Sunday, October 17, 2021
HomeराजनीतिPM मोदी की तस्वीर से एलर्जी, कॉन्ग्रेसी CM की तस्वीर OK है: छत्तीसगढ़ में...

PM मोदी की तस्वीर से एलर्जी, कॉन्ग्रेसी CM की तस्वीर OK है: छत्तीसगढ़ में वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट

कॉन्ग्रेस और अन्य विपक्षी पार्टियाँ कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेट पर पीएम मोदी की तस्वीर पर बवाल कर रहे थे और अब खुद अपने मुख्यमंत्री की तस्वीर लगा रहे हैं।

कोविड टीकाकरण सर्टिफिकेट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर पर उठ रहे सवालों के बीच झारखंड के बाद अब कॉन्ग्रेस शासित छत्तीसगढ़ ने राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की तस्वीर के साथ 18-44 आयु वर्ग के टीकाकरण के लिए अपना प्रमाणपत्र जारी करना शुरू कर दिया है।

राज्य सरकार ने टीकाकरण के लिए 18-44 वर्ष के बच्चों को पंजीकृत करने के लिए अपना स्वयं का पोर्टल CGTEEKA शुरू किया था। बता दें कि केंद्र द्वारा टीकाकरण के लिए शुरू किए गए पोर्टल CoWin के बजाय राज्य में  CGTEEKA के माध्यम से टीकाकरण प्रमाण पत्र जारी किए जा रहे हैं।

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि इस पर कोई मुद्दा होना चाहिए। जब भारत सरकार पैसा और वैक्सीन मुहैया करा रही थी तो उन्होंने प्रधानमंत्री की तस्वीर रखी। अगर राज्य सरकार कुछ कर रही है तो हम उसकी जगह मुख्यमंत्री की तस्वीर का इस्तेमाल करेंगे। जब केंद्र ने वित्तीय बोझ उठाने की जिम्मेदारी राज्यों पर छोड़ दी है और राज्य सरकारें अपने स्वयं के टीके खरीद रही हैं, तो वे अपने स्वयं के टीकाकरण प्रमाण पत्र क्यों नहीं जारी करें? टीकाकरण प्रमाण पत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर क्यों होनी चाहिए?”

प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर पर मुख्यमंत्री बघेल की तस्वीर का उपयोग करने के कॉन्ग्रेस सरकार के दृष्टिकोण का विरोध करते हुए, छत्तीसगढ़ के भाजपा नेता प्रतिपक्ष धर्मलाल कौशिक ने कहा, “केंद्र की योजनाओं पर अनुचित क्रेडिट लेना छत्तीसगढ़ सरकार का एक स्टैंडर्ड प्रैक्टिस है। हालाँकि यह केंद्र का निर्णय है कि राज्यों को टीका खरीदना चाहिए, लेकिन जब 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लिए टीकाकरण अभियान केंद्र का निर्णय है, तो राज्यों को प्रधानमंत्री की तस्वीर का उपयोग करने पर विचार करना चाहिए।”

गौरतलब है कि यही कॉन्ग्रेस और अन्य विपक्षी पार्टियाँ कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेट पर पीएम मोदी की तस्वीर पर बवाल कर रहे थे और अब खुद अपने मुख्यमंत्री की तस्वीर लगा रहे हैं। बता दें कि पिछले दिनों टीएमसी और डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन ऑफ इंडिया (DYFI) ने भी सर्टिफिकेट पर से पीएम मोदी की तस्वीर हटाने की माँग की थी।

कॉन्ग्रेस नेता जयराम रमेश ने ट्वीट करते हुए लिखा था कि ब्रिटेन में पढ़ाई कर रहे उनके छोटे बेटे ने वैक्सीन की पहली डोज ली। जो सर्टिफिकेट मिला, उसमें कहीं कोई बोरिस जॉनसन की तस्वीर उस पर नहीं था, जैसा हमारे देश में हो रहा है। जयराम रमेश ने इसके जरिए पीएम मोदी पर निशाना साधा।

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने इस पर पलटवार करते हुए ट्वीट करके लिखा कि देश के लगभग सभी हॉस्पिटल छोटे या बड़े सबके नाम की शुरुआत नेहरू, इंदिरा और राजीव गाँधी के नाम से ही है। जितेंद्र सिंह ने कहा कि भारत के अधिकांश कस्बों और शहरों में, न केवल टीकाकरण केंद्र बल्कि हर बीमारी का इलाज, बड़े या छोटे, नेहरू, इंदिरा या राजीव गाँधी के नाम पर वाले अस्पतालों में हो रहा है।

खेल मंत्री किरण रिजिजू ने जयराम रमेश पर तंज कसते हुए लिखा, “जयराम जी, भारत में हमारा एक ही वंश काफी है। पूर्वोत्तर के राज्यों को भी नहीं बख्शा! आप कॉलेजों से लेकर विश्वविद्यालयों तक, इमारतों से लेकर संग्रहालयों तक, पार्कों से लेकर खेल के मैदानों तक केवल एक परिवार के नाम देख सकते हैं।”

वहीं जयराम रमेश के इस ट्वीट पर अन्य लोगों ने भी तरह-तरह के कमेंट किया और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी का जिक्र किया। एक ट्विटर यूजर ने लिखा, “वेम्बली स्टेडियम लंदन, जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम दिल्ली, हीथ्रो एयरपोर्ट लंदन, इंदिरा गाँधी एयरपोर्ट दिल्ली, गेटविक एयरपोर्ट लंदन, राजीव गाँधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट हैदराबाद।”

लेखिका शेफाली वैद्य ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, “मेरी बेटी जो 12 साल की है वो मुझसे पूछती है कि क्यों हमारे देश के अधिकांश एयरपोर्ट और सड़कों का नाम इंदिरा गाँधी और राजीव गाँधी के नाम पर है। जयराम जी इसका जवाब शायद आप दे पाएँ।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

डीजल डाल कर जला दिया दलित लखबीर का शव, चेहरा तक नहीं देखने दिया परिजनों को: ग्रामीणों ने किया बहिष्कार

डीजल डाल कर मोबाइल की रोशनी में दलित लखबीर सिंह के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। शव से पॉलीथिन नहीं हटाया गया। परिजन चेहरा तक न देख पाए।

पश्चिम बंगाल में दुर्गा विसर्जन से लौट रहे श्रद्धालुओं पर बम से हमला, कई घायल, पुलिस ने कहा – ‘हमलावरों की अभी तक पहचान...

हमलावर मौके से फरार हो गए। सूचना पाकर पहुँची पुलिस ने लोगों की भीड़ को हटाकर मामला शांत किया और घायलों को अस्पताल भेजा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,199FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe