मेट्रो, बसों में मुफ़्त सफर पर BJP का पटलवार, 52 महीनों में तो कुछ कर नहीं सके, अब क्या करेंगे…

मनोज तिवारी ने कहा कि वो इस विचार का विरोध नहीं कर रहे हैं, लेकिन आम आदमी पार्टी को दिल्ली की सत्ता में आए 52 महीनें हो गए हैं तब उन्होंने ऐसा कोई काम शुरू नहीं किया, तो अब 5-6 महीनों में वो क्या कर लेंगे? अरविंद केजरीवाल केवल लोगों को धोखा देने की कोशिश कर रहे हैं।

विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दो बड़े फ़ैसलों की घोषणा की। इनमें से एक घोषणा थी कि पूरी दिल्ली में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएँगे और दूसरी घोषणा थी कि डीटीसी बसों और मेट्रो में महिलाओं को मुफ़्त में यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी, जिससे वे ख़ुद को सुरक्षित महसूस कर सकें। केजरीवाल की इन घोषणाओं का बीजेपी दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि वो इस विचार का विरोध नहीं कर रहे हैं, लेकिन आम आदमी पार्टी को दिल्ली की सत्ता में आए 52 महीनें हो गए हैं तब उन्होंने ऐसा कोई काम शुरू नहीं किया, तो अब 5-6 महीनों में वो क्या कर लेंगे? अरविंद केजरीवाल केवल लोगों को धोखा देने की कोशिश कर रहे हैं।

इसके अलावा, मनोज तिवारी ने केजरीवाल के उस वादे को भी याद दिलाया जिसमें उन्होंने कहा था कि बसों में महिलाओं की सुरक्षा और पैनिक बटन के लिए मार्शल तैनात किए जाएँगे। कहाँ हैं वो मार्शल? उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है जैसे वो (केजरीवाल) ख़ुद घबरा रहे हों और वो यह समझ ही नहीं पा रहे हैं कि दिल्ली के लोगों को गुमराह करने के लिए किस रणनीति का इस्तेमाल करना चाहिए।

प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी का कहना है कि लोकसभा चुनाव 2019 में केजरीवाल ने यह दावा किया था कि आम आदमी पार्टी दिल्ली की 7 में से 4 सीटें जीतेगी। उन्होंने यहाँ तक कहा कि विधानसभा चुनाव होने से पहले आप पार्टी द्वारा और भी घोषणाएँ की जाएँगी जिसका मक़सद केवल जनता को भ्रमित करना होगा। ख़बर के अनुसार, मनोज तिवारी ने आम आदमी पार्टी पर तंज करते हुए कहा कि उन्होंने जनता से 70 वादे किए उनमें से 74 झूठे साबित हुए हैं।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by paying for content

बड़ी ख़बर

SC और अयोध्या मामला
"1985 में राम जन्मभूमि न्यास बना और 1989 में केस दाखिल किया गया। इसके बाद सोची समझी नीति के तहत कार सेवकों का आंदोलन चला। विश्व हिंदू परिषद ने माहौल बनाया जिसके कारण 1992 में बाबरी मस्जिद गिरा दी गई।"

ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

91,623फैंसलाइक करें
15,413फॉलोवर्सफॉलो करें
98,200सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: