Sunday, June 26, 2022
Homeराजनीति'भाजपा लाइट' बनने का प्रयास अगर कॉन्ग्रेस ने किया तो 'कॉन्ग्रेस जीरो' बन कर...

‘भाजपा लाइट’ बनने का प्रयास अगर कॉन्ग्रेस ने किया तो ‘कॉन्ग्रेस जीरो’ बन कर रह जाएगी: शशि थरूर

"राहुल गाँधी पहले ही सफाई दे चुके हैं कि मंदिर जाना उनका निजी हिंदुत्व है। वह हिंदुत्व के किसी भी चेहरे का किसी भी लिहाज़ से समर्थन नहीं करते हैं, चाहे वह कट्टर हिंदुत्व हो या नरम हिंदुत्व।”

कॉन्ग्रेस नेता शशि थरूर ने पार्टी को बड़ी चेतावनी दी है। उन्होंने कहा है कि कॉन्ग्रेस पार्टी भाजपा लाइट (भाजपा का नरम संस्करण) बनने का ख़तरा मोल नहीं ले सकती। ऐसा करने पर कॉन्ग्रेस पार्टी का अस्तित्व ख़त्म हो जाएगा।

शशि थरूर के अनुसार कॉन्ग्रेस में धर्म निरपेक्षता का सिद्धांत हमेशा से जीवंत है और सभी इसका अनुसरण करते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि उनका संगठन भाजपा के संदेश का कमज़ोर स्वरूप नहीं पेश करता है। तिरुअनंतपुरम सांसद ने कहा:

“मैं पिछले काफी समय से यह बात कहता रहा हूँ कि पेप्सी लाइट का अनुसरण करते हुए ‘भाजपा लाइट’ बनाने के किसी भी प्रयास का नतीजा ‘कोक ज़ीरो’ की तरह कॉन्ग्रेस ज़ीरो ही होगा। कॉन्ग्रेस किसी भी दृष्टिकोण से भारतीय जनता पार्टी की तरह नहीं है, न तो हम असल मायनों में ऐसे हैं और न ही हमें उनका कमज़ोर वर्जन बनने का प्रयास करना चाहिए। मेरे अनुसार हम ऐसा कर भी नहीं रहे हैं।”

इसके बाद उन्होंने कहा, “हमारे देश में धर्म निरपेक्षता बतौर सिद्धांत और परंपरा ख़तरे में है। सत्ताधारी दल इस शब्द को संविधान से हटाने का प्रयास कर सकता है। नफ़रत फैलाने वाली ताकतें इस देश के धर्म निरपेक्ष स्वभाव को नहीं बदल सकती हैं।”

शशि थरूर ने अपनी नई किताब ‘द बैटल ऑफ़ बिलॉन्गिंग’ पर बात करते हुए पीटीआई/भाषा को साक्षात्कार दिया। साक्षात्कार में उन्होंने कहा, “संविधान अपने मूल स्वरूप की वजह से हमेशा धर्म निरपेक्ष बना रहेगा, भले वर्तमान सरकार इस शब्द को हटा ही क्यों न दे। अंततः यह सिर्फ और सिर्फ एक शब्द है।” 

पिछले कुछ समय में कॉन्ग्रेस पर नरम हिंदुत्व का सहारा लेने का आरोप लगता रहा है। इस आरोप का जवाब देते हुए शशि थरूर ने कहा कि यह विषय देश की एक बड़ी उदारवादी आबादी के लिए चिंता का वास्तविक और ठोस विषय है। उन्होंने इस बिंदु पर ज़ोर देते हुए कहा:

“कॉन्ग्रेस पार्टी में हम सभी के बीच एक बात को लेकर राय बिलकुल स्पष्ट है कि हम भाजपा का दूसरा स्वरूप नहीं बन सकते हैं। कॉन्ग्रेस हिंदुत्व और हिंदूवाद के बीच अंतर समझती है। हम हिंदूवाद का सम्मान करते हैं, यह आलोचनात्मक नहीं बल्कि समावेशी है। वहीं दूसरी तरह हिंदुत्व एक विशुद्ध राजनीतिक सिद्धांत है, जो लोगों को बाँटने की बात करता है।” 

इसके बाद शशि थरूर ने कहा, “यह मूल कारण है कि हम भाजपा के राजनीतिक संदेश का दुर्बल स्वरूप पेश नहीं कर रहे हैं। इस पहलू पर राहुल गाँधी पहले ही सफाई दे चुके हैं कि मंदिर जाना उनका निजी हिंदुत्व है। वह हिंदुत्व के किसी भी चेहरे का किसी भी लिहाज़ से समर्थन नहीं करते हैं, चाहे वह कट्टर हिंदुत्व हो या नरम हिंदुत्व।”

इसके बाद उनके सामने एक और प्रश्न उठाया गया कि क्या ‘धर्म निरपेक्ष’ शब्द ख़तरे में है? इसके जवाब में उन्होंने कहा कि यह सिर्फ एक शब्द है, अगर सरकार इसे संविधान से ख़त्म करने का प्रयास करती है, फिर भी संविधान धर्म निरपेक्ष बना रहेगा। 

उनका कहना था कि हमारे देश में धर्म के स्थान पर अनेक प्रकार की गतिविधियाँ हैं। धर्म का पालन करने की स्वतंत्रता, पूजा-पाठ करने की स्वतंत्रता, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता, सभी नागरिकों के लिए समानता, अल्पसंख्यकों के लिए अधिकार। इस तरह के तमाम अधिकार भारतीय संविधान के बुनियादी ढाँचे का हिस्सा हैं, सिर्फ एक शब्द हटा देने से यह गायब नहीं होने वाले हैं।

अंत में उन्होंने कहा, “देश का सत्ताधारी दल इस तरह के प्रयास कर सकता है कि देश में धर्म निरपेक्षता को समाप्त कर दिया जाए। सांप्रदायिकता को कायम करने के प्रयास लगातार हो रहे हैं। इसका एक मतलब यह भी है कि देश में अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों का तिरस्कार किया जाता है।”             

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘भारत जल्द बनेगा $30 ट्रिलियन की इकोनॉमी’ : देश का मजाक उड़वाने के लिए NDTV ने पीयूष गोयल के बयान से की छेड़छाड़, पोल...

एनडीटीवी ने झूठ बोलकर पाठकों को भ्रमित करने का काम अभी बंद नहीं किया है। हाल में इस चैनल ने भाजपा नेता पीयूष गोयल के बयान को तोड़-मरोड़ के पेश किया।

’47 साल पहले हुआ था लोकतंत्र को कुचलने का प्रयास’: जर्मनी में PM मोदी ने याद दिलाया आपातकाल, कहा – ये इतिहास पर काला...

"आज भारत हर महीनें औसतन 500 से अधिक आधुनिक रेलवे कोच बना रहा है। आज भारत हर महीने औसतन 18 लाख घरों को पाइप वॉटर सप्लाई से जोड़ रहा है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,523FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe