Monday, July 26, 2021
Homeराजनीतित्रिपुरा निकाय चुनावों में भाजपा का क्लीन स्वीप, अमित शाह जनवरी में करेंगे दौरा

त्रिपुरा निकाय चुनावों में भाजपा का क्लीन स्वीप, अमित शाह जनवरी में करेंगे दौरा

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों के लिए पार्टी की तैयारियों का जायजा लेने पांच जनवरी को त्रिपुरा का दौरा करने वाले हैं।

भारतीय जनता पार्टी ने त्रिपुरा में हुए निकाय चुनावों में भारी जीत दर्ज की है। पार्टी ने राज्य के सभी 11 नगरपालिकाओं पर जीत का परचम लहराया है। वहीं राजधानी अगरतला महानगरपालिका की सभी चार सीटों पर क्लीन स्वीप करते हुए भाजपा ने विपक्षी दलों को चारों खाने चित कर दिया है। पार्टी के त्रिपुरा प्रभारी सुनील देवधर ने एक ट्वीट के माध्यम से इसकी जानकारी देते हुए भाजपा की राज्य इकाई को बधाई दी। उन्होंने लिखा;

“फिर से! त्रिपुरा से बहुत अच्छी खबर आ रही है। त्रिपुरा की 11 में से 11 नगरपालिकाओं पर जीत के लिए त्रिपुरा भाजपा एवं बिप्लब देव को हार्दिक बधाई। कांग्रेस और सीपीआईएम की लगभग सभी सीटों पर जमानत जब्त।”

वहीं त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देव ने भी इस जीत के लिए कार्यकर्ताओं का धन्यवाद किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस जीत से यह साबित हो गया है कि राज्य की जनता ने प्रधानमंत्री मोदी की नीतियों में फिर से भरोसा जताया है। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने कहा कि अब 20 में से 11 नगरपालिकाओं पर भाजपा का कब्जा है।

राम माधव ने लिखा;

“निकाय चुनावों में 11 नगरपालिका सीटों पर जीत के लिए बिप्लब देव और त्रिपुरा भाजपा को हार्दिक बधाई। करारी हार को सामने देखते हुए सीपीएम कल दोपहर बीच चुनावों में से ही भाग कड़ी हुई। अब राज्य की 20 में से 11 नगरपालिका सीटों पर भाजपा का कब्जा है।”

याद हो कि इसी साल हुए चुनावों में भाजपा ने वाम का गढ़ माने जाने वाले त्रिपुरा में बड़ी जीत दर्ज की थी। बीस सालों से वहां सत्ता सम्भाल रहे माणिक सरकार की सीपीएम को हार का सामना करना पड़ा।

उधर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों के लिए पार्टी की तैयारियों का जायजा लेने पांच जनवरी को त्रिपुरा का दौरा करने वाले हैं। पार्टी के मुख्या प्रवक्ता अशोक सिन्हा ने अधिक जानकारी देते हुए कहा;

‘अमित शाह जी का पांच जनवरी को विवेकानंद ग्राउंड पर ‘पृष्ठ प्रमुख सम्मेलन’ को संबोधित करने के लिए राज्य का दौरा करने का कार्यक्रम है। सम्मेलन के दौरान वह संगठन के प्रदर्शन की समीक्षा करेंगे और 2019 के आम चुनावों के लिए ‘पृष्ठ प्रमुखों’’ को कुछ कार्य सौंपेंगे।’’

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,215FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe