Saturday, January 28, 2023
Homeराजनीतिराज्यसभा चुनाव: अमित शाह गुजरात पहुँचे, विधायकों को लेकर 'अज्ञात स्थान' पर भागी कॉन्ग्रेस

राज्यसभा चुनाव: अमित शाह गुजरात पहुँचे, विधायकों को लेकर ‘अज्ञात स्थान’ पर भागी कॉन्ग्रेस

कॉन्ग्रेस नेता आश्विन कोतवाल ने कहा कि भाजपा उनके विधायकों को ख़रीदने की कोशिश कर रही है और हॉर्स ट्रेडिंग से बचने के लिए विधायकों को छिपाया गया है। विधायक अल्पेश ठाकोर भी बाग़ी हो चुके हैं।

आगामी राज्यसभा चुनावों को देखते हुए कॉन्ग्रेस ने अपने विधायकों को किसी ‘सुरक्षित जगह’ पर भेज दिया है। कॉन्ग्रेस ने गुजरात के सभी पार्टी विधायकों को राज्य के उत्तरी क्षेत्र में किसी ख़ास जगह पर रखा है। पार्टी ने अंदेशा जताया है कि विपक्षी पार्टी उसके विधायकों को ख़रीदने की कोशिश कर सकते हैं। विधायकों को पहले तो बस से अम्बाजी ले जाया गया, जिसके बाद सभी को पास ही किसी रिसोर्ट में ठहराने की बात सामने आई है। यह भी कहा जा रहा है कि उन्हें राजस्थान के माउंट अबू भेजा गया है। लोकसभा चुनाव के दौरान कई विधायकों द्वारा भाजपा का दामन थाम लेने के बाद पार्टी चिंतित है

कॉन्ग्रेस अपने विधायकों को गँवाना नहीं चाहती और इसीलिए सब पर कड़ी नज़र रखी जा रही है। पार्टी ने यह निर्णय उन मीडिया रिपोर्ट्स के आधार पर लिया है, जिसमें कहा जा रहा था कि कॉन्ग्रेस के कुछ विधायक भाजपा में जा सकते हैं। बता दें कि कॉन्ग्रेस में कई ऐसे विधायक हैं जो राज्य में पार्टी के नेतृत्व से ख़फ़ा चल रहे हैं और राज्यसभा चुनाव के दौरान उनके भाजपा उम्मीदवारों के पक्ष में क्रॉस-वोटिंग करने की संभावना है। कॉन्ग्रेस ने चन्द्रिका चुडास्मा और गौरव पंड्या को उम्मीदवार बनाया है।

ज्ञात हो कि केंद्रीय विदेश मंत्री इस जयशंकर को गुजरात से ही राज्यसभा उम्मीदवार बनाया गया है। एक राज्यसभा सीट के लिए एस जयशंकर को उम्मीदवार बनाया गया है, वहीं दूसरे के लिए जुगलजी माथुरजी ठाकोर भाजपा उम्मीदवार होंगे। जेएम ठाकोर उत्तर गुजरात के नेता हैं और उन्हें सामाजिक उत्थान हेतु सक्रियता से किए गए कार्यों को लेकर जाना जाता है। चूँकि गुजरात से राज्यसभा सांसद रहे अमित शाह गाँधीनगर से जीत कर लोकसभा सांसद बन चुके हैं और उसी तरह स्मृति ईरानी अमेठी से कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी को हरा कर लोकसभा पहुँच चुकी हैं, गुजरात में इन दोनों की जगह भरी जानी है।

कॉन्ग्रेस नेता आश्विन कोतवाल ने कहा कि भाजपा उनके विधायकों को ख़रीदने की कोशिश कर रही है और हॉर्स ट्रेडिंग से बचने के लिए विधायकों को छिपाया गया है। विधायक अल्पेश ठाकोर भी बाग़ी हो चुके हैं। कॉन्ग्रेस ने अपने विधायकों से कहा है कि वे चुनाव खत्म होने तक सीएम विजय रुपानी, उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल या किसी अन्य मंत्री से न मिलें, भले ही जनता का ही कोई काम क्यों न हो। अगस्त 2017 में हुए राज्यसभा चुनाव के दौरान भी कॉन्ग्रेस ने अपने विधायकों को बंगलोर के एक रिसोर्ट में ठहराया था।

उधर कल बुधवार (जुलाई 3, 2019) को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी गुजरात में कई नेताओं से मुलाकात की। गुजरात पहुँचे भाजपा अध्यक्ष ने आयकर फ्लाईओवर का उद्घाटन किया। इसके बाद उन्होंने गुजरात विश्वविद्यालय के एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया। सरकार में पद संभालने के बाद यह उनकी पहली गुजरात यात्रा है। गाँधीनगर लोकसभा क्षेत्र के कार्यकर्ताओं ने भाजपा की बड़ी जीत के लिए अमित शाह का सम्मान भी किया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हमारा सनातन धर्म भारत का राष्ट्रीय धर्म: बोले CM योगी, ऐतिहासिक नीलकंठ महादेव मंदिर में की पूजा

सीएम योगी ने देश की सुरक्षा और विरासत की रक्षा के लिए लोगों से व्यक्तिगत स्वार्थ से ऊपर उठकर राष्ट्रीय धर्म के साथ जुड़ने का आह्वान किया।

शेयर गिराओ, उससे अरबों कमाओ: अडानी पर आरोप लगाने वाला Hindenburg रिसर्च का काला चिट्ठा, अमेरिका में चल रही जाँच

Hindenburg रिसर्च: संस्थापक रह चुका है ड्राइवर। जानिए उस कंपनी के बारे में जिसने अडानी समूह के 2 लाख करोड़ रुपए डूबा दिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
242,731FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe