Saturday, January 28, 2023
HomeराजनीतिMP: कॉन्ग्रेस HQ में कार्यकर्ताओं ने की एक-दूसरे की सुताई, भोपाल बंद की बनानी...

MP: कॉन्ग्रेस HQ में कार्यकर्ताओं ने की एक-दूसरे की सुताई, भोपाल बंद की बनानी थी रणनीति, बन गया रण का क्षेत्र

कॉन्ग्रेस मुख्यालय में भोपाल बंद को लेकर यह बैठक बुलाई गई थी और बैठक में बंद कराए जाने को लेकर बनाई जा रही रणनीति के बीच ही यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना घटित हुई।

मध्य प्रदेश कॉन्ग्रेस कार्यालय में कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच जमकर मारपीट हुई है। मारपीट का वीडियो बृहस्पतिवार (फरवरी 18, 2021) को सोशल मीडिया पर भी खूब वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है कि कॉन्ग्रेस मुख्यालय में भोपाल बंद को लेकर यह बैठक बुलाई गई थी और बैठक में बंद कराए जाने को लेकर बनाई जा रही रणनीति के बीच ही यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना घटित हुई।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह हाथापाई पूर्व महापौर विभा पटेल के समर्थक धर्मेंद्र राय और एक अन्य कार्यकर्ता के बीच हुई है। मारपीट के बीच मीडिया को भी इसका कवरेज करने से रोका गया। हालाँकि, तब तक शायद देर हो चुकी थी और भाजपा, मध्य प्रदेश के हाथ यह वीडियो लग गया।

वीडियो में देखा जा सकता है कि कुछ लोग आपस में तेजी से एक-दूसरे पर झपट पड़ते हैं। तभी माइक पर एक महिला उन्हें रुकने के लिए लगातार कहती सुनी जा सकती है। बीचबचाव के बाद आखिरकार हाथापाई रुक जाती है।

भाजपा, मध्य प्रदेश ने भी अपने ट्विटर अकाउंट पर यह वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो के साथ भाजपा ने लिखा है, “देश के सबसे पुराने राजनैतिक दल का कॉन्ग्रेस मुख्यालय में संस्कारी व्यवहार।”

इस घटना के बाद जब कॉन्ग्रेसी नेता बाहर मीडिया के सामने आए तो किसी भी तरह का बयान देने से बचने की कोशिश करते देखे गए। इस घटना का वीडियो ‘खबर मध्य प्रदेश’ के यूट्यूब चैनल पर देख सकते हैं –

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हमारा सनातन धर्म भारत का राष्ट्रीय धर्म: बोले CM योगी, ऐतिहासिक नीलकंठ महादेव मंदिर में की पूजा

सीएम योगी ने देश की सुरक्षा और विरासत की रक्षा के लिए लोगों से व्यक्तिगत स्वार्थ से ऊपर उठकर राष्ट्रीय धर्म के साथ जुड़ने का आह्वान किया।

शेयर गिराओ, उससे अरबों कमाओ: अडानी पर आरोप लगाने वाला Hindenburg रिसर्च का काला चिट्ठा, अमेरिका में चल रही जाँच

Hindenburg रिसर्च: संस्थापक रह चुका है ड्राइवर। जानिए उस कंपनी के बारे में जिसने अडानी समूह के 2 लाख करोड़ रुपए डूबा दिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
242,733FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe