Saturday, June 22, 2024
Homeराजनीति'मेरा रेसलिंग से कोई लेना-देना नहीं, मैंने संन्यास ले लिया है': WFI विवाद पर...

‘मेरा रेसलिंग से कोई लेना-देना नहीं, मैंने संन्यास ले लिया है’: WFI विवाद पर बोले पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह – नई फेडरेशन के काम से मैं पूर्णतः अलग

बृजभूषण शरण सिंह ने कहा कि क्या करना है और क्या नहीं करना है, ये नई फेडरेशन का काम है, वो इन सबसे पूर्णतः अलग है। बता दें कि संजय सिंह की जीत के बाद फूल-माला के साथ स्वागत किए जाते हुए उनके साथ नए अध्यक्ष की तस्वीर आई थी।

बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक और विनेश फोगाट जैसे खिलाड़ियों की आपत्ति और पहलवानों के विरोध प्रदर्शन के बाद बृजभूषण शरण सिंह को WFI (भारतीय कुश्ती संघ) के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देना पड़ा था। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर फिर से चुनाव हुआ और बृजभूषण शरण सिंह के करीबी संजय सिंह अध्यक्ष चुने गए। इसके बाद फिर से विरोध चालू हो गया। अंततः केंद्रीय खेल मंत्रालय ने नवगठित पैनल के कामकाज पर रोक लगा दी और जूनियर चैंपियनशिप भी रद्द कर दी।

वहीं बृजभूषण शरण सिंह ने इस प्रकरण पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि उनका इन सबसे कोई वास्ता नहीं है। कैसरगंज से भाजपा सांसद ने कहा कि उन्होंने कुश्ती से संन्यास ले लिया है, और रेसलिंग अब उनका कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने ये भी कहा कि भविष्य में भी रेसलिंग से उनका कोई जुड़ाव नहीं रहेगा, अच्छा या बुरा लेकिन 12 वर्ष उन्होंने काम किया। भाजपा नेता ने कहा कि अब वो इस विवाद से हट गए हैं, नई फेडरेशन भी बन गई है।

बृजभूषण शरण सिंह ने कहा कि क्या करना है और क्या नहीं करना है, ये नई फेडरेशन का काम है, वो इन सबसे पूर्णतः अलग है। बता दें कि संजय सिंह की जीत के बाद फूल-माला के साथ स्वागत किए जाते हुए उनके साथ नए अध्यक्ष की तस्वीर आई थी। क्या WFI की गतिविधियों को रोके जाने का ये भी एक कारण है? इस पर पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि फेसबुक पर उनके कितने फॉलोवर्स हैं और संजय सिंह कई वर्षों से रेसलिंग से जुड़े हुए हैं।

उन्होंने कहा कि कुश्ती से जुड़ा हर व्यक्ति उन्हें जानता ही है। वो पहले भी कह चुके हैं कि वो क्षत्रिय हैं और संजय सिंह भूमिहार, ऐसे में उन्हें उनका संबंधी बताया जा रहा है जो गलत है। बृजभूषण सिंह ने पूछा कि उन पर आरोप लगाने वाले यही पहलवान अपने घर के कार्यक्रमों में उन्हें नहीं बुलाते थे? भाजपा के आला नेताओं से मुलाकात के विषय में उन्होंने कहा कि रेसलिंग के मुद्दे पर चर्चा नहीं हुई है। भाजपा सांसद ने कहा कि उन्हें निशाना बनाया गया, टुकड़े-टुकड़े गैंग और प्रियंका गाँधी जैसे लोग प्रदर्शनकारियों के साथ आ गए।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हे माँ, हमें माफ़ कर दो, गलती हो गई कि यहाँ चोरी की’: गिरफ्तार होते ही चोरों के गिरोह का हुआ हृदय-परिवर्तन, मंदिर में...

ये सब झालावाड़ जिला के रहने वाले हैं। चोरों ने मंदिर में माता की प्रतिमा के सामने हाथ जोड़ कर कहा, "हे माँ, हमें माफ़ कर दो। हमसे गलती हो गई कि हमने यहाँ चोरी की।"

केंद्र सरकार की नौकरी के मजे? अब 15 मिनट से ज्यादा की देरी पर आधे दिन की छुट्टी: ऑफिस टाइमिंग को लेकर कड़ा फैसला

भारत सरकार के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (DoPT) ने आदेश जारी किया है कि जिन दफ्तरों के खुलने का समय 9 बजे है, वहाँ अधिकतम 15 मिनट का ही ग्रेस पीरियड मिलेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -