Saturday, July 31, 2021
Homeराजनीतिजम्मू-कश्मीर में 370 वापसी की माँग कर रहे गुपकार गैंग में शामिल हुई कॉन्ग्रेस,...

जम्मू-कश्मीर में 370 वापसी की माँग कर रहे गुपकार गैंग में शामिल हुई कॉन्ग्रेस, डीडीसी चुनाव में देगी साथ

गुपकार घोषणा के लिए पीपुल्स एलायंस, जिसे बोलचाल की भाषा में गुपकार गैंग कहा जाता है, कई राजनीतिक दलों का एक गठबंधन है जो पूर्ववर्ती जम्मू कश्मीर राज्य की विशेष स्थिति की बहाली की माँग कर रहा है।

जम्मू-कश्मीर में डिस्ट्रिक्ट डेवलपमेंट काउंसिल यानी डीडीसी चुनाव की तैयारी कर रहे गुपकार घोषणापत्र गठबंधन में अब कॉन्ग्रेस भी उनका साथ दे रही है। जम्मू-कश्मीर प्रदेश कॉन्ग्रेस समिति (जेकेपीसीसी), शुक्रवार को गुपकार घोषणापत्र गठबंधन (पीजीएडी) में शामिल हो गई है। गुपकार घोषणा के लिए पीपुल्स एलायंस, जिसे बोलचाल की भाषा में गुपकार गैंग कहा जाता है, कई राजनीतिक दलों का एक गठबंधन है जो पूर्ववर्ती जम्मू कश्मीर राज्य की विशेष स्थिति की बहाली की माँग कर रहा है।

इसमें कोई चौकाने वाली बात नहीं है कि जम्मू और कश्मीर में अनुच्छेद 370 को समाप्त करने के खिलाफ बेहद मुखर रही कॉन्ग्रेस पार्टी भी इस विवादास्पद गठबंधन में शामिल हो गई है।

जम्मू और कश्मीर प्रदेश कॉन्ग्रेस कमेटी (पीसीसी) ने कथित तौर पर जम्मू में नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की पाँच घंटे की संयुक्त बैठक में भाग लेते हुए जिला विकास परिषद (डीडीसी) के चुनावों में उम्मीदवारों की रणनीति और चुनाव की तैयारियों से संबंधित कामों को अंतिम रूप दिया।

एनसी देवेंद्र सिंह राणा ने बैठक के बाद कहा, डॉ.फारूक अब्दुल्ला साहब को बताया गया – गुपकार घोषणा (पीएजीडी) के लिए पीपुल्स अलायंस के अध्यक्ष – कॉन्ग्रेस हाई कमान ने कहा कि कॉन्ग्रेस जम्मू और कश्मीर और लद्दाख के लोगों के कल्याण और धर्मनिरपेक्ष ताने बाने को मजबूत करने के लिए नेशनल कॉन्फ्रेंस जैसी सोच रखने वाली पार्टियों का समर्थन करना चाहती है।

इससे पहले शुक्रवार को पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती के ‘फेयरव्यू’ निवास पर जीज गठबंधन की बैठक में कॉन्ग्रेस के दो नेताओं ने भाग लिया था। कॉन्ग्रेस नेता गुलाम नबी मोंगा ने मुफ्ती के आवास के बाहर मीडिया से बात करते हुए कहा, “हम गठबंधन के साथ हैं।” विभाजनकारी ताकतों को हराने के लिए हम यह चुनाव लड़ेंगे।

नेकां मुख्यालय ‘नवा-ए-सुबाह’ में PAGD गठबंधन की एक और बैठक के बाद NC के प्रांतीय अध्यक्ष नासिर असलम वानी ने यह कहकर पुष्टि की कि कॉन्ग्रेस ने आश्वासन दिया है कि वह गठबंधन का हिस्सा होगी और डीडीसी के चुनाव के लिए सीटों के बंटवारे पर चर्चा होगी।

कॉन्ग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रविन्द्र शर्मा ने कहा, “हमने अपने उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करने के लिए नेकां और अन्य राजनीतिक दलों जैसे समान विचारधारा वाले धर्मनिरपेक्ष दलों के साथ समायोजन प्रक्रिया शुरू की है। हमने उम्मीदवारों की उपयुक्तता पर चर्चा की है। व्यापक गठन किया जाएगा जिसमें बेहतर उम्मीदवारों को मैदान में उतारा जाएगा और हमने इस पर काम करने की बात भी की है।

गुपकार घोषणा (PAGD) के लिए नवगठित पीपुल्स एलायंस ने यह भी घोषणा की कि वे आगामी जिला विकास परिषद (DDC) चुनावों में भाजपा के खिलाफ एक सिंगल इकाई के रूप में भाग लेंगे।

गुपकार गैंग ने डीडीसी चुनावों के लिए 27 उम्मीदवारों की पहली सूची भी जारी की है। जिन उम्मीदवारों ने अपना नामांकन दाखिल किया, उनमें से 21 नेशनल कॉन्फ्रेंस के हैं, चार पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के हैं और दो पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के हैं।

नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी के अलावा, पीपल्स कॉन्फ्रेंस, माकपा और अवामी नेशनल कॉन्फ्रेंस PAGD गठबंधन का हिस्सा हैं।

जम्मू और कश्मीर प्रशासन ने कथित तौर पर पिछले साल 5 अगस्त के बाद लगभग 37 लोगों की सूची सौंपी थी, जब तत्कालीन राज्य का विशेष दर्जा हटा दिया गया था। इस सूची में नेशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी, जेके पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के विभिन्न नेताओं के नाम शामिल हैं, जिनमें अली मोहम्मद सागर, अब्दुल रहीम राथर, नईम अख्तर, सज्जाद लोन उनके भाई बिलाल लोन, वानी, बशारत बुखारी शामिल हैं।

प्रारंभ में, सूची तीन महीने के लिए वैध थी जिसे बाद में समीक्षा के बाद बढ़ा दिया गया था। हालाँकि, सूची को छँटनी के बाद वापस से अपडेट किया गया था। जिसके बाद इसमें संख्या 33 हो गई। दिलचस्प बात यह है कि पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती के नाम इस सूची में नहीं हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पेगासस: ‘खोजी’ पत्रकारिता का भ्रमजाल, जबरन बयानबाजी और ‘टाइमिंग’- देश के खिलाफ हर मसाले का प्रयोग

दुनिया भर में कुल जमा 23 स्मार्टफोन में 'संभावित निगरानी' को लेकर ऐसा बड़ा हल्ला मचा दिया गया है, मानो 50 देशों की सरकारें पेगासस के ज़रिए बड़े पैमाने पर अपने नागरिकों की साइबर जासूसी में लगी हों।

पिता ने उधार लेकर करवाई हॉकी की ट्रेनिंग, निधन के बाद अंतिम दर्शन भी छोड़ा: अब ओलंपिक में इतिहास रच दी श्रद्धांजलि

वंदना कटारिया के पिता का सपना था कि भारतीय महिला हॉकी टीम ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीते। बचपन में पिता ने उधार लेकर उन्हें हॉकी की ट्रेनिंग दिलवाई थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,211FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe