Monday, June 17, 2024
Homeराजनीति73 जीत, 1.30 लाख बूथ... जून 2024 तक BJP अध्यक्ष बने रहेंगे नड्डा, आडवाणी-शाह...

73 जीत, 1.30 लाख बूथ… जून 2024 तक BJP अध्यक्ष बने रहेंगे नड्डा, आडवाणी-शाह क्लब में हुए शामिल: लोकसभा चुनावों से पहले 9 राज्यों में परीक्षा

नड्डा से पहले केवल दो नेता ही लगातार दो बार भाजपा के अध्यक्ष बने हैं। लालकृष्ण आडवाणी और अमित शाह का नाम इसमें शामिल है। राजनाथ सिंह भी दो बार भाजपा के अध्यक्ष रह चुके हैं। लेकिन, वे लगातार 2 बार अध्यक्ष नहीं बने थे।

2024 के लोकसभा चुनाव तक जगत प्रकाश नड्डा यानी जेपी नड्डा (JP Nadda) बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने रहेंगे। दिल्ली में पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के अंतिम दिन 17 जनवरी 2023 को उनको कार्यकाल विस्तार देने का फैसला किया गया। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इसकी घोषणा की। उन्होंने बताया कि पार्टी ने सर्वसम्मति से नड्डा को जून 2024 तक भाजपा अध्यक्ष बनाए रखने का फैसला किया है।

बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक सोमवार को शुरू हुई थी। दो दिन चली बैठक के दौरान इस साल 9 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों और अगले साल होने वाले आम चुनाव पर चर्चा हुई। दूसरे दिन नड्डा के कार्यकाल विस्तार का प्रस्ताव रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रखा। इसे सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया। इसका ऐलान करते हुए शाह ने उम्मीद जताई कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नड्डा के नेतृत्व में पार्टी 2019 से भी बड़ी जीत 2024 में हासिल करने में कामयाब रहेगी।

शाह ने कहा है, “नड्‌डा जी के नेतृत्व में पार्टी ने 120 चुनाव लड़े इसमें से 73 में जीत मिली। 1.30 लाख बूथों पर पार्टी को मजबूत करने का अभियान चलाया गया। मैं नड्‌डा जी को बहुत बधाई देता हूँ। उनके नेतृत्व में पार्टी ने अपनी पैठ बढ़ाई और यश भी बढ़ाया। 2024 के लोकसभा चुनाव में पार्टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व और नड्‌डा जी के संगठनात्मक नेतृत्व में लड़ेगी।”

उन्होंने कहा है, “देश के सभी राजनीतिक दलों में सबसे ज्यादा लोकतांत्रिक तरीके से चलने वाला दल भाजपा है। जनसंघ की स्थापना से लेकर आज तक भाजपा में बूथ से लेकर राष्ट्रीय अध्यक्ष तक के चुनाव हमेशा समय पर पार्टी संविधान के अनुकूल होते रहे हैं।”

गौरतलब है कि जेपी नड्डा का कार्यकाल शुक्रवार (20 जनवरी 2023) को समाप्त हो रहा था। अब वे जून 2024 तक भाजपा के अध्यक्ष रहेंगे। नड्डा से पहले केवल दो नेता ही लगातार दो बार भाजपा के अध्यक्ष बने हैं। लालकृष्ण आडवाणी और अमित शाह का नाम इसमें शामिल है। राजनाथ सिंह भी दो बार भाजपा के अध्यक्ष रह चुके हैं। लेकिन, वे लगातार 2 बार अध्यक्ष नहीं बने थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

पावागढ़ की पहाड़ी पर ध्वस्त हुईं तीर्थंकरों की जो प्रतिमाएँ, उन्हें फिर से करेंगे स्थापित: गुजरात के गृह मंत्री का आश्वासन, महाकाली मंदिर ने...

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि किसी भी ट्रस्ट, संस्था या व्यक्ति को अधिकार नहीं है कि इस पवित्र स्थल पर जैन तीर्थंकरों की ऐतिहासिक प्रतिमाओं को ध्वस्त करे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -