Monday, August 15, 2022
Homeराजनीति'अपनी नेतागिरी चमका रहे हैं': माँ काली के अपमान पर फरियाद लेकर थाने गए...

‘अपनी नेतागिरी चमका रहे हैं’: माँ काली के अपमान पर फरियाद लेकर थाने गए BJP नेता, नीतीश कुमार की पुलिस ने बैरंग लौटाया

"इंस्पेक्टर सुनील के बाद हम DSP संजय कुमार के पास अपनी शिकायत लेकर गए। DSP ने भी हमारी शिकायत पर ध्यान नहीं दिया। कहा कि अगर इंस्पेक्टर ने नहीं कह दिया है तो इसमें हम भी कुछ नहीं कर सकते।

बिहार में बीजेपी के डॉक्यूमेंट्री ‘काली’ की मेकर लीना मणिमेकलई और टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा के खिलाफ फरियाद लेकर पुलिस के पास पहुँचे। लेकिन, पुलिस ने उनकी शिकायत पर गौर करने से इनकार कर दिया। दिलचस्प यह है कि बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में चल रही सरकार में बीजेपी भी साझेदार है।

यह घटना गुरुवार (7 जुलाई 2022) की है। इसका एक वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। बिहार भाजपा के कला संस्कृति प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक बरुण सिंह कार्यकर्ताओं के साथ शिकायत दर्ज करवाने पटना के कोतवाली थाना गए। लेकिन कोतवाली थाना के प्रभारी इंस्पेक्टर सुनील कुमार सिंह ने यह कहते हुए उनकी शिकायत लेने से इनकार कर दिया कि वे राजनीति चमकाने आए हैं। इसके बाद पटना के DSP ने भी कथित तौर पर भाजपा नेताओं की शिकायत पर कार्रवाई से इनकार कर दिया।

वायरल वीडियो में इंस्पेक्टर सुनील कुमार सिंह कह रहे हैं, “चलो भाई हम अभी कुछ नहीं करेंगे। आप नेता हैं और हम नौकरी कर रहे हैं। ये अपनी नेतागिरी चमका रहे हैं। जब मैं कहूँ तब मेरा वीडियो लीजिए।” इसी के साथ कोतवाली प्रभारी मीडिया वालों से भी सवाल कर रहे हैं कि उनका वीडियो क्यों बनाया जा रहा है। इस वीडियो के एक हिस्से में इंस्पेक्टर ने मौके पर मौजूद लोगों से कोतवाली थाने से बहार जाने के लिए भी कहा।

ऑपइंडिया से बातचीत में बरुण कुमार सिंह ने कहा, “इंस्पेक्टर सुनील द्वारा ऐसे शब्द बोले जाने के बाद हम DSP संजय कुमार के पास अपनी शिकायत लेकर गए। DSP ने भी हमारी शिकायत पर ध्यान नहीं दिया और कहा कि अगर इंस्पेक्टर ने न कह दिया है तो इसमें हम भी कुछ नहीं कर सकते। जब हमारी शिकायत किसी ने नहीं ली तो हम उसी थाने के एक मुंशी को शिकायत पत्र देकर चले आए। अब उनकी मर्जी है कि वो उस पर क्या करते हैं।”

शिकायत की कॉपी

ऑपइंडिया ने इंस्पेक्टर सुनील से सम्पर्क किया। लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया। सुनील कुमार से बात होने के बाद हम इस खबर को अपडेट करेंगे। गौरतलब है कि बिहार में गृह मंत्रालय भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने ही पास रख रखा है। पिछले दिनों राज्य में जब अग्निपथ विरोधी हिंसा के दौरान बीजेपी नेताओं की संपत्तियों को निशाना बनाया गया था, तब भी पुलिस पर मूकदर्शक बने रहने के आरोप लगे थे।

लीना ने बीते 2 जुलाई को ‘काली’ का पोस्टर ट्विटर पर रिलीज किया था। इसमें ‘काली’ बनी एक्ट्रेस को सिगरेट पीते दिखाया गया था। साथ ही एक हाथ में त्रिशूल और दूसरे हाथ में LGBT का झंडा था। इस पर विवाद होने के बाद लीना ने माफी माँगने से इनकार कर दिया था। वहीं महुआ मोइत्रा ने देवी काली को मांस खाने वाली और शराब पीने वाली बताया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्वतंत्रता के हुए 75 साल, फिर भी बाँटी जा रही मुफ्त की रेवड़ी: स्वावलंबन और स्वदेशी से ही आएगी आर्थिक आत्मनिर्भरता

जब हम यह मानते हैं कि सत्य की ही जय होती है तब ईमानदार सत्यवादी देशभक्त नेताओं और उनके समर्थकों को ईडी आदि से भयभीत नहीं होना चाहिए।

जालौर में इंद्र मेघवाल की मौत: मृतक की जाति वाले टीचर ने नकारा भेदभाव, स्कूल में 8 में से 5 स्टाफ SC/ST

जालौर में इंद्र मेघवाल की मौत पर दावा कि आरोपित हेडमास्टर ने मटकी से पानी पीने पर मारा, जबकि अन्य लोगों का कहना है कि वहाँ कोई मटकी नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,900FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe