Wednesday, June 19, 2024
Homeराजनीतिराजस्थान गए राजनाथ सिंह, खट्टर को भेजा मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ देखेंगे अर्जुन मुंडा: BJP...

राजस्थान गए राजनाथ सिंह, खट्टर को भेजा मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ देखेंगे अर्जुन मुंडा: BJP ने तीनों राज्यों के लिए तय किए पर्यवेक्षक, अब होगा CM का फैसला

राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में जीत के बाद मुख्यमंत्रियों के नामों को लेकर भाजपा में मंथन जारी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा की मुलाकात के बाद अब तीनों राज्यों के लिए पार्टी ने पर्यवेक्षक के नाम का ऐलान कर दिया है। राजस्थान के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ दो और लोगों के नाम शामिल हैं।

राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में जीत के बाद मुख्यमंत्रियों के नामों को लेकर भाजपा में मंथन जारी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा की मुलाकात के बाद अब तीनों राज्यों के लिए पार्टी ने पर्यवेक्षक के नाम का ऐलान कर दिया है। राजस्थान के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ दो और लोगों के नाम शामिल हैं।

वहीं, भाजपा ने मध्य प्रदेश में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, के. लक्ष्मण और आशा लाकड़ा को पर्यवेक्षक नियुक्त किया है। छत्तीसगढ़ में अर्जुन मुंडा, सर्वानंद सोनोवाल और दुष्यंत कुमार गौतम को पर्यवेक्षक के पद के लिए नियुक्त किया है।

ये पर्यवेक्षक तीनों राज्यों में विधायक दल के साथ बैठक करेंगे। इसके बाद पार्टी अध्यक्ष को अपनी रिपोर्ट भेजेंगे। इन तीनों राज्यों में मुख्यमंत्री के नाम पर अभी तक सहमति नहीं बन पाई है। इन राज्यों में हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनावों में बिना सीएम चेहरे के चुनाव लड़ा था। इन चुनावों में मुख्य चेहरा नरेंद्र मोदी थे।

राजस्थान में श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के प्रमुख सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या के बाद प्रदेश में तनाव में है। इसके साथ क्षत्रिय समाज में इसको खासा आक्रोश है। ऐसे में राजनाथ सिंह का नाम पर्यवेक्षक के रूप में शामिल करके माहौल को भाँपने की कोशिश भी की जा रही है।

भाजपा इन राज्यों में ऐसे मुख्यमंत्री का चुनाव करना चाहती है, जो साल 2024 के लोकसभा चुनावों में भी प्रभावकारी हो और अधिकतम सीटें जितवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सके। इसके साथ ही स्थानीय समीकरण और बगावत को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री के नामों पर मुहर लगेगी।

बताते चलें कि भाजपा के 11 सांसदों ने विधानसभा चुनावों में जीत हासिल की है। इनमें कई नाम मुख्यमंत्री के चेहरे के रूप में शामिल हैं। राजस्थान में दीया कुमारी, गजेंद्र सिंह शेखावत, राज्यवर्धन सिंह राठौर, वसुंधरा राजे, महंत बालकनाथ, भूपेंद्र यादव, ओम बिरला, सीपी जोशी का नाम सीएम पद की दौड़ में शामिल है।

वहीं, मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान, नरेंद्र सिंह तोमर, प्रह्लाद पटेल, कैलाश विजयवर्गीय, ज्योतिरादित्य सिंधिंया रेस में हैं। छत्तीसगढ़ में रमन सिंह सीएम पद के प्रमुख दावेदार हैं। इसके अलावा, रेणुका सिंह, प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव और ओपी चौधरी का नाम भी मुख्यमंत्री पद के लिए प्रमुखता से सामने आ रहा है। हालाँकि, ये नाम सिर्फ चर्चा में हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

14 फसलों पर MSP की बढ़ोतरी, पवन ऊर्जा परियोजना, वाराणसी एयरपोर्ट का विस्तार, पालघर का पोर्ट होगा दुनिया के टॉप 10 में: मोदी कैबिनेट...

पालघर के वधावन पोर्ट की क्षमता अब 298 मिलियन टन यूनिट की जाएगी। इससे भारत-मिडिल ईस्ट कॉरिडोर भी मजबूत होगा। 9 कंटेनर टर्मिनल होंगे।

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -