Wednesday, May 22, 2024
Homeराजनीतिकर्नाटक में जीत के बाद कॉन्ग्रेस नेता ने किया यूपी-बिहार का अपमान, कहा -...

कर्नाटक में जीत के बाद कॉन्ग्रेस नेता ने किया यूपी-बिहार का अपमान, कहा – टैक्स देने के मामले में हम तीसरे नंबर पर

बीके हरिप्रसाद ने कहा कि जेपी नड्डा कह रहे थे कि यदि राज्य में भाजपा की सरकार नहीं बनी तो लोगों को केंद्र सरकार की योजनाओं का फायदा नहीं मिलेगा।

कर्नाटक विधानसभा चुनावों में जीत से उत्साहित कॉन्ग्रेस नेता बीजेपी पर हमलावर हैं। कर्नाटक कॉन्ग्रेस के सीनियर लीडर बीके हरिप्रसाद ने पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह समेत भाजपा के कई नेताओं पर जमकर निशाना साधा। इस दौरान उन्होंने उत्तर प्रदेश और बिहार जैसे राज्यों को नीचा दिखाने की भी कोशिश की।

न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए बीके हरिप्रसाद ने कहा कि भाजपा अपने राष्ट्रीय नेताओं के भरोसे चुनावी मैदान में थी। चुनावी कैंपेनिंग में राज्य के नेताओं को प्रोजेक्ट नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि अमित शाह कौन होते हैं यह कहने वाले कि यदि कर्नाटक के लोगों ने पीएम मोदी को वोट नहीं दिया तो उन्हें आशीर्वाद प्राप्त नहीं होगा। क्या भगवान हैं नरेंद्र मोदी? हरिप्रसाद ने जेपी नड्डा पर भी आरोप लगाए।

बीके हरिप्रसाद ने कहा कि जेपी नड्डा कह रहे थे कि यदि राज्य में भाजपा की सरकार नहीं बनी तो लोगों को केंद्र सरकार की योजनाओं का फायदा नहीं मिलेगा। कॉन्ग्रेस नेता ने कहा कि केंद्रीय योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए हम टैक्स देते हैं। टैक्स देने के मामले में कर्नाटक तीसरे स्थान पर है, हम यूपी-बिहार नहीं हैं।

बता दें कि राज्य में 10 मई को संपन्न विधानसभा चुनावों में कॉन्ग्रेस को स्पष्ट बहुमत मिल चुका है। पार्टी 224 विधानसभा सीटों में से 130 से अधिक पर जीत हासिल करती नजर आ रही है। कॉन्ग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने इस जीत को जनता जनार्दन की जीत करार दी है। उन्होंने कहा है कि कॉन्ग्रेस के सभी विजयी विधायकों से आज शाम तक बेंगलुरु पहुँचने के लिए कहा गया है, ताकि सरकार की गठन की प्रक्रिया आगे बढ़ाई जा सके।

कॉन्ग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि विधायकों से सीएम के नाम पर राय माँगी जाएगी। इसके बाद विधायकों का फैसला कॉन्ग्रेस आला कमान तक पहुँचाया जाएगा। आला कमान सीएम पद पर अंतिम फैसला लेगी। बता दें कॉन्ग्रेस में सीएम पद को लेकर घमसान मचता नजर आ रहा है। कॉन्ग्रेस के दो बड़े नेता सीएम पद के दावेदार माने जा रहे हैं। पहले हैं कर्नाटक के मुख्यमंत्री रहे सिद्धारमैया और दूसरे हैं कर्नाटक कॉन्ग्रेस अध्यक्ष डीके शिव कुमार। कॉन्ग्रेस के दोनों धड़ों के लोग अब अपने-अपने नेता के समर्थन में खुलकर आ रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -