Sunday, July 25, 2021
Homeराजनीतिस्मृति ईरानी पर अश्लील बयानबाजी मामले में महागठबंधन नेता गिरफ्तार, बेल पर रिहा

स्मृति ईरानी पर अश्लील बयानबाजी मामले में महागठबंधन नेता गिरफ्तार, बेल पर रिहा

कवाडे पार्टी के अध्यक्ष जोगेंद्र कवाडे के सुपुत्र हैं और उनकी पार्टी शरद पवार की राकांपा और कॉन्ग्रेस के साथ महाराष्ट्र में महागठबंधन में है।

स्मृति ईरानी पर अभद्र बयान देने वाले महागठबंधन नेता जयदीप कवाडे को इसी मामले में गिरफ्तार कर लिया गया है। उन पर अश्लीलता फैलाने, मानहानि, और चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन जैसी गंभीर धाराओं में मामला दर्ज हुआ है। बाद में पुलिस ने बयान दिया कि उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया है।

मालूम हो कि पीपल्स रिपब्लिकन पार्टी के नेता कवाडे ने नागपुर के बगाड़गंज में एक चुनावी सभा में बयान दिया था कि केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी लगातार पति बदलतीं हैं, और पति बदलने के साथ उनकी बिंदी का आकार बढ़ता जाता है। इस बयान पर भाजपा और राजग ने कड़ी आपत्ति दर्ज की थी।

कवाडे पार्टी के अध्यक्ष जोगेंद्र कवाडे के सुपुत्र हैं और उनकी पार्टी शरद पवार की राकांपा और कॉन्ग्रेस के साथ महाराष्ट्र में महागठबंधन में है।

भाजयुमो ने दर्ज कराया मामला, शिवसेना नेत्री का स्मृति को समर्थन और चुनाव आयोग से गुज़ारिश

नागपुर लोकसभा क्षेत्र के भाजयुमो (भारतीय जनता युवा मोर्चा) कार्यकर्ताओं ने चुनाव अधिकारी मदन सूबेदार के पास यह शिकायत दर्ज कराई थी। सूबेदार ने मामला आईपीसी की धाराओं 295(A) [दूसरों की मजहबी भावनाओं को जानबूझ कर ठेस पहुँचाने की दुर्भावना से कार्य करना], 500 [मानहानि], 294 [अभद्र कृत्य अथवा गाने], और 171(G) [चुनावों के सम्बन्ध में झूठ बोलना] के तहत मामला दर्ज किया है।

शिवसेना नेत्री नीलम गोढ़े ने इस बयान पर कड़ी आपत्ति जताते हुए केन्द्रीय चुनाव आयोग से ऐसा तंत्र विकसित करने की अपील की जिसके अंतर्गत नेत्रियों के व्यक्तिगत जीवन पर आक्षेप करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की जा सके। उन्होंने यूरोप का उदाहरण दिया जहाँ ऐसे तंत्र स्थापित और क्रियाशील हैं।

मौजूद कॉन्ग्रेस नेताओं ने नहीं तोड़ी चुप्पी

भाजयुमो का यह भी आरोप है कि जब कवाडे ने यह हरकत की तो वहाँ राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और कॉन्ग्रेस नेता अशोक चव्हाण, कॉन्ग्रेस नेता विलासराव मुत्तेमवार, कॉन्ग्रेस उम्मीदवार नाना पटोले समेत पार्टी के कई नेता मौजूद थे पर किसी ने इस पर आपत्ति दर्ज नहीं की।

यदि भाजयुमो का यह आरोप सही है तो यह कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी की महिला सशक्तिकरण की राजनीति पर गंभीर सवाल उठाता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अपनी ही कब्र खोद ली’: टाइम्स ऑफ इंडिया ने टोक्यो ओलंपिक में भारतीय तीरंदाजी टीम की हार का उड़ाया मजाक

दक्षिण कोरिया के किम जे ड्योक और आन सन से हारने के बाद टाइम्स ऑफ इंडिया ने दावा किया कि भारतीय तीरंदाजी टीम औसत से भी कम थी और उन्होंने विरोधियों को थाली में सजाकर जीत सौंप दी।

‘सचिन पायलट को CM बनाओ’: कॉन्ग्रेस के बड़े नेताओं के सामने जम कर हंगामा, मंत्रिमंडल विस्तार से पहले बुलाई थी बैठक

राजस्थान में मंत्रिमंडल में फेरबदल से पहले ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व मुख्यमंत्री सचिन पायलट के समर्थकों के बीच बहस और हंगामेबाजी हुई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,156FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe