Monday, August 15, 2022
HomeराजनीतिMLA विजय चौरे ने PM मोदी को दी गाली, भाई के साथ किसानों को...

MLA विजय चौरे ने PM मोदी को दी गाली, भाई के साथ किसानों को धमकाया: BJP ने कहा- कॉन्ग्रेस का संस्कार दिखाया

"ये भाजपा के लोग क्या कर रहे हैं ह#मखोर? ये भाजपा के लोगों को बोलना चाहिए न। भाजपा की सरकार है न? ये मोदी की सरकार है। ये घर में छिपे हुए ह#मखोर।"

मध्य प्रदेश के कॉन्ग्रेस विधायक विजय चौरे का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को लेकर अपशब्द कहते दिख रहे हैं। चौरे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के क्षेत्र छिंदवाड़ा के सौसर से विधायक हैं।

उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं के लिए भी अभद्र भाषा का प्रयोग किया। कॉन्ग्रेस विधायक की इस हरकत के बाद सोशल मीडिया पर उनकी आलोचना हो रही है।

विजय चौरे ने इस वीडियो के वायरल होने के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं पर ही अभद्रता के आरोप लगाए हैं। चौरे ने कहा कि उन्होंने कोई ग़लत बात कही ही नहीं है। भाजपा जिलाध्यक्ष विजय साहू ने चौरे के इस बयान को कॉन्ग्रेस के आचरण और संस्कार से जोड़ते हुए कहा कि वो अपनी पार्टी की ही विचारधारा को परिभाषित कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि कॉन्ग्रेस विधायक ने अपनी पार्टी के संस्कार का परिचय दिया है। इससे पार्टी के बड़े नेताओं को अवगत करा दिया गया है। साहू ने कहा कि इस मामले पर जैसा भाजपा आलाकमान का निर्देश आएगा, कार्यकर्ता वैसा करने को तैयार हैं।

ये वायरल वीडियो 30 मई का है, जब कपास को लेकर हंगामा शुरू हुआ था। कपास की बिक्री के लिए वहाँ मंडी से गुजर रहे विधायक के भाई को किसानों ने रोक लिया था। अजय चौरे से किसानों ने कहा कि हफ्ते भर से ज्यादा बीत जाने के बाद भी उनकी फसलें बिक नहीं रही है, जिससे वे परेशान हैं।

किसानों की बात सुन कर अजय चौरे ने उन्हें झिड़क दिया। उन्होंने किसानों को फटकारते हुए उन पर तंज कसा कि तुम्हारी ही तो सरकार है, जो मर्जी है करो। उन्होंने किसानों से कहा कि सरकार से बोल कर वो अपनी समस्याएँ सुलझाएँ। कुछ ही देर बाद वहाँ विधायक विजय चौरे भी पहुँचे। पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों ने भी मौके पर अपनी मौजूदगी दर्ज कराई। वहीं पर सबके सामने विधायक ने अपशब्दों का प्रयोग किया।

विधायक चौरे ने गुस्से में कहा, “ये भाजपा के लोग क्या कर रहे हैं ह#मखोर? ये भाजपा के लोगों को बोलना चाहिए न। भाजपा की सरकार है न? ये मोदी की सरकार है। ये घर में छिपे हुए ह#मखोर।” सोशल मीडिया पर लोगों ने इसकी आलोचना की।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्वतंत्रता के हुए 75 साल, फिर भी बाँटी जा रही मुफ्त की रेवड़ी: स्वावलंबन और स्वदेशी से ही आएगी आर्थिक आत्मनिर्भरता

जब हम यह मानते हैं कि सत्य की ही जय होती है तब ईमानदार सत्यवादी देशभक्त नेताओं और उनके समर्थकों को ईडी आदि से भयभीत नहीं होना चाहिए।

जालौर में इंद्र मेघवाल की मौत: मृतक की जाति वाले टीचर ने नकारा भेदभाव, स्कूल में 8 में से 5 स्टाफ SC/ST

जालौर में इंद्र मेघवाल की मौत पर दावा कि आरोपित हेडमास्टर ने मटकी से पानी पीने पर मारा, जबकि अन्य लोगों का कहना है कि वहाँ कोई मटकी नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,900FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe