Thursday, June 13, 2024
Homeराजनीतिजिसे I.N.D.I. गठबंधन ने बताया अपना पहला चुनाव, उसे ही बुरी तरह हार बैठा:...

जिसे I.N.D.I. गठबंधन ने बताया अपना पहला चुनाव, उसे ही बुरी तरह हार बैठा: चंडीगढ़ में बन गया BJP का मेयर, कॉन्ग्रेस-AAP की फजीहत

चंडीगढ़ शहर के लिए मेयर पद का चुनाव भाजपा के प्रत्याशी मनोज सोनकर ने जीत लिया है। उन्होंने I.N.D.I गठबंधन में शामिल कॉन्ग्रेस और आप के संयुक्त उम्मीदवार कुलदीप ढलोर को हरा दिया। इस चुनाव को AAP और कॉन्ग्रेस ने विपक्षी I.N.D.I गठबंधन और भाजपा की पहली लड़ाई बताया था।

चंडीगढ़ शहर के लिए मेयर पद का चुनाव भाजपा के प्रत्याशी मनोज सोनकर ने जीत लिया है। उन्होंने I.N.D.I गठबंधन में शामिल कॉन्ग्रेस और आप के संयुक्त उम्मीदवार कुलदीप ढलोर को हरा दिया। इस चुनाव को AAP और कॉन्ग्रेस ने विपक्षी I.N.D.I गठबंधन और भाजपा की पहली लड़ाई बताया था।

इस चुनाव में भाजपा के उम्मीदवार मनोज सोनकर को जहाँ 16 वोट मिले तो वहीं INDI गठबंधन के उम्मीदवार को 12 वोट ही मिल सके।

गौरतलब है कि चंडीगढ़ में मेयर का कार्यकाल एक वर्ष का ही होता है। इसलिए यहाँ हर साल चुनाव होते हैं। 2023-24 के एकवर्षीय कार्यकाल के लिए हुए चुनावों में भी भाजपा के अनूप गुप्ता ने जीत दर्ज की थी। इस बार भी चुनाव परिणाम भाजपा के पक्ष में रहे। इसे देख AAP और कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने खूब हंगामा काटा।

दरअसल, INDI गठबंधन के उम्मीदवार को यहाँ 12 ही वोट मिले लेकिन विपक्षी दलों ने आरोप लगाया कि उन्हें 20 वोट मिले थे जिनमें से 8 वोट को जानबूझकर अवैध करार दे दिया गया। उन्होंने चुनाव अधिकारी अनिल मसीह पर वोटों के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगाया है।

चंडीगढ़ नगर निगम में पार्षद की कुल 45 सीट है। इनमें से 9 सदस्य नामित किए जाते हैं और बाकी 35 के लिए चुनाव होते हैं। इसमें एक सदस्य चंडीगढ़ का सांसद भी होता है। यही 36 सदस्य मिलकर ही मेयर चुनते हैं। वर्तमान में चंडीगढ़ में 16 सीट भाजपा के पास जबकि 13 सीट AAP के पास हैं। कॉन्ग्रेस के पास 7 सीट हैं। 1 सीट शिरोमणी अकाली दल के पास है।

चंडीगढ़ मेयर चुनाव को पहला मैच बता रहा था INDI गठबंधन

गौरतलब है कि इन चुनावों को विपक्ष ने भाजपा और INDI गठबंधन के बीच का पहला मैच करार दिया था। AAP नेता राघव चड्ढा ने इस चुनाव को देश की दशा और दिशा बदलने वाला चुनाव बताया था।

उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था, “यह चुनाव आगामी 2024 लोकसभा चुनाव की नींव रखेगा। INDI गठबंधन बतौर गठबंधन, पहली बार भाजपा का सामना करने जा रहा है। यह चुनाव INDI गठबंधन बनाम भाजपा के पहले मैच के रूप में जाना जाएगा।” उन्होंने इसमें INDI गठबंधन की जीत पक्की बताई थी।

चंडीगढ़ चुनाव में इस जीत पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी बधाई दी है। उन्होंने एक्स (पहले ट्विटर) पर लिखा, “भाजपा चंडीगढ़ को मेयर का चुनाव जीतने के लिए बधाई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्रशासित प्रदेशों का रिकॉर्ड विकास हुआ है। INDI गठबंधन ने पहला चुनाव भाजपा से लड़ा और हार गए, यह दिखाता है कि ना ही उनकी गणित सही काम करती है और ना ही केमिस्ट्री।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -