Thursday, July 18, 2024
Homeराजनीतिटीएस सिंहदेव को खड़गे ने फटकारा, छत्तीसगढ़ के डिप्टी CM को माँगनी पड़ी माफी:...

टीएस सिंहदेव को खड़गे ने फटकारा, छत्तीसगढ़ के डिप्टी CM को माँगनी पड़ी माफी: कहा था- PM मोदी भेदभाव नहीं करते

“कॉन्ग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने तब उनसे कहा कि खेद होने के बावजूद, नुकसान हो चुका है। एक उपमुख्यमंत्री और एक वरिष्ठ सदस्य के रूप में, लोग उनकी बातों को गंभीरता से लेंगे।" 

पार्टी के अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कॉन्ग्रेस वर्किंग कमेटी (विस्तारित सीडब्ल्यूसी) की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अनावश्यक प्रशंसा नहीं करने का आदेश दिया। दरअसल, वह छत्तीसगढ़ के उपमुख्यमंत्री टीएस सिंह देव द्वारा केंद्र की मोदी सरकार की प्रशंसा करने के बाद हुई कॉन्ग्रेस की किरकिरी से नाराज हैं। टीएस सिंह देव ने गुरुवार (14 सितंबर,2023) को रायगढ़ के एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी के साथ मंच साझा करते हुए केंद्र की मोदी सरकार की जमकर तारीफ की थी। 

क्या है पूरा मामला 

छत्तीसगढ़ के उपमुख्यमंत्री टीएस सिंह देव ने एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ की थी। उस कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री ने कहा था, “आज आप यहाँ कुछ देने आएँ हैं। आपने छत्तीसगढ़ को बहुत कुछ दिया है और मुझे विश्वास है कि भविष्य में भी आप हमें और भी बहुत कुछ देते रहेंगे।”

उन्होंने आगे कहा, “हमने हमेशा केंद्र सरकार के मार्गदर्शन में काम किया है और मैं यह कहने से नहीं चूकना चाहता कि, मेरे अनुभव में, मुझे कोई पक्षपात महसूस नहीं हुआ… राज्य में, जब भी हमने कुछ माँगा। केंद्र सरकार, उन्होंने… कभी मदद से इनकार नहीं किया और मेरा मानना ​​है कि आगे चलकर राज्य और केंद्र हमारे देश और राज्य को आगे ले जाने के लिए सभी क्षेत्रों में मिलकर काम करेंगे।”

वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने भी हाथ जोड़कर और सिर झुकाकर आभार व्यक्त किया और बाद में उनसे हाथ भी मिलाया। उसी की एक क्लिपिंग सोशल मीडिया एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर वायरल हो गई।

कॉन्ग्रेस की हुई किरकिरी 

इसी वीडियो को कई भाजपा नेताओं ने भी केंद्र पर कथित तौर पर राज्य में योजनाओं को लागू नहीं करने का आरोप लगाने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की आलोचना करते हुए इसे साझा किया, जबकि उनके डिप्टी ने उनसे अलग जाते हुए प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ की थी।

बता दें कि कॉन्ग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) कथित तौर पर छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव से पहले अपने वरिष्ठ नेता द्वारा प्रधानमंत्री की प्रशंसा से किए जाने से असमंजस की स्थिति में थी कि विरोध में क्या कहे। उनका उप मुख्यमंत्री ही PM मोदी की तारीफ कर रहा है। 

उपमुख्यमंत्री को माँगनी पड़ी माफी 

बता दें कि PM मोदी के साथ मंच साझा करने और उनकी प्रशंसा में कहे गए अपने शब्दों पर सफाई देते हुए टीएस सिंहदेव ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री की गरिमा को ध्यान में रखते हुए ऐसे शब्द कहे हैं। उन्होंने कहा, ‘हमारे राज्य में आतिथ्य सत्कार की परंपरा है। सरकारी मंच पर प्रधानमंत्री की गरिमा को ध्यान में रखते हुए बातें कही गईं। मैं मंच पर आरोप-प्रत्यारोप में नहीं पड़ना चाहता था। मेरा बयान केवल मेरे विभाग की माँगों से संबंधित था।”

इसी मामले में कॉन्ग्रेस के एक प्रवक्ता ने भी सोशल मीडिया पर हुई किरकिरी के बाद कहा कि सिंह देव जी केवल पीएम की कुर्सी का सम्मान कर रहे थे। छत्तीसगढ़ कॉन्ग्रेस के मीडिया सेल प्रभारी सुशील आनंद शुक्ला ने कहा, “सिंह देव जी पीएम के साथ मंच साझा कर रहे थे और इसलिए वह कूटनीतिक व्यवहार कर रहे थे।”

टीएस सिंह देव से नाराज मल्लिकार्जुन खड़गे 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सीडब्ल्यूसी की बैठक में कॉन्ग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने निराशा व्यक्त करते हुए वरिष्ठ कॉन्ग्रेस नेता की खिंचाई की। डिप्टी सीएम को पीएम की प्रशंसा के लिए माफी माँगने के लिए कहा गया। वह भी ऐसा तब हुआ जब टीएस सिंह देव ने कथित तौर पर छत्तीसगढ़ की कॉन्ग्रेस प्रभारी कुमारी शैलजा से पहले ही माफी माँग ली थी, जब उन्होंने उन्हें गलती बताई थी।

बैठक में मौजूद एक दूसरे नेता ने कहा, “उन्होंने (खड़गे) सिंह देव से कहा कि उनकी माफी से गलती ठीक नहीं होगी। उन्होंने सिंह देव और अन्य सभी सीडब्ल्यूसी सदस्यों से सावधान रहने और अनावश्यक रूप से पीएम की प्रशंसा नहीं करने को कहा। वहीं कॉन्ग्रेस के दूसरे नेताओं को सावधान करने के लिए सिंगदेव का उदाहरण भी दिया।

उन्होंने कहा, “कॉन्ग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने तब उनसे कहा कि खेद होने के बावजूद, नुकसान हो चुका है। एक उपमुख्यमंत्री और एक वरिष्ठ सदस्य के रूप में, लोग उनकी बातों को गंभीरता से लेंगे।” 

गौरतलब है कि कॉन्ग्रेस पहले ही डैमेज कंट्रोल मोड में आ चुकी थी। वरिष्ठ कॉन्ग्रेस नेता पी.चिदंबरम ने बयान देते डैमेज कण्ट्रोल करने की कोशिश की थी। उन्होंने कहा कि सिंह देव केवल “प्रोटोकॉल” का पालन कर रहे थे। इसलिए  डिप्टी सीएम ने कोई विभाजनकारी मुद्दा नहीं उठाया या कोई राजनीतिक बयान नहीं दिया। जयराम रमेश ने भी कहा कि सिंह देव का आचरण “प्रधानमंत्री के विपरीत था, जिन्होंने हर सरकारी समारोह में कॉन्ग्रेस को गाली दी थी।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -