Thursday, June 13, 2024
HomeराजनीतिBJP की महाराष्ट्र पंचायत में बंपर जीत, सहयोगी शिवसेना और NCP के साथ 72%...

BJP की महाराष्ट्र पंचायत में बंपर जीत, सहयोगी शिवसेना और NCP के साथ 72% सीटों पर कब्जा: कॉन्ग्रेस ने कहा, पार्टी-सिंबल पर नहीं लड़ा चुनाव

महाराष्ट्र ग्राम पंचायत चुनाव में कॉन्ग्रेस को 287, शिवसेना (उद्धव गुट) को 115 और एनसीपी (शरद पवार गुट) को 144 सीटों पर जीत मिली। ऐसी निराशाजनक नतीजों पर कॉन्ग्रेस ने कहा कि ग्राम पंचायत चुनाव पार्टी और उसके चुनाव चिह्न पर नहीं लड़े जाते।

महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने ग्राम पंचायत चुनावों में शानदार जीत हासिल की है। भाजपा के प्रवक्ता केशव उपाध्याय के अनुसार 778 सीटें बीजेपी ने अकेले दम पर जीती हैं। वहीं राज्य के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे वाली शिवसेना को 301 जबकि अजीत पवार वाली राष्ट्रवादी कॉन्ग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने 407 सीटें जीती हैं।

अभी मतगणना जारी है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चन्द्रशेखर बावनकुले ने हालांकि दावा किया है कि भाजपा 1000 से अधिक ग्राम पंचायतों में जीत चुकी है। उन्होंने मीडिया को बताया कि 1700 पंचायतों में भाजपा और उनके सहयोगी जीत रहे हैं।

महाराष्ट्र के पंचायत चुनावों में एनडीए गठबंधन ने 1486 सीटें जीतकर विपक्षी पार्टियों को लोकसभा चुनावों के नतीजों की एक तस्वीर पेश कर दी है। महाराष्ट्र में एनसीपी में हुई टूट और मराठा आरक्षण आंदोलन की पृष्ठभूमि पर हुए ग्रामपंचायत चुनाव में बीजेपी की गठबंधन ने कॉन्ग्रेस, शिवसेना (UBT) और अजीत पवार वाली एनसीपी के पेशानी पर बल ला दिए हैं।

जहाँ लोकसभा चुनाव से ठीक पहले आए महाराष्ट्र ग्राम पंचायत चुनाव के एकतरफा नतीजों ने सत्ताधारी दल (बीजेपी + शिंदे गुट वाली शिवसेना + अजीत पवार गुट वाली एनसीपी) का मनोबल बढ़ा दिया है। वहीं दूसरी तरफ महाविकास आघाड़ी खेमे के हाथ निराशा लगी है।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में रविवार (5 नवंबर,2023) को 2359 ग्राम पंचायतों के लिए कुल 74 फीसदी वोटिंग हुई। इसमें बीजेपी, शिवसेना (शिंदे गुट) और एनसीपी की अजित पवार गुट गठबंधन यानी महायुति ने 1486 ग्राम पंचायतों में जीत हासिल की है। वहीं दूसरी तरफ महाविकास अघाड़ी (कॉन्ग्रेस, शिवसेना उद्धव ठाकरे गुट और एनसीपी शरद पवार गुट) के खाते में महज 569 ग्राम पंचायतों को जीत आई है। इसके अलावा अन्य को 419 ग्राम पंचायतों की जीत पर संतोष करना पड़ा। कुछ ग्राम पंचायतों के नतीजे मंगलवार (7 नवंबर 2023) को घोषित किए जाने हैं।

इस जीत को लेकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष चंद्रशेखर बावनकुले ने कहा कि महाराष्ट्र में ग्राम पंचायत चुनावों में महायुति सरकार की शानदार सफलता कल्याण-उन्मुख सरकार में राज्य के लोगों द्वारा जताए गए विश्वास का एक ठोस प्रमाण है। इस चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने जोरदार प्रदर्शन करते हुए नंबर 1 का स्थान हासिल किया। उन्होंने आगे कहा:

“इस सफलता का पूरा श्रेय भाजपा के सभी कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों को जाता है। आगामी लोकसभा चुनाव में जनता महायुति का साथ देगी और 48 में से 45 से ज्यादा सांसद चुनकर आना तय है।”

महाराष्ट्र ग्राम पंचायत चुनाव में कॉन्ग्रेस को 287, शिवसेना (उद्धव गुट) को 115 और एनसीपी (शरद पवार गुट) को 144 सीटों पर जीत मिली। ऐसी निराशाजनक नतीजों पर कॉन्ग्रेस ने कहा कि ग्राम पंचायत चुनाव पार्टी और उसके चुनाव चिह्न पर नहीं लड़े जाते। आदर्श स्थिति में यह सच भी है लेकिन जमीनी हकीकत यही है कि सभी पार्टियाँ चुनाव लड़ रहे कैंडिडेट को अपना-अपना समर्थन देती हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेता खाएँ मलाई इसलिए कॉन्ग्रेस के साथ AAP, पानी के लिए तरसते आम आदमी को दोनों ने दिखाया ठेंगा: दिल्ली जल संकट में हिमाचल...

दिल्ली सरकार ने कहा है कि टैंकर माफिया तो यमुना के उस पार यानी हरियाणा से ऑपरेट करते हैं, वो दिल्ली सरकार का इलाका ही नहीं है।

पापुआ न्यू गिनी में चली गई 2000 लोगों की जान, भारत ने भेजी करोड़ों की राहत (पानी, भोजन, दवा सब कुछ) सामग्री

प्राकृतिक आपदा के कारण संसाधनों की कमी से जूझ रहे पापुआ न्यू गिनी के एंगा प्रांत को भारत ने बुनियादी जरूरतों के सामान भेजे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -