Tuesday, October 19, 2021
Homeराजनीतिकपिल मिश्रा ने केजरीवाल के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत, NRC पर अफवाह फैलाने का...

कपिल मिश्रा ने केजरीवाल के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत, NRC पर अफवाह फैलाने का आरोप

कपिल मिश्रा ने दिल्ली पुलिस से अरविंद केजरीवाल और सौरभ भारद्वाज के खिलाफ अफवाह फैलाने, शांति भंग का प्रयास, सोशल मीडिया के माध्यम से झूठ प्रचारित करने, दिल्ली में रह रहे यूपी-बिहार के निवासियों की भावनाओं को चोट पहुँचाने, दिल्ली में कानून व्यवस्था का संकट पैदा करने की कोशिश करने का मामला दर्ज करने का अनुरोध किया है।

भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ पार्लियामेंट स्ट्रीट थाने में शिकायत दर्ज कराई है। इस शिकायत में कपिल मिश्रा ने सीएम केजरीवाल और AAP विधायक सौरभ भारद्वाज पर
राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) के बारे में झूठी अफवाह फैलाने का आरोप लगाया है। यह शिकायत भाजपा नेता कपिल मिश्रा के साथ नीलकांत बख्शी ने भी दर्ज करवाई है।

नई दिल्ली के डीसीपी को संबोधित पत्र में मिश्रा ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और AAP विधायक सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली में NRC लागू करने के संबंध में झूठे अफवाह फैलाने, सुप्रीम कोर्ट द्वारा जारी किए गए दिशानिर्देशों के बारे में झूठ बोलने, उत्तर प्रदेश, बिहार और ओडिशा के नागरिकों की तुलना घुसपैठियों से करने और साथ ही साथ राज्य की शांति व्यवस्था को भंग करने की साजिश रचने के संबंध में शिकायत दर्ज कराई है।

कपिल मिश्रा द्वारा की गई शिकायत (फोटो साभार: @kapilmishra_ind)

इसमें कहा गया है कि सीएम कोजरीवाल सीधे सीधे केंद्र सरकार व सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देशों में जारी योजना के बारे में जानबूझ कर जनता में अविश्वास पैदा करने के साथ ही अफवाह फैला रहे हैं। इससे राज्य में कानून और व्यवस्था की समस्या पैदा हो सकती है। सीएम केजरीवाल ने अपने सहयोगी AAP विधायक सौरभ भारद्वाज के साथ कहा कि अगर NRC को दिल्ली में लागू किया जाता है, तो उत्तर प्रदेश, राजस्थान, ओडिशा और बिहार के प्रवासी जो राष्ट्रीय राजधानी में काम करते हैं, उन्हें दिल्ली से बाहर निकाल दिया जाएगा।

पत्र में आगे कहा गया है कि अवैध प्रवासियों के साथ प्रवासी श्रमिकों की तुलना ने उन लोगों की भावनाओं को आहत किया है, जिन्होंने दिल्ली को अपना घर बना लिया है। दिल्ली के लोग गुस्से में हैं और ये सामाजिक शांति भंग होने का मामला बन सकता है।


कपिल मिश्रा द्वारा की गई शिकायत (फोटो साभार: @kapilmishra_ind)

उन्होंने आगे पत्र में केजरीवाल पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह भी संभव है कि दिल्ली में अवैध तरीके से रह रहे बांग्लादेशी और रोहिंग्या घुसपैठियों को बचाने के लिए सुप्रीम कोर्ट और भारत सरकार का घुसपैठियों की पहचान करने का जो दिशा निर्देश है, उसके रास्ते में रोड़े अटकाने की साजिश हो। उन्होंने दिल्ली पुलिस से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और विधायक सौरभ भारद्वाज के खिलाफ अफवाह फैलाने, शांति भंग करने का प्रयास करने, जानबूझकर सोशल मीडिया के माध्यम से झूठ प्रचारित करने, दिल्ली में रह रहे यूपी-बिहार के निवासियों की भावनाओं को चोट पहुँचाने, सुप्रीम कोर्ट के दिशानिर्देशों को लागू करने से रोकने का प्रयास करने व दिल्ली में कानून व्यवस्था का संकट पैदा करने की कोशिश करने का मामला दर्ज करने का अनुरोध किया है।

गौरतलब है कि, बुधवार (सितंबर 25, 2019) को सीएम केजरीवाल और दिल्ली के भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के बीच जमकर बयानबाजी हुई। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में NRC लागू होने के बाद तिवारी को दिल्ली छोड़नी पड़ेगी। जवाब में तिवारी ने कहा कि केजरीवाल पूर्वांचल से आए लोगों को दिल्ली से भगाना चाहते हैं। मनोज तिवारी केजरीवाल को ‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’ का समर्थक करार देते हुए कहा, “वे इतना भी नहीं जानते हैं कि एनआरसी में विदेशी घुसपैठियों को चिह्नित किया जाता है।”

वहीं, सौरभ भारद्वाज ने कहा कि यूपी, राजस्थान, बिहार और ओडिशा से लोग रोजगार के लिए दिल्ली आते हैं और मनोज तिवारी ने एनआरसी वाला बयान देकर दिखाया है कि वे इन लोगों के विरोध में हैं। भारद्वाज ने कहा कि ये लोग चोर नहीं हैं, बल्कि दिल्ली के विकास में बराबर के भागीदार हैं। भारद्वाज ने कहा कि अगर एनआरसी लागू होता है तो इन लोगों को दिल्ली छोड़ कर जाना पड़ेगा।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,824FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe