष्ट्रपति शासन लागू हो। राज्य में फिर चुनाव हों। तुम्हारी कोई विचारधारा है या नहीं? अगले चुनावों में जदयू को जीरो मिलेगा।"

बिहार में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और जनता यूनाइटिड दल (जदयू) का गठबंधन टूटने के बाद दूसरे दलों के नेताओं ने नीतीश के फैसले पर प्रतिक्रिया देना शुरू कर दिया है। केंद्रीय मंत्री व लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष पशुपति पारस ने जहाँ जदयू और राजद के होने वाले गठबंधन को बिहार के लिए अच्छा संकेत नहीं माना। वहीं चिराग पासवान ने नीतीश कुमार की विश्वसनीयता पर सवाल खड़े किए हैं।

केंद्रीय मंत्री व आरएलजेपी अध्यक्ष पशुपति पारस ने कहा, “इससे पहले भी राजद और जदयू के बीच प्रयोग हुआ था, लेकिन वह चला नहीं। दोबारा ऐसा गठबंधन आ रहा है। ये बिहार के विकास के लिए अच्छा संकेत नहीं हैं। हमने सोच लिया है कि हमारी पार्टी एनडीए का ही हिस्सा बनकर रहेगी।”

वही रामविलास पासवान के बेटे व लोजपा नेता चिराग पासवान ने कहा, “नीतीश कुमार की विश्वसनीयत शून्य है। हम चाहते हैं कि बिहार में राष्ट्रपति शासन लागू हो। राज्य में फिर चुनाव हों। तुम्हारी (नीतीश कुमार) कोई विचारधारा है या नहीं? अगले चुनावों में जदयू को जीरो मिलेगा।”

बता दें कि बिहार में एक बार फिर से दल बदलने के लिए आगे बढ़ चुकी नीतीश कुमार ने अपने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया है। इसके बाद वो पूर्व सीएम राबड़ी देवी के आवास पर राजद नेताओं से मिलने के लिए निकल गए। 

इस्तीफा देते समय मीडिया से बात करते हुए नीतीश कुमार ने कहा, “सभी सांसद और विधायक इस बात पर सहमत हुए कि हमें NDA छोड़ देना चाहिए। इसके तुरंत बाद मैंने बिहार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया।”

उल्लेखनीय हैं कि ऐसी खबरें आ रही हैं कि 160 विधायकों के समर्थन का पत्र पेश करते हुए नीतीश कुमार ने नई सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है। वामपंथी दल पहले ही उन्हें समर्थन का ऐलान कर चुके हैं और कॉन्ग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी से भी उनकी फोन पर बात हुई है। तेजस्वी यादव के साथ बैठक के बाद महागठबंधन की नई सरकार का औपचारिक ऐलान होगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NSA, तीनों सेनाओं के प्रमुख, अर्धसैनिक बलों के निदेशक, LG, IB, R&AW – अमित शाह ने सबको बुलाया: कश्मीर में ‘एक्शन’ की तैयारी में...

NSA अजीत डोभाल के अलावा उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा, तीनों सेनाओं के प्रमुख के अलावा IB-R&AW के मुखिया व अर्धसैनिक बलों के निदेशक भी मौजूद रहेंगे।

अब तक की सबसे अधिक ऊँचाई पर पहुँचा भारत का विदेशी मुद्रा भंडार, उधर कंगाली की ओर बढ़ा पाकिस्तान: सिर्फ 2 महीने का बचा...

एक तरफ पाकिस्तान लगातार बर्बादी की कगार पर पहुँच रहा है, तो दूसरी तरफ भारत का विदेशी मुद्रा भंडार लगातार बढ़ता जा रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -